राष्ट्रीय।प्रधानमंत्री ने की 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा, बोले- अलग होगा लॉकडाउन का चौथा चरण; बड़ी बातें PM modi speech - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Wednesday, May 13, 2020

राष्ट्रीय।प्रधानमंत्री ने की 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा, बोले- अलग होगा लॉकडाउन का चौथा चरण; बड़ी बातें PM modi speech


PM Speech Full Detail: कोरोना वायरस महामारी से पस्त पड़ी अर्थव्यवस्था में नई जान डालने के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को 20 लाख करोड़ रुपये के भारी भरमक प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की. इसका ब्योरा अगले कुछ दिनों में जारी किया जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस ने भारत को आत्मनिर्भर बनने और दुनिया में आगे बढ़ने अवसर उपलब्ध कराया है.

अलग होगा लॉकडाउन का चौथा चरण

राष्ट्र के नाम टेलीविजन पर संबोधन में मोदी ने यह भी कहा कि 18 मई से लॉकडाउन का चौथा चरण भी लागू किया जाएगा पर यह पहले के तीन चरणों से काफी अलग होगा. लॉकडाउन का तीसरा चरण 17 मई को समाप्त होने जा रहा है. तीसरे चरण में भी कारोबारी गतिविधियों के मामले में कई तरह की रियायतें दी गई. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के चौथे चरण के बारे में जानकारी 18 मई से पहले दे दी जायेगी.

किसके लिए होगा आर्थिक पैकेज?

वित्तीय पैकेज के बारे में उन्होंने कहा, ''सरकार के हाल के निर्णय, रिजर्व बैंक की घोषणाओं को मिलाकर यह पैकेज करीब 20 लाख करोड़ रुपये का होगा जो देश के सकल घरेलू उत्पाद का लगभग 10 प्रतिशत है. यह पैकेज भारत को आत्मनिर्भर बनाने के अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा. इससे पहले केन्द्र सरकार ने गरीबों, बुजुर्गों और किसानों के लिये 1.74 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की है. प्रधानमंत्री ने कहा कि ''यह आर्थिक पैकेज हमारे श्रमिकों, किसानों, ईमानदार करदाताओं सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों और कुटीर उद्योगों के लिये होगा. पैकेज में भूमि, श्रम, नकदी और कानून सभी क्षेत्रों पर ध्यान दिया गया है. यह पैकेज भारतीय उद्योग जगत के लिये है, उसे बुलंदी पर पहुंचाने के के लिये है. ''

आर्थिक पैकेज पर क्या बोलीं वित्त मंत्री?

प्रधानमंत्री ने बड़े आर्थिक सुधारों का संकेत देते हुये कहा कि आर्थिक पैकेज के बारे में विस्तृत ब्योरा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बुधवार से अगले कुछ दिनों तक देंगी. प्रधानमंत्री ने देश को आगे बढ़ने के लिये 'साहिसक' सुधारों का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, ''ये सुधार खेती से जुड़ी पूरी आपूर्ति श्रृंखला, कर प्रणाली को युक्तिसंगत बनाने, नियम-कानून को सरल और स्पष्ट बनाने, बुनियादी ढांचा को गति देने ओर व्यापार तथा निवेश को प्रोत्साहित करने वाले होंगे….'' उन्होंने कहा कि देश का लक्ष्य आत्म निर्भर बनना है और उन्होंने इसके लिये अर्थव्यवस्था और बुनियादी ढांचा को महत्वूपर्ण बताया. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की आत्मनिर्भरता पांच स्तंभों पर आधारित होगी. इसमें उन्होंने -अर्थव्यवस्था की ऊंची छलांग, बेहतर बुनियादी ढांचा, 21वीं सदी का प्रौद्योगिकी आधारित नया शासन तंत्र, गतिशील जनसांख्यकीय और अर्थव्यवस्था की मजबूत मांग एवं आपूर्ति श्रृंखला का जिक्र किया. स्थानीय उत्पादों के विनिर्माण को बढ़ावा देने पर जोर देते हुए उन्होंने लोगों से 'लोकल पर वोकल बनने' यानी स्थानीय उत्पादों को महत्व देने और उनकी मांग बढ़ाने के साथ ही उनका प्रचार करने पर भी जोर दिया.

20 लाख करोड़ रूपये के राहत पैकेज से गरीबों, किसानों और मध्यम वर्ग को मदद मिलेगी : अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि मोदी सरकार देश के हित में निर्णय लेती है और अभी तुरंत घोषित 20 लाख करोड़ रूपये के राहत पैकेज से गरीबों, किसानों और मध्यम वर्ग को मदद मिलेगी. उन्होंने आत्मनिर्भर भारत हैशटैग से कई ट्वीट किये. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ''आज नरेंद्र मोदी जी ने एक विशेष अपील भी की, इस विषम परिस्थिति में जहाँ सब कुछ बंद था, तब हमारे लोकल हमारे कठिन समय के साथी बने और हमें सहयोग किया. इसलिए अब समय आ गया है कि हम अधिक से अधिक लोकल प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल का संकल्प लें और अपने लोकल को वैश्विक बनायें.''

गृह मंत्री ने ट्वीट किया, ''मोदी सरकार के हर निर्णय में देश और देशवासियों का हित केंद्र में रहा है. मोदी सरकार द्वारा घोषित किया गया लगभग ₹20 लाख करोड़ का विशेष पैकेज इसी का परिचायक है. उसमें देश के गरीब, किसान, मध्यम वर्ग व व्यापारी वर्ग के हित समाहित हैं. इससे हर वर्ग सशक्त होगा और देश आत्मनिर्भर बनेगा.'' शाह ने लिखा, '' मोदी जी के नेतृत्व में भारत जिस तरह कोरोना से लड़ा है, उसने पूरे विश्व को एक नयी दिशा दी है. नये भारत ने इस चुनौतीपूर्ण समय में न सिर्फ अपने आपको मजबूती से संभाला बल्कि पूरी दुनिया को मदद भी पहुंचाई, जिससे आज विश्व का भारत को देखने का नजरिया ही बदल गया है.'' उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, '' प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज आह्वान किया कि,21वीं सदी भारत की सदी हो…इसको अब सत्यता में बदलने का समय आ गया है. और यह सिर्फ 130 करोड़ भारतीयों के 'आत्मनिर्भर भारत' के संकल्प से ही सम्भव है. हमें संकल्प लेना होगा कि अब आत्मनिर्भर भारत ही विश्व का नेतृत्व करेगा.'' शाह ने ट्वीट किया, '' मोदी जी के दूरदर्शी नेतृत्व में अब हर भारतवासी को यह संकल्प लेना होगा कि वो बिना रुके-बिना थके भारत को आत्मनिर्भर बनाने में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान देगा. भारत की आत्मनिर्भरता में पूरे विश्व का कल्याण निहित है.''

योगी ने 20 लाख करोड़ रु के आर्थिक पैकेज पर जताया आभार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का स्वागत किया है. मुख्यमंत्री ने कहा, “हम सब प्रधानमंत्री मोदी के आभारी हैं कि उन्होंने कोरोना वायरस संकट से उबरने के लिए देश के गरीब, किसान, मजदूर, एमएसएमई, प्रवासी श्रमिकों, ठेला, खोमचा, रेहड़ी पटरी वालों, व्यवसायी और रोज कमाने-खाने वाले लोगों के लिए बहुत बड़े आर्थिक पैकेज की घोषणा की.” योगी ने 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज के लिए प्रधानमंत्री मोदी का अभिनंदन करते हुए कहा कि उन्हें विश्वास है कि इस बड़े आर्थिक पैकेज के माध्यम से न केवल उत्तर प्रदेश की एमएसएमई सेक्टर, बल्कि एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) को नई ऊंचाइयां मिलेंगी.

प्रधानमंत्री ने 'हेडलाइन' दी, कोई 'हेल्पलाइन' नहीं दी: कांग्रेस

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से मंगलवार को की गई 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा के बाद कहा कि मोदी ने मीडिया को सिर्फ 'हेडलाइन' दी, लेकिन प्रवासी श्रमिकों के लिए कोई 'हेल्पलाइन' नहीं दी और उनमें संवेदनशीलता की कमी देखकर देश निराश हुआ है. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री की घोषणा कोरे पन्ने की तरह है और जब ब्यौरा सामने आएगा तो देश और कांग्रेस प्रतिक्रिया देंगे.

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews