खगड़िया/बिहार:ABVP द्वारा स्वामी विवेकानंद जी के जन्म जयंती के अवसर पर पुष्पांजलि एवँ संगोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन किया गया - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, January 12, 2020

खगड़िया/बिहार:ABVP द्वारा स्वामी विवेकानंद जी के जन्म जयंती के अवसर पर पुष्पांजलि एवँ संगोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन किया गया

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।
रिपोर्टर:अनीष कुमार।

 राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद रानी सकरपुरा इकाई द्वारा स्वामी विवेकानंद जी के जन्म जयंती के अवसर पर पुष्पांजलि एवँ संगोष्ठी कार्यक्रम रखा गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पूर्व प्रदेश कार्यालय संयोजक जय नारायण यादव जी एवँ abvp मुंगेर विश्वविद्यालय के विभाग संयोजक पप्पू पांडेय उपस्थित रहे उन्होंने अपने सम्बोधन के दौरान बताया कि आज जब देश मे एक दल ऐसा है जो भगवा रंग से ही नफरत करने लगा है आज युवा दिवस के अवसर पर देश के सभी युवाओं को स्वामी जी को आत्मसात करने की आवश्यकता है वहीं कार्यक्रम को संचालित कर रहे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इकाई के नगर मंत्री अमन पाठक ने बताया कि स्वामी जी किस प्रकार से नारी सम्मान किया करते थे उनके जीवन से जुड़ी कहानी बताया जबउनके द्वारा दिए गए स्पीच से एक विदेशी महिला बहुत ही प्रभावित हुईं।
और वह विवेकानंद जी के पास आयी और स्वामी विवेकानंद से बोली कि मैं आपसे शादी करना चाहती हुँ ताकि आपके जैसा ही मुझे गौरवशाली पुत्र की प्राप्ति हो।
इसपर स्वामी विवेकानंद जी बोले कि क्या आप जानती है। कि ” मै एक सन्यासी हूँ ” भला मै कैसे शादी कर सकता हूँ अगर आप चाहो तो मुझे आप अपना पुत्र बना लो। इससे मेरा सन्यास भी नही टूटेगा और आपको मेरे जैसा पुत्र भी मिल जाएगा। यह बात सुनते ही वह विदेशी महिला स्वामी विवेकानंद जी के चरणों में गिर पड़ी और बोली कि आप धन्य है। आप ईश्वर के समान है ! जो किसी भी परिस्थिति में अपने धर्म के मार्ग से विचलित नहीं होते है।
स्वामी विवेकानंद के इस कहानी से हमें यही शिक्षा मिलती है कि सच्चा पुरुष वही होता है जो हर परिस्थिति में नारी का सम्मान करते हैं आज देश में आये दिन महिलाओं को लेकर बुरी खबर सुनने को मिलती है तो हम सभी को एक सच्चा पुरूष के रूप में सामने आना चाहिए जो कि स्वामी जी को आत्मसात करने से सम्भव हो सकता है वहीं रानी सकरपुरा के सामाजिक कार्यकर्ता वन्दन पाठक जी ने बताया कि  स्वामी जी ने अपने सम्बोधन में कहा था कि मुझे ऐसे देश का धर्मावलम्बी होने का गौरव है,जिसने संसार को ‘सहिष्णुता’तथा’सभी धर्मों को मान्यता प्रदान’करने की शिक्षा दी है।मुझे एक ऐसे देश का व्यक्ति होने का अभिमान है,जिसने इस पृथ्वी की समस्त पीड़ित और शरणागत जातियों तथा विभिन्न धर्मों के बहिष्कृत मतावलम्बियों को आश्रय दिया है। कार्यक्रम में परिषद के रिपुंजय झा अंशु पाठक गोपाल झा हिमांशु केसरी अंकित कुमार विकेश झा राहुल रोकर्स प्रीतम केसरी, मुरारी रस्तोगी सुमन केसरी , प्रकाश पाठक मुकेश कुमार , रविशंकर कुमार अभिषेक सिंह ,  अनिमेष आनंद , रजनीश कुमार ,दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित थे

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews