Flood in Bihar: बाढ़ पीड़ितों ने मधेपुरा में CO को बनाया बंधक, गमछा पहना कर गांव में घुमाया - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Saturday, October 5, 2019

Flood in Bihar: बाढ़ पीड़ितों ने मधेपुरा में CO को बनाया बंधक, गमछा पहना कर गांव में घुमाया

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।
अक्की।
न्यूज़ By न्यूज़18।
मधेपुरा. बिहार (Bihar) में आई बाढ़ (Flood) से मची तबाही के बाद अब बाढ़ पीड़ितों का गुस्‍सा भी दिखाई देने लगा है. शनिवार को मधेपुरा (Madhepura) में अंचलाधिकारी/सीओ (CO) शशिभूषण कुमार को बाढ़ पीड़ितों ने बंधक (hostage) बना लिया. इतना ही नहीं, बाढ़ पीड़ितों ने सीओ को गमछा पहना कर उन्हें बाढ़ प्रभावित इलाकों में घुमाया भी. सीओ गमछा पहनकर लोगों के साथ काफी देर तक बाढ़ग्रस्त इलाके में घूम-घूमकर जाएजा लेते रहे. तब जाकर लोगों का गुस्‍सा शांत हुआ.
दरअसल बाढ़ से मधेपुरा पानी-पानी है. एनएच पर पानी, एसएच पर पानी, ग्रामीण सड़क पर पानी, गांव, बस्ती, गली, मोहल्ले सभी जगह बस पानी ही पानी है. लेकिन अधिकारी इस बाढ़ के पानी को आपदा मानने को तैयार नहीं है. बारिश हुए 4 दिन बीत चुके हैं लेकिन लोगों को पानी से कोई राहत नहीं है. ऐसे में मधेपुरा के मुरलीगंज में सीओ शशिभूषण कुमार की जान पर आफत उस वक्त आ गई जब वे क्षेत्र का जायजा लेने अपनी गाड़ी से सिंगीयान पहुंचे. शशिभूषण कुमार को देखते ही लोगों ने घेर लिया.

गमछा पहनकर गांव के इलाकों में जाते सीओ शशिभूषण कुमार 

लोगों ने कहा- सर गाड़ी से उतरिए बस्ती में पैदल तो चलिए
बाढ़ पीड़ितों ने सीओ साहब को इलाके के हालात के बारे में बताया. लोगों ने बताया कि दर्जनों घरों में अभी भी पानी है. सरकार द्वारा कुछ भी सहायता नहीं मिल रही है. सबसे खराब स्थिति पेयजल की है. इस पर सीओ शशिभूषण कुमार का कहना था कि उनके पास किसी तरह का आवंटन नहीं है. इतना सुनते ही लोगों ने कहा- सर गाड़ी से उतरिए बस्ती में पैदल तो चलिए. जब शशिभूषण कुमार ने ना नुकुर किया तो लोगों ने सीओ साहब को गमछा पहना कर पानी में घुमने को मजबूर कर दिया. काफी देर तक साहब पानी में घूमे. शरीर से पानी टपकने लगा.
मदद का आश्वासन मिलने के बाद पीड़ितों ने किया मुक्त
इसके बाद सीओ शशिभूषण कुमार ने बाढ़ पीड़ितों को मदद का आश्वासन दिया. शशिभूषण ने बाढ़ पीड़ितों से कहा कि वो एसडीओ से बात करके उन्हें मदद मुहैया कराएंगे. सीओ साहब से आश्वासन मिलने के बाद गांववालों ने उन्हें मुक्त किया.

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

Total Pageviews