बॉलीवुड:Film Review : फिल्‍म देखने से पहले जानें कैसी है 'छपाक' - कोशी लाइव

Breaking

CAR KING (MADHEPURA)

CAR KING (MADHEPURA)

THE JAWED HABIB

THE JAWED HABIB
SALOON FOR MEN AND WOMEN

तिवारी एजेंसी(सहरसा)

तिवारी एजेंसी(सहरसा)
छड़,सीमेंट,गिट्टी,बालू एवं हार्डवेयर की सामान के लिए संपर्क करें।

Translate

Thursday, 9 January 2020

बॉलीवुड:Film Review : फिल्‍म देखने से पहले जानें कैसी है 'छपाक'

कोशी लाइव।

निर्माता: दीपिका पादुकोण


निर्देशक: मेघना गुलज़ार

कलाकार: दीपिका पादुकोण, विक्रांत मेसी

रेटिंग: तीन

एसिड अटैक सर्वाइवर की कहानी वो भी मुख्यधारा की बॉलीवुड फिल्म और उसमें बॉलीवुड की सुपरस्टार अभिनेत्री कुछ साल पहले तक यह बात किसी के जेहन में भी नहीं आ सकती थी तो रुपहले परदे पर आनी दूर की कौड़ी थी. यही वजह है कि दीपिका पादुकोण की फ़िल्म 'छपाक' कई मामलों में खास है.

यह फ़िल्म बताती है कि कुछ मुद्दों को उठाया जाना चाहिए भले ही रुपहले परदे पर उसे देखते हुए आप असहज हो जाए. आखिरकार सिनेमा समाज का आईना है. फ़िल्म की कहानी की बात करें तो फ़िल्म एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की कहानी है.


फ़िल्म में मालती (दीपिका पादुकोण) के किरदार के ज़रिए दिखाया गया है. जिसने न सिर्फ अपने दोषियों को कड़ी सजा दिलाने के लिए लंबी लड़ाई लड़ी बल्कि एसिड की खुली बिक्री के खिलाफ भी कानून में संसोधन करवाने की वजह बनी. उसकी यह लड़ाई आसान नहीं थी.समाज से लेकर आर्थिक स्थिति सभी उसका रोड़ा बनी.

फ़िल्म में इस कहानी को अतीत और वर्तमान के ज़रिए दर्शाया गया है. फ़िल्म में एसिड सर्वाइवर के दर्द, मेडिकल प्रक्रिया से लेकर कानूनी अड़चन को भी दिखाया गया. किसी पर चाय फेंकने पर जो सजा है वही सजा एसिड फेंकने की भी है. फ़िल्म का फर्स्ट हाफ थोड़ा स्लो है जो अखरता है. सेकेंड हाफ में कहानी रफ्तार पकड़ती है. फ़िल्म की खासियत यह है कि संवेदनशील मुद्दे को बहुत ही सिंपल तरीके से कहा गया है कहीं भी भाषणबाजी नहीं हुई है ना ही उपदेश दिया गया है. फ़िल्म का ट्रीटमेंट डॉक्यू ड्रामा अंदाज़ में किया गया है.

अभिनय की बात करें तो दीपिका ने शानदार परफॉर्मेंस दिया है. मालती के किरदार के दर्द, खुशी, हिम्मत, संकोच सबको उन्होंने अपने अभिनय से जीवंत किया है. विक्रांत भी अपनी भूमिका में छाप छोड़ने में कामयाब रहे. बाकी के किरदारों का भी काम अच्छा है. फ़िल्म का गीत संगीत हो या संवाद कहानी की संवेदनशीलता को बखूबी बयां करता है.

अभिनेत्रियों को हमेशा रुपहले परदे पर खूबसूरत देखने की चाहत रखने वालों के लिए ये फ़िल्म अखर सकती है. ये फ़िल्म मन की खूबसूरती की बात करता है और हर हाल में ज़िन्दगी को जीने के जिजीविषा की. अगर उनसे आपको सरोकार है तो फ़िल्म आपके लिए है.



अदालत ने ‘छपाक' के निर्माताओं को एसिड पीड़िता की वकील को श्रेय देने का दिया निर्देश

नयी दिल्ली : दिल्ली की एक अदालत ने दीपिका पादुकोण अभिनीत फिल्म ‘छपाक' के निर्माताओं को एसिड पीड़िता लक्ष्मी अग्रवाल की वकील को श्रेय (क्रेडिट) देने का गुरुवार को निर्देश दिया. अतिरिक्त दीवानी न्यायाधीश पंकज शर्मा ने कहा कि वकील अपर्णा भट्ट के सहयोग को मान्यता देना जरूरी है. 
न्यायाधीश ने कहा कि अदालत का मानना है कि अंतरिम रोक की मांग वाली वादी की याचिका में आधार है और स्क्रीनिंग के दौरान वास्तविक फुटेज और तस्वीर में यह पंक्ति लिख उनके काम को मान्यता दी जाए कि ‘‘ महिलाओं के खिलाफ होने वाले यौन एवं शारीरिक हिंसा के खिलाफ अपर्णा भट्ट की लड़ाई जारी है.'
वकील अपर्णा भट्ट ने आवेदन दायर करते हुए कहा कि कई वर्षेां तक अग्रवाल के मामले का अदालत में प्रतिनिधित्व करने और फिल्म बनाने में मदद करने के बावजूद फिल्म में उन्हें कोई श्रेय (क्रेडिट) नहीं दिया गया. उन्होंने कहा कि फिल्मकारों ने फिल्म लिखने और उसकी शूटिंग में उनकी मदद ली लेकिन फिल्म में उन्हें कोई श्रेय नहीं दिया.

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

Total Pageviews

THE JABED HABIB

THE JABED HABIB
BEST HAIR AND MAKEUP SLOON

Follow ME

KOSHILIVE

Only news Complete news. मधेपुरा,सहरसा,सुपौल एवं बिहार की अन्य जिलों की खबरों का संग्रह। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

जूली वस्त्रालय