सुपौल।लॉकडॉउन में धात्री महिला के लिए फरिश्ता बने SDO. - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, May 17, 2020

सुपौल।लॉकडॉउन में धात्री महिला के लिए फरिश्ता बने SDO.

@राजेश कुमार छोटू


सुपौल के त्रिवेणीगंज में अस्पताल से एम्बुलेन्स नहीं मिलने के कारण गुरुवार को त्रिवेणीगंज प्रखंड कार्यालय के समीप अस्पताल से लौट कर आ रही गर्भवती महिला सड़क किनारे प्रसव पीड़ा से तड़प रही थी.करीब घंटों तक दर्द से कड़ाह रही पीड़िता को किसी प्रकार की सहायता नहीं मिली. इस बात की जानकारी जैसे ही त्रिवेणीगंज एसडीओ को मिली तो एसडीओ विनय कुमार सिंह ने अपनी सरकारी गाड़ी से प्रसव पीड़िता को त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय अस्पताल पहुँचाया था. पीड़िता के अस्पताल पहुँचने के तकरीबन एक घंटे बाद पीड़िता ने एक बच्ची को जन्म दिया. जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ होने के कारण अस्पताल प्रशासन उसे घर भेज दिया. लेकिन आज त्रिवेणीगंज एसडीओ विनय कुमार सिंह पीड़िता के घर थाना क्षेत्र के मिरजावा वार्ड नम्बर 12 पहुँच 21 सौ रुपये नकद ,खाद्यान्न और वस्त्र देकर उसकी आर्थिक मदद की.बता दें कि पीड़िता महादलित परिवार से आती है.पीड़िता के पति प्रवासी मजदूर हैं जो इस लॉकडॉउन के समय पंजाब में फंसे हुए हैं पीड़िता की माली हालत भी अच्छी नहीं है पीड़िता इस वक़्त अपने मायके में है ऐसे में पीड़िता के लिए फरिश्ता बने त्रिवेणीगंज एसडीओ पीड़िता के घर पहुँच उनकी मदद की. आपको बता दें कि पीड़िता को प्रसव पीड़ा होने के बाद परिजनों ने उसे बुधवार को त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया था.एक दिन पहले प्रसव के लिए भर्ती महिला को अस्पताल कर्मी दो तीन दिन बाद आने कह बिना एम्बुलेन्स के अस्पताल से पैदल हीं घर भेज दिया. इधर परिजनों के साथ गुरुवार को पैदल घर निकली पीड़िता करीब अस्पताल से दो किलोमीटर दूर NH327E के किनारे त्रिवेणीगंज प्रखंड कार्यालय के समीप प्रसव पीड़ा से छटपटा रही थी जिसके बाद त्रिवेणीगंज एसडीओ विनय कुमार सिंह ने अपनी निजि गाड़ी से पीड़िता को अनुमंडलीय अस्पताल त्रिवेणीगंज में भर्ती कराया था.

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews