कोरोना का खौफ : दो दिलों के एक होने से भी रोक रहा कोरोना, टलने लगी शादियां - कोशी लाइव

Breaking

Home Top Ad

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

कार किंग [मधेपुरा]

कार किंग [मधेपुरा]
पंचमुखी चौक,मधेपुरा

Translate

Wednesday, March 25, 2020

कोरोना का खौफ : दो दिलों के एक होने से भी रोक रहा कोरोना, टलने लगी शादियां

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर

कोरोना वायरस सिर्फ आम लोगों को ही एक दूसरे के पास आने से नहीं रोक रहा, बल्कि दो दिलों के मिलन व एक होने से भी रोक रहा है। शादियां टालनी पड़ रही हैं। संक्रमण से भयाक्रांत होकर भोजपुर के पीरो नगर पंचायत क्षेत्र के वार्ड 12 निवासी हसन राईन ने अपने बेटे और बेटी की शादी फिलहाल स्थगित कर टाल दी है। हालांकि शादी की अगली तिथि अभी मुकर्रर नहीं हुई है। संक्रमण काल के बीत जाने के बाद ही दोनों शादियों की अगली तिथि मुकर्रर की जायेगी। बेटे की शादी गोरौल (वैशाली) में तय हुई थी, जो आगामी 27 मार्च को आरा के एक होटल से होने वाली थी। वहीं बेटी की शादी बीरमपुर (कोईलवर, भोजपुर) में तय हुई थी। आगामी 30 मार्च को पीरो में बारात आने वाली थी। दोनों शादियों की तैयारी पूरी कर लेने के बाद ऐन मौके पर स्थगित होने को ले हसन राईन काफी पसोपेश में हैं।
डीएम व एसडीओ ने नहीं दी शादी की इजाजत
हसन राईन की ओर से अपने बेटे आफताब उर्फ मुन्ना की शादी गोरौल (वैशाली) निवासी इलताफ की पुत्री नजमा से 27 मार्च को होने वाली थी। हालांकि यह शादी गोरौल से न होकर आरा से होने वाली थी। वधू पक्ष के लोग आरा आ भी गये थे। वधू पक्ष के लोग इसी तिथि पर शादी की बात को ले अड़े थे। वधू पक्ष के लोगों ने वर के पिता से कहा कि वे लोग डीएम से स्वीकृति ले लेंगे और इसी तिथि पर शादी होगी। 24 मार्च को वधू पक्ष के लोगों के डीएम से मिलने पर उनके द्वारा शादी की स्वीकृति नहीं देते हुए स्थगित किये जाने की अपील की गई। इधर, वर के पिता की ओर से एसडीओ से संपर्क किये जाने पर उन्होंने भी शादी की स्वीकृति नहीं देते हुए शादी स्थगित किये जाने की अपील की। इस परिस्थिति में दोनों पक्षों ने अधिकारियों की अपील और राष्ट्रहित की भावना का आदर करते हुए दोनों शादियों को फिलहाल स्थगित कर दिया है।
बेटा-बेटी की शादी को ले छह माह पूर्व आये थे कुवैत से
बेटा-बेटी की शादी की तैयारी को ले करीब छह माह पूर्व कुवैत से लौटे हसन बेटा-बेटी की शादी स्थगित हो जाने के बाद काफी पसोपेश में  हैं। पीरो नगर पंचायत के वार्ड 12 निवासी हसन कुवैत में रहकर काम करते थे। बेटा आफताब उर्फ मुन्ना और बेटी तबस्सुम की शादी को ले अब तक उन्होंने चार लाख से अधिक की राशि खर्च कर दी है। नाश्ता (मिठाई), टेंट, डेकोरेशन, गाड़ी, रोड लाइट और होटल समेत अन्य सामानों के लिए उनके द्वारा अग्रिम के तौर पर चार लाख रुपये से अधिक की राशि दी जा चुकी है। अब हसन के सामने स्थिति यह है कि उनके द्वारा बेटा-बेटी की शादी के लिए जिन सामानों, वस्तुओं और स्थानों के अग्रिम के रूप में जो राशि दी गई है, उसकी वापसी कैसे होगी? हसन ने बताया कि बेटे की शादी के लिए तय किये गये कुछ वाहन चालकों की ओर से आश्वासन दिया गया है कि आगामी भविष्य में जब शादी की तिथि मुकर्रर होगी, उस समय अग्रिम राशि मैनेज कर दी जायेगी। वे अन्य अग्रिम वाले लोगों के सम्पर्क में भी हैं।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

Total Pageviews

Pages