अबतक अपडेट्स:हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर के आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया, जानिए किसने क्या कहा, हर अपडेट - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, December 6, 2019

अबतक अपडेट्स:हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर के आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया, जानिए किसने क्या कहा, हर अपडेट

अपडेट्स।

हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर के आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया, जानिए किसने क्या कहा, हर अपडेट




हैदराबादः  हैदराबाद में हुए डॉक्टर गैंगरेप व मर्डर  के चारों आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है. यह एनकाउंटर तब हुआ जब पुलिस आरोपियों को एनएच-44 पर क्राइम सीन रिक्रिएट कराने के लिए लेकर गई थी. पुलिस के मुताबिक चारों आरोपियों ने मौके से भागने की कोशिश की थी. DCP शमसाबाद प्रकाश रेड्डी ने बता कि साइबराबाद पुलिस आरोपियों को क्राइम स्पॉट पर सीन री-कन्स्ट्रक्शन के लिए ले गई थी. आरोपियों ने पुलिस से हथियार छीन लिए और उन पर फायरिंग कर दी. पुलिस ने आत्मरक्षा में आरोपियों पर फायरिंग की जिसमें आरोपियों की मौत हो गई. 
-  दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने हैदराबाद की घटना के बाद इंसाफ और महिला सुरक्षा के लिए अनशन पर बैठी थीं. ऐसे में इस एनकाउंटर के बारे में बात करते हुए स्वाति मालीवाल ने कहा है, आज उन आरोपियों के साथ जो हुआ है, अच्छा हुआ है लेकिन मैं अपना आमरण अनशन अभी भी जारी रखूंगी. स्वाति ने कहा, एनकाउंटर ठीक है लेकिन आज की न्यायिक प्रक्रिया लड़कियों की कमर तोड़ देती हैं. इसके लिए कड़े से कड़े कानून होने चाहिए, जल्द से जल्द फांसी मिलनी चाहिए. हम सबको कठोर सिस्टम बनाना होगा. उनका कहना है कि निर्भया के दोषी अभी भी सरकारी मेहमान हैं. दोषियों को 6 महीने में सजा मिलनी चाहिए.
-  अक्सर बयानों से विवादों में रहने वालीं भारतीय जनता पार्टी की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने ट्वीट कर संस्कृत में इस एनकाउंटर पर प्रतिक्रिया दी.साध्वी प्रज्ञा ने लिखा, ‘शठे शाठ्यम समाचरेत्।।, यद्यपि शुद्धं लोक विरुद्धम्।‘ यानी ‘भले ही लोगों को लगे कि ऐसा करना गलत है, दुष्ट के साथ दुष्टता का व्यवहार करना चाहिए.’
- बीजेपी सांसद मेनका गांधी जो भी हुआ है, देश के लिए बहुत भयानक हुआ है. आप किसी को केवल इस वजह से नहीं मार सकते क्योंकि आप मारना चाहते हैं. आप कानून के अपने हाथ में नहीं ले सकते. उन्हें(आरोपियों को) कोर्ट द्वारा फांसी पर लटकाया जाना चाहिए था. 
- योगगुरु बाबा रामदेव ने हैदराबाद एनकाउंटर पर कहा कि देश को कलंकित करने वाले इस तरह के अपराधियों को ऑन द स्पॉट मारें. 
- दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जिस तरह से लोगों का न्याय व्यवस्था से भरोसा उठा गया है, हमें उसके बारे में चिंतन करना पड़ेगा. हमें साथ मिलकर यह देखना होगा कि किस तरह से जस्टिस सिस्टम और एग्जिक्युटिव सिस्टम को सुदृढ़ किया जा सके. 
- मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जो दूसरों के साथ दुर्व्यवहार करते हैं, उनके साथ भी वैसा ही व्यवहार किया जाना चाहिए. मुझे खुशी है कि न्याय जल्दी मिल गया.
- छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि  जब अपराधियों ने भागने की कोशिश की तो पुलिस के पास और कोई विकल्प नहीं था। ऐसा कहा जा सकता है कि न्याय हुआ.
- सपा सांसद जया बच्चन ने कहा कि देर आए..दुरुस्त आए। बहुत देर आए. उन्होंने इस मामले में किसी और टिप्पणी से इन्कार कर दिया. 
- हैदराबाद एनकाउंटर पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि इस एनकाउंटर से दिल्ली और यूपी पुलिस को सबक लेना चाहिए. 
- अपना दल (एस) की सांसद अनुप्रिया पटेल ने भी हैदराबाद एनकाउंटर का सपोर्ट किया लेकिन बोलीं कि बेहतर होता कि न्याय के रास्ते अगर फांसी दी जाती. 
- हैदराबाद: स्थानीय लोगों ने क्राइम स्पॉट पर पुलिस कर्मियों के ऊपर फूल बरसाए. यहां आज पुलिस एनकाउंटर में महिला डॉक्टर के साथ बर्बरता करने वाले चारों आरोपी मारे गए. 
गौरतलब है कि 27-28 नवंबर की दरम्यानी रात को हैदराबाद में  डॉक्टर के साथ हैवानियत की वारदात को अंजाम दिया गया था.
दरिंदों ने की थी हैवानियत
27  नवंबर की रात महिला डॉक्टर की स्कूटी पंक्चर हो गई थी. जब वह स्कूटी पार्क कर रही थी, तभी चारों दरिंदों ने हैवानियत की वारदात को अंजाम दिया था. उसने अपनी बहन को कॉल कर स्थिति बतायी थी लेकिन उसके बाद  डॉक्टर का फोन बंद हो गया था.
अगवा करने के बाद चारों आरोपियों ने डॉक्टर के साथ दरिंदगी की और गला दबाकर हत्या कर दी थी.  इसके बाद दुष्कर्म पीड़िता के शव को पेट्रोल डाल कर जला दिया गया था. हैदराबाद की इस दुष्कर्म और हत्या की घटना के बाद जहां एक ओर पूरे देश में गुस्सा है तो वहीं संसद में इस मामले की गूंज सुनाई दे रही है.

चारों आरोपियों  ने की भागने की कोशिश 
बता दें कि हैदराबाद के शादनगर में जानवरों की डॉक्टर से रेप और हत्या के केस में पुलिस ने चार आरोपियों शिवा, नवीन, केशवुलू और मोहम्मद आरिफ को पुलिस रिमांड में रखा गया था. बताया जा रहा है कि पुलिस जांच के लिए चारों को उस फ्लाइओवर के नीचे लेकर गई थी जहां उन्होंने पीड़िता को आग के हवाले किया था. वहां क्राइम सीन को रीक्रिएट किया जा रहा था. इसी बीच चारों ने भागने की कोशिश की.  इस पर पुलिस ने प्रतिक्रिया करते हुए गोलियां चलाईं और मुठभेड़ में चारों को ढेर कर दिया.


 एनकाउंटर को लेकर साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वी सी सज्जनर ने बताया कि सभी आरोपी को तड़के 3 बजे से सुबह 6 बजे के बीच चंदनपल्ली, शादनगर में पुलिस मुठभेड़ में मारे गए. वह घटनास्थल पर पहुंच गए हैं और आगे के विवरण का खुलासा किया जाएगा. आरोपियों के एनकाउंटर के पीड़िता के पिता ने पुलिस का आभार जाताया. उन्होंने कहा कि मेरी मृत बेटी की आत्मा को अब शांति मिलेगी. 

VIDEO: हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर के चारों आरोपी एनकाउंटर में ढेर, लोगों ने लगाए नारे, `पुलिस जिंदाबाद `

हैदराबाद: पीड़िता की आरोपियों को मौत के घाट उतारे जाने के बाद लगातार प्रतिक्रियाओं का बाजार गर्म हो चुका है. निर्भया की मां ने हैदराबाद पुलिस के इस काम की तारीफ की है. उन्होंने कहा कि वह विनती करती हैं कि पुलिस के खिलाफ कोई कार्रवाई न की जाए. उन्होंने कहा कि पीड़िता के साथ जो भी हुआ है, उसकी सजा मिलनी जरूरी थी.
पुलिस ने सही किया है. वह इससे खुश हैं. उन्होंने कहा कि "निर्भया के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए वह हर चौखट पर घुम रही हैं लेकिन उस घटना को 7 साल हो गए. आरोपियों को बहुत पहले ही फांसी पर लटकाया जाना चाहिए था. तभी सही मायनों में न्याय हो पाता."
हैदराबाद पीड़िता के पिता ने कहा यहीं है न्याय


वहीं हैदराबाद में पीड़िता के पिता कहते हैं कि "उनकी बेटी को मरे हुए 10 दिन हो गए. मैं हैदराबाद पुलिस और सरकार को इस के लिए धन्यवाद देना चाहूंगा.


अब जा कर मेरी बेटी की आत्मा को शांति मिली होगी." यहीं नहीं चारों अपराधियों को पुलिस एनकाउंटर में मारे जाने के बाद हर तरफ हैदराबाद पुलिस के काम की तारीफ हो रही है. सोशल मीडिया पर भी मिल रही प्रतिक्रियाओं में लोगों ने इसे सही ठहराया है. 

पुलिस ने कहा सेल्फ डिफेंस में मारी गोली




भले ही यह कानूनी किताब में लिखे गए प्रावधानों के  हिसाब से गलत हो, लेकिन लोगों की भावना इससे जुड़ चुकी थी. दरअसल, हैदराबाद पुलिस ने भी इसे सेल्फ डिफेंस बताया है. उन्होंने बयान जारी किया कि आरोपियों को वारदात की जगह पर घटना की प्रतिपुष्टि के लिए ले जाया गया था. घटनास्थल पर चारों अपराधियों ने पुलिस के चंगुल से छूट कर भागने का प्रयास किया. पुलिस की रिवाल्वर छीनने का  प्रयास किया तो पुलिस को भाग रहे आरोपियों पर मजबूरन गोली चलानी पड़ी. 

पुलिस कमिश्नर ने पहले भी रेप आरोपियों को दी है सजा

न सिर्फ सोशल मीडिया बल्कि फिल्मी जगत की नामचीन हस्तियां भी हैदराबाद पुलिस की पैरोकारी में लग गई हैं. उधर यह जानकारी भी मिली कि जिस पुलिस कमिश्नर सीपी सज्जानार ने गोली मारी, उनके नाम पहले भी रेप आरोपियों का एनकाउंटर करने का रिकॉर्ड दर्ज है. पुलिस कमिश्नर सज्जानार जांच के पुलिस सुप्रीटेंडेंट थे. 

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews