मधेपुरा।सीएसपी खुलवाने के नाम पर धोखाधड़ी गिरोह का खुलासा - कोशी लाइव

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

कार किंग [मधेपुरा]

कार किंग [मधेपुरा]
पंचमुखी चौक,मधेपुरा

Translate

Tuesday, February 11, 2020

मधेपुरा।सीएसपी खुलवाने के नाम पर धोखाधड़ी गिरोह का खुलासा

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।

मधेपुरा। एसबीआइ ग्राहक सेवा केंद्र खुलवाने के नाम पर लाखों की धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक संजय कुमार के निर्देश पर वैज्ञानिक अनुसंधान के तहत बिहारीगंज पुलिस ने नालंदा जिले के बिहारशरीफ से गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार किया है। थानाध्यक्ष अखिलेश कुमार ने बताया कि गिरोह के सदस्यों द्वारा लोगों को उनकी जरूरत के मुताबिक सेवाएं देने, बैंक ग्राहक सेवा केंद्र खोलने और नौकरी दिलाने के नाम पर भोले-भाले लोगों को झांसे में लेकर ठगी का शिकार बनाता है। इस गिरोह का मुख्य सरगना गुलशन कुमार उर्फ निखिल सिन्हा, अमित कुमार उर्फ भुटानी एवं रौशन कुमार तीनों का पिता भुवनेश्वर महतो, साकिन ढेडसाडीह थाना कुसुम्बा जिला शेखपुरा को बताया जाता है। इसका खुलासा गिरोह के गिरफ्तार शेखपुरा जिले के कुसुम्बा थानाक्षेत्र स्थित ढेहसाडीह निवासी संदीप कुमार उर्फ विजय, पिता दामोदर महतो ने किया है। उसके पास से पुलिस ने तीन फर्जी एटीएम, एक पासबुक, एक सीम, दो एंड्रायड मोबाइल बरामद किया है।


गिरफ्तार युवक ने खोला कई राज
वैज्ञानिक अनुसंधान के आधार पर अनुसंधानकर्ता सुरेन्द्र कुमार एवं एसआइ उदय तिर्की एवं पुलिस बलों साक्ष्य और मोबाइल लिक के आधार पर कार्रवाई करते हुए शेखपुरा पहुंचे। बिहारशरीफ का लिक मिलने पर वहां गए। पुलिस ने जाल बिछाकर नाटकीय ढंग से संदीप कुमार को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में उसने गुलशन कुमार के पास 15 हजार रुपये प्रतिमाह नौकरी रहने की बात कबूल की। उसने बताया कि बैंक, एटीएम, पार्सल लाने का कार्य करता है। गरीब तबके के लोगों का खाता खुलवाकर खाताधारक को कुछ कमीशन देकर उनके खातों में शिकार किए गए पीड़ित लोगों से ऑनलाइन ट्रांजेक्शन कराता था।
सीएसपी खोलने के नाम पर ठगी का शिकार हुआ युवक
बिहारीगंज थानाक्षेत्र स्थित राजगंज बैधनाथपुर निवासी गौतम कुमार, पिता रामस्वरूप कुमार ने बिहारीगंज थाना में आवेदन देकर आरोप लगाया था कि उनके पास एक कंपनी से एक फोन आया। फोन करने वाले ने बताया कि हमारी कंपनी लोगों को उनकी जरूरत के मुताबिक विभिन्न प्रकार की सेवाएं देती है। इसमें लोकल क्षेत्र में विभिन्न बैंकों के ग्राहक सेवा केंद्र भी खुलवा सकते हैं। एसबीआइ का ग्राहक सेवा केंद्र खोलने के झांसे में आकर उनके द्वारा बताए गए अलग-अलग खातों पर पांच सितंबर से 20 सितंबर तक चार बार में छह लाख 87 हजार पांच सौ रूपये भेजा गया था। लेकिन बाद में सभी मोबाइल पर संपर्क नहीं मिलने पर उसे ठगे जाने का संदेह हुआ।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

Total Pageviews

Post Bottom Ad

Pages