बिहार लॉकडाउन की तस्वीरें : दूसरे दिन दिखा असर, बेवजह घर से निकले लोगों का चालान काट रही पुलिस; सब्जी मंडियों में जुटी भीड़ - कोशी लाइव

Breaking

Home Top Ad

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

कार किंग [मधेपुरा]

कार किंग [मधेपुरा]
पंचमुखी चौक,मधेपुरा

Translate

Tuesday, March 24, 2020

बिहार लॉकडाउन की तस्वीरें : दूसरे दिन दिखा असर, बेवजह घर से निकले लोगों का चालान काट रही पुलिस; सब्जी मंडियों में जुटी भीड़

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।

पटना. कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बिहार में 31 मार्च तक लॉकडाउन है। सोमवार को लॉकडाउन का पहला दिन था। सुबह पटना समेत पूरे बिहार में दुकानें खुली थी और लोग सड़क पर घूम रहे थे। बाद में पुलिस हरकत में आई और लोगों को घर लौटाया। मंगलवार को स्थिति अलग दिखी। दूसरे दिन लॉकडाउन अधिक प्रभावी दिख रहा है।


हालांकि, सब्जी मंडियों में लोगों की भीड़ जुटी। पुलिस चौक-चौराहों पर तैनात है और कार व बाइक सवारों को रोक रही है। पुलिसकर्मी लोगों से घर से निकलने का कारण पूछ रहे हैं और बिना जरूरी काम के घर से निकलने वालों का चालान काट रहे हैं।
पटना: राजधानी में सुबह से ही लॉकडाउन का असर दिखा। पुलिस चौक-चौराहों पर तैनात रही और लोगों को बेवजह घूमने से रोका। शहर के सब्जी मंडियों में सुबह भीड़ जुटी। लोग अधिक मात्रा में सब्जी व राशन खरीदकर घर में रख लेना चाहते हैं। सब्जी के दाम भी दो से चार गुना तक बढ़ गए हैं। पटना सिटी के सब्जी बाजार में सुबह भारी भीड़ जुटी। नगर निगम की टीम शहर के सड़कों को सैनिटाइज कर रही है।
मुजफ्फरपुर: शहर में दूसरे दिन लॉकडाउन प्रभावी दिखा। डीएम, एसपी, एसडीएम सहित कई पुलिस ऑफिसर सड़क पर उतरे और दुकानों को बंद कराया। इस दौरान एक बाइक सवार युवक को रोका गया। पूछताछ में पता चला कि वह बाइक से ही महाराष्ट्र से आ रहा है और दरभंगा जाएगा। पुलिस ने उसे रोका और जांच के लिए एम्बुलेंस बुलाकर अस्पताल भेजा।
भागलपुर: शहर में लॉकडाउन का असर दिखा। सिटी एसपी सुशांत कुमार सरोज और सिटी डीएसपी राजवंश सिंह सुबह से ही घूम रहे हैं। सड़क पर दिखे ऑटो और रिक्शा के पहियों की हवा निकाल दी गई। पुलिस को निर्देश दिया गया है कि किसी से मारपीट न करें। बिना वजह घर से निकलने वालों को पुलिस उठक-बैठक कराकर और समझाकर घर भेज रही है। भागलपुर के बॉर्डर पर चेक प्वाइंट लगाया गया है। पूरे जिले को सील कर दिया गया है।
गया: गया में लॉकडाउन का असर देखा जा रहा है। शहर के सभी चौक चौराहों पर पुलिस तैनात है। हर जगह बैरिकेड लगाए गए हैं। नई गोदाम, कलेक्ट्रिएट, काशीनाथ मोड़, गेवाल बिगहा, विष्णुपद, चांद चौरा, टावर चौक, मानपुर और डेल्हा में सन्नाटा पसरा है। लोग सिर्फ जरूरी काम से घर से बाहर निकल रहे हैं। डेयरी, मेडिकल दुकान और किराना दुकान खुले हैं।
आरा: भोजपुर जिले में लॉकडाउन के चलते लोग बहुत कम घर से बाहर निकले हैं। कुछ जगह पर दुकान आवश्यक सामान की खरीदारी के लिए खुले। लॉकडाउन के लिए प्रशासन का सख्त तेवर रहा। बाजार समिति में सदर एसडीओ ने दो दुकानों को सील किया। आरा में आटा और सब्जियों की कीमत में वृद्धि हुई है। प्रशासन ने जमाखोरों और कालाबाजारियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है।
औरंगाबाद: शहर में लॉकडाउन पहले दिन की अपेक्षा दूसरे दिन अधिक प्रभावी दिखा। सब्जी मंडी में सुबह लोगों की भीड़ जुटी। जामा मस्जिद के पास स्थित दवा दुकान पर भी भीड़ थी। भीड़ को हटाने के लिए यहां पुलिस को कार्रवाई करनी पड़ी। रमेश चौक पर पुलिस ने बैरिकेड लगाया है और यहां वाहनों की चेकिंग की जा रही है। गैरजरूरी रूप से सड़क पर आए लोगों का चालान काटा जा रहा है।
नालंदा: लॉकडाउन के बाद भी जिले में मंगलवार सुबह कई जगह कुछ दुकानें खुली और लोग सड़क पर निकले। बाद में पुलिस ने लॉकडाउन का उलंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की। राजगीर में पुलिस ने तीन दुकानदारों को हिरासत में लिया। इसी तरह बिहारशरीफ में भी दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई हुई है। पुलिस ने बिना जरूरी काम के सड़क पर निकले लोगों पर सख्ती की है और चालान काटा।
कैमूर: लॉकडाउन का असर शहर में सुबह देखने को नहीं मिला। 10 बजे तक शहर के मुख्य चौक चौराहे पर पान और चाय की दुकानें खुली रहीं। बाद में पुलिस सड़क पर उतरी और दुकानों को बंद कराया। पुलिस ने सड़क पर बिना जरूरी काम से निकले लोगों को रोका और चालान काटा।
कटिहार: दूसरे दिन कटिहार में लॉकडाउन प्रभावी दिख रहा है। शहर में सुबह दस बजे तक कुछ दुकानें खुली थी बाद में एसपी, डीएसपी समेत प्रशासन का पूरा अमला सड़क पर उतरा और लोगों से घरों में रहने की अपील की। दवा दुकान, दूध दुकान व सब्जी दुकान छोड़कर सभी दुकानें बंद कराई गई। सड़क पर बेवजह घूम रहे लोगों के खिलाफ पुलिस ने सख्ती दिखाई।
शेखपुरा: शेखपुरा में दूसरे दिन लॉकडाउन प्रभावी दिखा। पुलिस चौक-चौराहों पर तैनात है और लोगों को बेवजह घूमने से रोक रही है। हालांकि लॉकडाउन के बीच सड़क पर भीड़ भी दिखी। एनएच 333 पर गैस एजेंसी द्वारा सड़क पर ट्रक लगाकर गैस सिलेंडर दिया जा रहा था। लोग गैस सिलेंडर लेने के लिए लाइन में खड़े रहे।
सीवान: लॉकडाउन के बाद भी सीवान में दुकानें खुली, जिसके बाद डीएम सड़क पर उतरे और दुकानों को बंद कराया। दूसरी ओर सोमवार रात को नगर थाना क्षेत्र के ब्रह्मस्थान ढाला के पास संदिग्ध स्थिति में युवक की मौत हो गई। शव रातभर पड़ा रहा, लेकिन कोरोना के डर से पुलिस और प्रशासन के लोग नहीं पहुंचे। सुबह गांव के लोगों ने बिना पोस्टमॉर्टम कराए अंतिम संस्कार कर दिया। मृतक डीएवी कॉलेज मोड़ के पास सैलून चलाता था।
बक्सर: जिले के कई इलाकों में लॉकडाउन का असर दिखा, लेकिन कई इलाकों में लोग घरों से निकले। बक्सर के ब्रह्मपुर में पीपा पुल पर बैरियर लगा दिया गया है ताकि उत्तर प्रदेश से आने वाले वाहनों को रोका जा सके। इस वजह से यूपी बॉर्डर पर चौसा में गाड़ियों की लंबी कतार लग गई है। ब्रह्मपुर बाजार में खरीदारी के लिए लोगों की भीड़ उमड़ी। मंदिरों के कपाट बंद कर दिए गए हैं।
छपरा: छपरा में लॉकडाउन का असर दिख रहा है। शहर के थाना चौक, नगर पालिका चौक, भगवान बाजार चौक, मौना चौक व अन्य चौराहों पर बैरियर लगाया गया है। सरकारी बाजार, गुदरी बाजार, सब्जी मंडी और लाल बाजार इलाके में लोग घरों से खरीदारी करने के लिए निकले। साहेबगंज रोड, थाना चौक, हॉस्पिटल चौक और बस स्टैंड इलाके में सन्नाटा पसरा है।
नवादा: नवादा में लॉकडाउन के बाद भी सुबह दुकानें खुली थी और लोग सड़क पर निकले थे। बाद में पुलिस ने सख्ति दिखाई और दुकानों को बंद कराया। सब्जी मंडी में पुलिस ने पांच-छह लोगों को पकड़ा जो बिना जरूरी काम के सड़क पर घूम रहे थे। पुलिस ने सभी से कान पकड़कर उठक-बैठक कराया।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

Total Pageviews

Pages