BIHAR NEWS:डीएम की बड़ी लापरवाही: सर्दी में दे दी गर्मी छुट्टी, कारण में दिखाया- कोल्‍ड की जगह हीट वेब - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, January 12, 2020

BIHAR NEWS:डीएम की बड़ी लापरवाही: सर्दी में दे दी गर्मी छुट्टी, कारण में दिखाया- कोल्‍ड की जगह हीट वेब

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।
पटना. सरकारी विभागों और अधिकारियों के काम-काज का नमूना देखना हो, तो आप बिहार (Bihar) के गोपालगंज (Gopalganj) में आएं. जहां जिलाधिकारी (District Magistrate) ने कड़ाके की ठंड (Cold wave) के बीच स्कूलों में गर्मी की छुट्टी (Heat Wave) का आदेश जारी कर दिया है. डीएम के के इस अजीबो-गरीब आदेश से शिक्षा विभाग (Education Department) में जहां खलबली मच गई है, वहीं इसकी चर्चा चहुंओर पसर गई है. जिले के डीएम अरशद अजीज के अनोखे आदेश और पत्र को लेकर सवाल उठने लगे हैं. अभी जबकि गोपालगंज में न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस तक जा पहुंचा है, ऐसे में जिलाधिकारी ने हीट वेव यानी लू की वजह से स्कूल बंद रखने का आदेश जारी कर दिया है.
14 जनवरी तक स्कूल बंद रखने का आदेश
गोपालगंज के डीएम ने जो आदेश जारी किया है, उसमें पहली से लेकर 8वीं कक्षा तक के बच्चों के लिए 14 जनवरी तक स्कूल बंद रखने को कहा गया है. News 18 के पास मौजूद जिलाधिकारी के इस पत्र में साफ लिखा गया है कि डीएम ने गर्मी की छुट्टी का आदेश जारी कर दिया है. पत्र प्राप्त होते ही जहां जिले के स्कूल प्रबंधन असमंजस में पड़ गए हैं, वहीं नियोजित शिक्षक संघ ने डीएम के रवैये पर सवाल खड़ा कर दिया है. शिक्षक नेता आनंद मिश्रा ने कहा कि डीएम के कारनामे के खिलाफ शिक्षक संघ जांच की मांग करता है. ऐसे अधिकारी के खिलाफ सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए, क्योंकि इससे न सिर्फ स्कूल प्रबंधन असमंजस में है, बल्कि शिक्षकों और अभिभावकों के बीच भी गफलत फैल रही है.
गोपालगंज के डीएम ने जो आदेश जारी किया है, उसमें पहली से लेकर 8वीं कक्षा तक के बच्चों के लिए 14 जनवरी तक स्कूल बंद रखने को कहा गया है. News 18 के पास मौजूद जिलाधिकारी के इस पत्र में साफ लिखा गया है कि डीएम ने गर्मी की छुट्टी का आदेश जारी कर दिया है. पत्र प्राप्त होते ही जहां जिले के स्कूल प्रबंधन असमंजस में पड़ गए हैं, वहीं नियोजित शिक्षक संघ ने डीएम के रवैये पर सवाल खड़ा कर दिया है. शिक्षक नेता आनंद मिश्रा ने कहा कि डीएम के कारनामे के खिलाफ शिक्षक संघ जांच की मांग करता है. ऐसे अधिकारी के खिलाफ सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए, क्योंकि इससे न सिर्फ स्कूल प्रबंधन असमंजस में है, बल्कि शिक्षकों और अभिभावकों के बीच भी गफलत फैल रही है.

पहले भी दे चुके हैं ऐसे आदेश
गोपालगंज के डीएम अरशद अजीज ने पहली बार यह 'कारनामा' नहीं किया है. आरोप है कि इससे पहले भी उन्होंने एक बार वर्ष 2029 तक की छुट्टी का निर्देश जारी कर दिया था. वहीं, शनिवार को जारी किए गए पत्र में डीएम का हस्ताक्षर भी है और यह जिले के एसपी, सभी एसडीएम, डीईओ, डीपीओ और बीईओ को भेजा गया है. गौर करने वाली बात यह है कि पत्र पाने वाले अधिकारियों ने भी डीएम को इसकी गलती के बारे में नहीं बताया. 5 घंटे बाद भी पत्र में सुधार नहीं किया गया है. हालांकि जिले के एसपी मनोज तिवारी ने कहा कि डीएम को इस गलती के बारे में सूचना दे दी गई है.

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

Total Pageviews