सुपौल।सड़क किनारे दर्द से कड़ाह रही पीड़िता को घंटों नहीं मिला एम्बुलेन्स,SDO ने अपने वाहन से पहुँचाया अस्पताल. Supaul news - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Saturday, May 16, 2020

सुपौल।सड़क किनारे दर्द से कड़ाह रही पीड़िता को घंटों नहीं मिला एम्बुलेन्स,SDO ने अपने वाहन से पहुँचाया अस्पताल. Supaul news

@कोशी लाइव:
@राजेश कुमार छोटू
सड़क किनारे दर्द से कड़ाह रही पीड़िता को घंटों नहीं मिला एम्बुलेन्स,SDO ने अपने वाहन से पहुँचाया अस्पताल.
 


लॉकडाउन के समय स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खुल गई.प्रसव पीड़िता को घर जाने के लिए नहीं मिला एम्बुलेन्स.जिले के त्रिवेणीगंज प्रखंड क्षेत्र का मामला.प्रखंड क्षेत्र के पिलवाहा पंचायत के वार्ड नम्बर 4 निवासी सचेन सादा की 26 वर्षीय पत्नी विनीता देवी को प्रसव पीड़ा होने के बाद परिजनों द्वारा अनुमंडलीय अस्पताल त्रिवेणीगंज में बुधवार को भर्ती कराया गया था.जिसे आज अस्पताल कर्मियों ने यह कह कर अस्पताल से पैदल हीं घर जाने को कह दिया गया कि इसे प्रसव होने में दो तीन दिनों का समय लगेगा.परिजन प्रसव पीड़िता को पैदल हीं घर जाने दे दिया.इस बीच परिजनों द्वारा अस्पताल प्रशासन से घर जाने के लिए एम्बुलेन्स की मांग की गई लेकिन अस्पताल प्रशासन द्वारा प्रसव पीड़िता को एम्बुलेन्स नहीं दिया गया.परिजन अनुमंडलीय अस्पताल त्रिवेणीगंज से प्रसव पीड़िता को लेकर पैदल हीं घर की ओर निकल पड़े.करीब दो किलोमीटर पैदल चलने के बाद प्रसव पीड़िता को प्रसव पीड़ा होने लगा.दर्द से कड़ाह रही प्रसव पीड़िता जैसे तैसे त्रिवेणीगंज प्रखंड कार्यालय के समीप NH327ई. के किनारे करीब घंटों पड़ी रही लेकिन इसे किसी भी प्रकार की सहायता नहीं मिली. प्रसव पीड़िता को दर्द इतना हो रहा था कि पीड़िता दर्द से सड़क किनारे बिलख रही थी,रो रही थी.पीड़िता के दर्द को देख साथ मौजूद महिला परिजनों की आँखें भी आंसुओं से डबडबा रही थी. इसी बीच किसी ने अनुमंडल पदाधिकारी त्रिवेणीगंज को इसकी सूचना दी.जिसके बाद त्रिवेणीगंज अनुमंडल पदाधिकारी अपनी गाड़ी से पीड़िता को त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय अस्पताल पहुँचाया.वहीं इस मामले में जब त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय अस्पताल के प्रभारी उपाधीक्षक डॉ.आरपी सिन्हा से से बात की गई तो उनके जबाब को सुन सभी भौचक रह गए. उन्होंने यह कहते हुए मामले से पल्ला झाड़ लिया कि पीड़िता को उसके परिजन अपने मन से लेकर यहाँ से चले गए.

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews