पूर्णियां/बिहार:किन्नर गुरु हत्याकांड में लाखों रुपये की संपत्ति बनी वजह, चौंकाने वाला खुलासा! - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, November 10, 2019

पूर्णियां/बिहार:किन्नर गुरु हत्याकांड में लाखों रुपये की संपत्ति बनी वजह, चौंकाने वाला खुलासा!

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।
अक्की।
पूर्णिया में किन्नर गुरु मुस्कान हत्याकांड को महज 72 घंटों में सुलझाने का दावा करते हुए पूर्णिया पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है।
पुलिस के अनुसार हरियाणा निवासी काजल किन्नर ने किन्नर गुरु मुस्कान की 50 लाख से अधिक की संपत्ति हड़पने के लिए अपने दोस्त के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची। शूटरों को इसी संपत्ति का लोभ देकर सुपारी दी। एसपी ने शनिवार दोपहर इस चर्चित हत्याकांड में खुलासा करते हुए बताया कि काजल किन्नर और उसके दो सहयोगियों को गिरफ्तार कर पूर्णिया पुलिस ने जेल भेज दिया है।

सदर एसडीपीओ आनंद कुमार पांडेय के नेतृत्व में टीम का गठन
इनमें से गिरफ्तार हत्यारों की पहचान हरियाणा के करनाल जिले के रायपुर गांव निवासी काजल किन्नर, हसनपुर गांव निवासी दीपक कुमार और पूर्णिया के खुश्कीबाग निवासी मिट्ठू कुमार के रुप में की गई है। साथ ही इनके पास से पुलिस ने देसी पिस्टल, दो कारतूस, एक चाकू, सोने के आधा दर्जन जेवरात, 2.35 लाख रुपये, एटीएम, ड्राइविंग लाइसेंस और आधार कार्ड बरामद किया। एसपी ने बताया कि हत्या के बाद सदर एसडीपीओ आनंद कुमार पांडेय के नेतृत्व में टीम का गठन सघन छापेमारी अभियान चलाया गया। 
बाइक और हथियार के साथ गिरफ्तार
वैज्ञानिक अनुसंधान के दौरान मिले साक्ष्य से पता चला कि इस घटना में खुश्कीबाग के चौहान टोला का मिट्ठू कुमार शामिल है। जिसके बाद पुलिस ने मिलनपाड़ा में छापेमारी कर बाइक और हथियार के साथ गिरफ्तार किया। पुलिसिया पुछताछ के दौरान मिट्ठू ने बताया कि उसने अपने मित्र दीपक कुमार राय के साथ मिलकर खुश्कीबाग स्थित सनौली चौक के पास मुस्कान की हत्या की थी। 
तीसरी आंख ने पहुंचाया कातिल तक
चर्चित किन्नर मुस्कान की हत्या का सारा घटनाक्रम सीसीटीवी फुटेज में कैद हो चुका था। फुटेज में साफ तौर पर दिख रहा था कि मुस्कान और काजल सड़क पर जा रही है। मुस्कान आगे थी जबकि काजल उससे चार कदम की दूरी पर पीछे थी। इसी दौरान बाइक पर सवार दो बदमाश आए और मुस्कान को गोली मार दी। यह वीडियो जल्दी ही वायरल हो गई। पुलिस के पास हत्यारों की गिरफ्तारी का दबाव था। शूटर फरार हो चुके थे। पुलिस ने वैज्ञानिक अनुसंधान शुरू की। हत्या के बाद काजल की प्रतिक्रिया देख ऐसा लगा कि जैसे कुछ हुआ ही नहीं हो। जबकि अमूमन ऐसा होता है कि किसी व्यक्ति को गोली लगते देख आसपास के लोग घबरा और सहम जाते हैं। लेकिन काजल के साथ ऐसा नहीं हुआ। काजल की इस प्रतिक्रिया ने पुलिस के कान खड़े कर दिए। अब वह काजल को भी संदेह के चश्मे से देखने लगी। इसी बाद कागज का एक सहयोगी धराया। जिसके बाद सारी बातों को खुलासा हो गया।
संपत्ति नहीं चुरा सकी तो दे दी मुस्कान की हत्या की सुपारी
एसपी ने बताया कि पुलिसिया पुछताछ के दौरान खुलासा हुआ कि हरियाणा निवासी काजल किन्नर बराबर पूर्णिया आया करती थी। वह मुस्कान के साथ ही 15-20 दिनों तक यहां रुकती थी। इसी दौरान उसकी नजर मृतक मुस्कान के पैसे और सोने पर पड़ी। कागज को भनक लगी कि मुस्कान के पास 35 लाख नगद और आधा किलो सोना है। इसके बाद लोभवश उसने अपने करनाल के ही सहयोगी दीपक के साथ मिलकर मृतक मुस्कान की संपत्ति चुराने की योजना बनाई। दोनों दीपावली के दो-चार दिन पहले आये और योजनाबद्ध तरीके से मुस्कान के पैसे चोरी करने का प्रयास की। लेकिन किसी कारणवश दोनों चोरी करने में नाकाम रहे। इस बात की खुन्नस से ही काजल ने मुस्कान को रास्ते से ही हटाने की योजना बनाया। काजल ने खुश्कीबाग के मिट्ठू और उसके दोस्त दीपक कुमार राय को मुस्कान की सुपारी दी। दोनों को लोभ दिया कि अगर मुस्कान की हत्या करेगा तो संपत्ति का बंटवारे में दोनों को भी हिस्सेदार बनाएगा। इसी लोभ में आकर दोनों ने शूटर हायर किया। एसपी ने बताया कि चौथे अपराधि की तलाश में छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है जल्द ही गिरफ्तारी होगी। 
केंद्रीय कारा के सेल में रहेगी काजल किन्नर
मुस्कान किन्नर हत्याकांड में गिरफ्तार काजल किन्नर को केंद्रीय कारा के सेल में रखा जाएगा।  वैकल्पिक व्यवस्था के तहत उन्हें 24 घंटे के लिए महिला वार्ड स्थित अस्पताल कक्ष में बने एक अलग वार्ड में उन्हें रखा जाएगा और इसके बाद उन्हें सेल में रखा जाएगा। केंद्रीय कारा अधीक्षक इंजीनियर जितेंद्र कुमार ने बताया कि हत्याकांड मामले में जेल पहुंची काजल किन्नर को किस वार्ड में शिफ्ट किया जाए, इस मामले को लेकर जेल मैनुअल को पढ़ा गया। कोई खास जानकारी नहीं मिली। उन्हें फिलहाल कारा के महिला वार्ड के समीप बने अस्पताल कक्ष के एक स्पेशल वार्ड में शिफ्ट किया गया है। वरीय अधिकारियों से दिशा निर्देश लिया जा रहा है। 
24 घंटे महिला सिपाही के पहरे में रहेगी
केंद्रीय कारा के जिस वार्ड में काजल किन्नर को रखा गया है। वहां पर उनकी 24 घंटे निगरानी के लिए छह महिला सिपाही को तैनात किया गया है। ताकि वह किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी नहीं कर पाए। इसके अलावा यदि उनका जेल के अंदर आचरण सही रहा तो सेल से हटाकर अन्य वार्ड में शिफ्ट किया जा सकता है। किन्नर के अन्य दोस्तों ने बताया कि काजल किन्नर और उनका दोस्त दीपक जो कुछ दिन पहले ही पंजाब से पूर्णिया आए थे। दोनों नशा करने के आदी हैं। खासकर  शाम ढलने के बाद दोनों बिना नशा किए नहीं रह सकते हैं। बताया जाता है कि दीपक ने जिस समय मुस्कान किन्नर की हत्या की साजिश रची थी, वह नशे में था। 
कारा आईजी, पटना मिथिलेश कुमार मिश्रा ने बताया कि किन्नर की गिरफ्तारी के बाद जेल आना अब तक का सबसे अलग मामला है। किन्नर को केंद्रीय कारा के सेल में रखा जाएगा। केंद्रीय कारा के अधिकारियों को पत्र लिखकर दिशा निर्देश दिया जाएगा।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

Total Pageviews