NCRB डाटा से खुलासा: दंगे में नंबर वन, हनीमून किडनैपिंग में नंबर टू बना बिहार - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Wednesday, October 23, 2019

NCRB डाटा से खुलासा: दंगे में नंबर वन, हनीमून किडनैपिंग में नंबर टू बना बिहार

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।
अक्की।
पटना। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो, NCRB ने देश के राज्यों अाैर यूटी के लिए वर्ष 2017 में हुए अपराध के आंकड़े जारी किए हैं। आंकड़ों के मुताबिक 2017 में उत्तरप्रदेश अपराध में लगातार तीसरी बार टॉप पर रहा। इसके साथ ही शादी के लिए लड़की का अपहरण, यानि हनीमून किडनैपिंग में भी यह राज्य टॉप पर है।
वहीं बिहार की बात करें तो आंकड़ों के मुताबिक सर्वाधिक दंगे बिहार में हुए। दंगे के मामले में बिहार टॉप पर है तो वहीं हनीमून किडनैपिंग के मामले में यह दूसरे स्थान पर है। 2017 में यूपी में हनीमून किडनैपिंग के 12382, जबकि बिहार में 4777 केस दर्ज किए गए।
बिहार में साल 2017 में दंगों के कुल 11,698 मामले दर्ज किए गए, वहीं उत्तरप्रदेश में यह आंकड़ा 8,990 रहा। इसके बाद तीसरे स्थान पर महाराष्ट्र रहा। साल 2017 ही नहीं, इससे पहले 2016 में भी अन्य राज्यों के मुकाबले बिहार में सबसे ज्यादा दंगे के मामले रिकॉर्ड किेए गए थे।

यूपी में देश के कुल अपराध की 10.1 प्रतिशत वारदातें हुईं। आईपीसी की धाराओं के तहत यहां 3 लाख 10 हजार 84 केस दर्ज किए गए। अपराध के मामले में 2015 व 2016 में भी यूपी टॉप पर था। 2015 से 2017 के बीच यूपी में अपराध का ग्राफ बढ़ा है। महाराष्ट्र क्राइम में दूसरे नंबर पर है, जबकि मध्यप्रदेश तीसरे स्थान पर।
देश में सबसे साक्षर राज्य केरल भी अपराध में चौथे पायदान पर है। वहीं बिहार का स्थान छठा रहा। राज्य में 2017 में 180573 केस दर्ज किए गए। यानी देश का 5.9 फीसदी। 2015 में बिहार 9 वें अाैर 2016 में आठवें स्थान पर था।
2017 में बिहार में दुष्कर्म के 605 केस दर्ज किए गए और यह देश में 13 वें नंबर पर रहा। तो वहीं दुष्कर्म के मामले में भी यूपी टॉप पर है। दुष्कर्म के प्रयास में बिहार छठे स्थान पर, जबकि पश्चिमी बंगाल टॉप पर रहा। 
हत्या की बात करें तो 2017 में यूपी टॉप पर रहा। यूपी में हत्या के 4324 केस दर्ज किए गए। बिहार हत्या में देश में दूसरे स्थान पर रहा। यहां 2803 केस दर्ज किए गए। महिलाओं के साथ छेड़खानी में बिहार 25 वें स्थान पर रहा। 2017 में यहां केवल 42 केस दर्ज किए गए। वहीं यौन उत्पीड़न में बिहार 18 वें स्थान पर रहा। इन दोनों तरह के अपराध में भी यूपी टॉप पर रहा।
फिरौती के लिए अपहरण में बिहार सातवें स्थान पर रहा। 2017 में बिहार में 42 मामले दर्ज किए गए। वहीं कर्नाटक में सर्वाधिक 75 मामले दर्ज हुए। इसके बाद महाराष्ट्र रहा। इसके बाद क्रमश: असम और झारखंड का स्थान रहा।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews