UP:कमलेश तिवारी हत्याकांडः हत्यारों को पनाह देने वाले रईस ने बनाया था ग्रुप, 72 कट्टरपंथी थे शामिल - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, October 27, 2019

UP:कमलेश तिवारी हत्याकांडः हत्यारों को पनाह देने वाले रईस ने बनाया था ग्रुप, 72 कट्टरपंथी थे शामिल

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।
अक्की।
कमलेश तिवारी के हत्यारों को शरण देने वाले पलिया निवासी रईस के अब गुजरात के कनेक्शनों को भी पुलिस खंगाल रही है। रईस ने पलिया क्षेत्र में अपने कट्टरपंथी साथियों का एक व्हाट्स एप ग्रुप तैयार किया था। इसमें 72 लोग शामिल थे। इसके आका बरेली में हो सकते हैं। आकाओं के निर्देश पर रईस ने कातिलों को पलिया में पनाह दी, इसके बाद उन्हें नेपाल ले गया जहां भी उसने अपने खास के यहां दोनों कातिलों को रुकवाया। फिलहाल एक-एक कर पुलिस सारे राजों से पर्दा हटा रही है। रईस के पकड़े जाने के बाद अब भी उसके दर्जनों साथी शहर में होने बताए जा रहे हैं। 
गौरीफंटा बार्डर पर पकड़ा गया संदिग्ध
कमलेश के कातिलों के बार्डर क्रास कर जाने के मामले में बार्डर पर तैनात सुरक्षा एजेन्सियां लापरवाह साबित हुईं। लेकिन अब वह खासा सतर्क दिख रहीं हैं। शनिवार की दोपहर को पुलिस व एसएसबी ने एक संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ा। बताया जाता है कि सूचना के बाद एसटीएफ भी मौके पर जा पहुंची है और संदिग्ध से पूछताछ की जा रही है। सूत्रों की माने तो यह वहीं व्यक्ति है जिसने नेपाल के धनगढ़ी शहर में कातिलों को पनाह दी थी। 
अपने मुख्य कार्य से भटकती दिख रही एसएसबी
भारत नेपाल के गौरीफंटा बार्डर से कमलेश तिवारी के हत्यारे नेपाल के शहर धनगढ़ी में प्रवेश कर गये और बार्डर पर तैनात सुरक्षा एजेन्सियों को भनक तक नही लग सकी जो कि सुरक्षा एजेन्सियों की कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह लगाती है। बार्डर की सुरक्षा के लिये तैनात की गई एसएसबी छुट पुटिए तस्करों को तो गश्त के दौरान पकड़ा जाना दिखा देती है लेकिन बार्डर से हत्यारे निकल गये और उन्हें पता तक नही चल सका।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews