लॉकडाउन: बिहार DGP का नया लुक, गाय का दूध दुहते हुए नजर आए गुप्तेश्वर पांडेय,bihar dgp news - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, May 10, 2020

लॉकडाउन: बिहार DGP का नया लुक, गाय का दूध दुहते हुए नजर आए गुप्तेश्वर पांडेय,bihar dgp news

हाइलाइट्स:

  • लॉकडाउन में घर पर गाय को दुहते नजर आए बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय।
  • गाय को दुहते समय सिर पर गमछा बांधे हुए थे डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय।
  • बिहार डीजीपी की इस तस्वीर की लोगों के बीच हो रही खूब चर्चा।
पटना
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन का तीसरा चरण शुरू हो गया है। जिससे सभी अपने घरों में बंद है, ऐसे में लोग खुद को व्यस्त रखने के लिए लगातार नए तरीके खोज रहे हैं। अपनी कार्यशैली और अनोखे अंदाज के लिए लोगों के बीच पहचान रखने वाले बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का एक बार फिर अनोखा अंदाज देखने को मिला है। इस बार डीजीपी साहब अपने घर पर गाय से दूध निकालते हुए दिखाई दिए हैं।
सिर पर गमछा बांध गाय को दुहते नजर आए डीजीपी
दरअसल बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने एक तस्वीर अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट की है। इस तस्वीर में डीजीपी ने लिखा है- 'कोरोना: गो सेवा के बाद गो-दोहन'। फेसबुक पेज पर शेयर की गई तस्वीर में डीजीपी पेंट, टी-शर्ट पहने हुए हैं और सिर पर गमछा बांधे हुए हैं। इस तस्वीर में डीजीपी गाय को दूध दुहते हुए दिखाई दे रहे हैं।


फेसबुक पर वायरस हुई तस्वीर
फेसबुक पर पोस्ट की गई बिहार डीजीपी की ये तस्वीर देखते ही देखते वायरल हो गई है। अबतक इस तस्वीर पर 5 हजार से ज्यादा कमेंट और करीब 14 सौ से ज्यादा शेयर मिल चुके हैं। जबकि 47 हजार के ज्यादा लोगों ने तस्वीर को लाइक किया है। डीजीपी की इस फोटो पर लोग कई तरह के कमेंट कर रहे हैं। कोई उन्हें जमीन से जुड़ा हुआ अधिकारी बता रहा है तो कोई उनके ऊपर गर्व कर रहा है।

कुछ दिन पहले भोजपुरी भाषा में शेयर किया था वीडियो
बता दें, इससे पहले डीजीपी ने भोजपुरी भाषा में भी वीडियो शेयर किया था। जिसमें उन्होंने ठेठ भोजपुरी अंदाज में कोरोना के बारे में लोगों को सचेत करने की कोशिश की थी। भोजपुरी में ही डीजीपी साहब ने एक-दूसरे की बीच दूरी रखने और मास्क का प्रयोग करने की अपील भी की थी। डीजीपी ने कहा था- "बाहर से आनेवाले सभी लोगों के लिए स्क्रीनिंग की व्यवस्था है। इसके बाद उन्हें उनके इलाके में पहुंचाया जाएगा। वहां उन्हें क्वारंटीन के नियमों का पालन करना है। इस काम में सहयोग करें क्योंकि आनेवाला कुछ दिन बहुत खतरनाक है। हमें मिलकर इसका मुकाबला करना है।"

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews