BIHAR NEWS:शराबबंदी का सच : सिंचाई विभाग के आवासीय परिसर से मिली 12480 बोतल शराब - कोशी लाइव

Breaking

Home Top Ad

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

कार किंग [मधेपुरा]

कार किंग [मधेपुरा]
पंचमुखी चौक,मधेपुरा

Translate

Monday, January 13, 2020

BIHAR NEWS:शराबबंदी का सच : सिंचाई विभाग के आवासीय परिसर से मिली 12480 बोतल शराब

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।

भागलपुर,। जवारीपुर स्थित सिंचाई विभाग के आवासीय परिसर में शराब का धंधा चलता था। पुलिस ने वहां छापेमारी की। इस दौरान एक सामुदायिक भवन से करीब 315 पेटी में 12480 बोतल विदेशी शराब बरामद की गई। मामले में पुलिस ने सिंचाई विभाग के चतुर्थवर्गीय कर्मी जितेंद्र कुमार सिंह को गिरफ्तार किया गया है। जितेंद्र बांका जिले के शंभूगंज स्थित गुलनी कुशहा गांव का रहने वाला है। छापेमारी के दौरान उसका बेटा अभिषेक राठौड़ उर्फ विक्की भाग निकला। एसएसपी आशीष भारती ने बताया कि पिता-पुत्र के खिलाफ तिलकामांझी चौकी में केस दर्ज किया गया है।
सिंचाई विभाग के आवासीय परिसर में एक सामुदायिक भवन है।इसमें दोनों ओर एक-एक कमरा है। एसएसपी को कहीं से शराब की सूचना मिली। उन्होंने तत्काल सिटी एसपी सुशांत कुमार सरोज को कार्रवाई के लिए कहा। डीएसपी राजवंश सिंह के नेतृत्व में टीम गठित की गई। सिटी डीएसपी के साथ मिलकर तिलकामांझी चौकी इंचार्ज मिथिलेश कुमार ने छापेमारी की। जहां एक कमरे से भारी मात्रा में शराब मिली। उस कमरे का ताला टूटा था, जबकि दूसरे कमरे में ताला लगा था। उसे खुलवाया गया तो वहां लोहे के बक्से से शराब की कई कार्टन बरामद हुई। उस कमरे की चाबी जितेंद्र के पास थी। उसमें पास के ही दुर्गा मंदिर की पूजन वस्तुएं रखी रहती थी।
पंजाब के मोहाली से लाई गई थी शराब
बरामद शराब पंजाब के मोहाली में बनी हुई है। पुलिस के मुताबिक शनिवार की रात ही कई गाडिय़ों में शराब भरकर सामुदायिक भवन में अनलोड की गई थी। उसके सामने एफ पांच क्वार्टर में जितेंद्र और उसका परिवार रहता है। उसका बेटा अभिषेक राठौड़ इस धंधे में लिप्त था। उसकी और अन्य तस्करों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम ने कई इलाकों में छापेमारी भी की। किंतु सफलता हाथ नहीं लगी।
देर रात डंप की गई थी शराब
सामुदायिक भवन में देर रात रात तीन पिकअप के सहारे शराब डंप किया गया था। यह जानकारी पुलिस को लगी। स्थानीय लोगों को भी रात में भारी संख्या में कार्टन उतारने की बात कहीं से नहीं पच रही थी। इस बात की जानकारी आसपास के क्वार्टर में रहने वाले लोगों ने कैंपस में रहने वाले सुपरिटेडेंट इंजीनियर को दिया। उन्होंने जब कमरे में जाकर झांका तो कार्टन दिखाई दी। उन्होंने भी पुलिस को इसकी सूचना दी। लेकिन तब तक पुलिस टीम कैंपस पहुंच गई थी।
बड़ा रैकेट चलाता है अभिषेक
पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपित जितेंद्र का बेटा अभिषेक शराब तस्करी का बड़ा रैकेट चलाता है। इसमें उसका साथ तिलकामांझी, बरारी, खंजरपुर, कोयला घाट, उर्दू बाजार समेत अन्य इलाकों के तस्कर साथ देते हैं। इस गिरोह को तोडऩे के लिए पुलिस ने तकनीकी जांच भी शुरू कर दी है। रैकेट में शामिल अन्य तस्करों की पहचान की जा रही है।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

Total Pageviews

Pages