बिहार:सहरसा स्टेशन की रैंकिंग में उछाल, मानसी और खगड़िया को पीछे छोड़ा - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Saturday, October 5, 2019

बिहार:सहरसा स्टेशन की रैंकिंग में उछाल, मानसी और खगड़िया को पीछे छोड़ा

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर:
अक्की:
स्वच्छ रेल स्वच्छ भारत सर्वेक्षण रैंकिंग में सहरसा स्टेशन ने लगातार दूसरे साल भी सुधार लाया है। दो साल में जहां सहरसा स्टेशन की रैंकिंग 105 रैंक ऊपर चली गई है। इस बार 71 रैंक की छलांग लगाते हुए कोसी क्षेत्र के सबसे बड़े स्टेशन सहरसा ने देश भर में 218 वां रैंक हासिल किया है। 
पिछली बार के सर्वेक्षण में सहरसा स्टेशन को 289 वां रैंकिंग मिला था। एनएसजी 3( गैर उपनगरीय) स्टेशन का दर्जा प्राप्त सहरसा स्टेशन ने सफाई व्यवस्था को सुधारते एक बार फिर से मानसी और खगड़िया स्टेशन से अच्छी पोजीशन पाई है। मानसी जहां लुढ़ककर 587 वां रैंक पर पहुंच गया है। वहीं खगड़िया स्टेशन का रैकिंग भी नीचे लुढ़क कर 454 वां रैंक पर पहुंच गया है। पिछले साल और इस बार की रैंकिंग में 162 रैंक का अंतर है।
 खगड़िया को पिछले साल 292 वां रैंक मिला था जो सफाई की लचर व्यवस्था के कारण 454 वां रैंक पर पहुंच गया है। हालांकि सहरसा स्टेशन टॉप टेन या सौ में आए इसके लिए सफाई व्यवस्था में और भी सुधार की जरूरत है। यात्री सुविधा बढ़ाना जरूरी है। समस्तीपुर मंडल के इएनएचएम राजीव कुमार सिंह ने कहा कि लगातार मॉनिटरिंग से सहरसा सहित समस्तीपुर मंडल के स्टेशनों की सफाई व्यवस्था में लगातार सुधार हो रहा है। आगे और भी बेहतर लुक में मंडल के सभी स्टेशन नजर आएंगे। 
कोसी और सीमांचल क्षेत्र में पूर्णिया स्टेशन का रैंकिंग सबसे अच्छा: कोसी और सीमांचल क्षेत्र के स्टेशनों में पूर्णिया स्टेशन का रैंकिंग सबसे अच्छी स्थिति में है। पिछले साल से 95 रैंकिंग उछाल लाते पूर्णिया स्टेशन ने इस बार 142 वां रैंक पाया है। पिछले साल पूर्णिया स्टेशन की रैंकिंग 237 थी। इससे पहले साल 2017 में रैकिंग 249 थी। इस प्रकार देखा जाय तो सहरसा की तरह पूर्णिया स्टेशन की सफाई व्यवस्था भी साल दर साल सुधरती जा रही है।
कटिहार 276 और किशनगंज 291 रैंक नीचे लुढ़का
इस साल कटिहार स्टेशन 276 और किशनगंज स्टेशन 291 रैंक नीचे लुढ़क गया है। कटिहार को इस साल 420 और किशनगंज को 364 रैंक मिले हैं। पिछले साल कटिहार 144 और किशनगंज 73 रैंक पर था। इस साल अररिया कोर्ट स्टेशन को 506, जोगबनी स्टेशन को 595 और नवगछिया स्टेशन को 287 वां रैंक हासिल हुआ है।
 
ग्रीन रेलवे स्टेशन में सहरसा पीछे, किशनगंज अव्वल
स्टेशन क्लीनिंग में अच्छा प्रदर्शन करने वाला सहरसा स्टेशन पहली बार हुए ग्रीन रेलवे स्टेशन रैंकिंग में पिछड़ गया है। कोसी और सीमांचल इलाके में किशनगंज स्टेशन ने सबसे अधिक 51.6 प्रतिशत अंक पाई है। सहरसा स्टेशन को 8.3, पूर्णिया को 27.3, खगड़िया को 13.0, मानसी को 14.3, अररिया कोर्ट को 14.0, जोगबनी को 7.0 और नवगछिया स्टेशन को 16.3 प्रतिशत अंक मिले हैं। यह रैंकिंग सॉलिड वेस्ट, एनर्जी, लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट सहित हरियाली का अध्ययन करते किया गया है। सीएचआई पुष्पक कुमार ने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण में सहरसा स्टेशन की रैंकिंग साल दर साल बेहतर हो रही है। अगले साल ग्रीन रेलवे स्टेशन में भी रैंकिंग अच्छा आएगा उसके लिए भी समुचित कार्य किए जाएंगे।
रैंकिंग में समस्तीपुर मंडल में सहरसा चौथे स्थान पर
समस्तीपुर मंडल में स्वच्छता रैंकिंग में सहरसा स्टेशन इस बार चौथे स्थान पर है। 23 वां रैंक के साथ मोतिहारी पहले, 61 वां रैंक के साथ बेतिया दूसरे और 188 रैंक के साथ समस्तीपुर तीसरे स्थान पर है।
 
जोन में आया पूर्व मध्य रेलवे तीसरे स्थान पर
इस साल पूर्व मध्य रेलवे ने 12 रैकिंग ऊपर जगह बनाते जोन स्तर पर देश में तीसरा स्थान हासिल किया है। ईसीआर के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि उत्तर पश्चिम रेलवे पहले, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे दूसरे और पूर्व मध्य रेल को तीसरा स्थान मिला है। 
720 स्टेशनों का कराया गया था सर्वेक्षण
पिछले महीने दिल्ली से आई क्यूसीआई की दो सदस्यीय टीम ने देश भर के 720 स्टेशनों का स्वच्छता और ग्रीन रेलवे स्टेशन सर्वेक्षण किया था। सर्वेक्षण में स्टेशन, परिसर की सफाई, सुविधा सहित अन्य चीजों का मुआयना करते अंक दिया गया था। यात्री फीडबैक लिया गया था। दो अक्टूबर को गांधी जयंती के दिन रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सर्वेक्षण रिपोर्ट जारी की है।
 
समस्तीपुर मंडल के इएनएचएम,  राजीव कुमार सिंह ने बताया कि  सहरसा सहित समस्तीपुर मंडल के स्टेशनों के रैंकिंग में लगातार सुधार आ रहा है। आगे स्टेशनों पर कई सुविधाएं बढ़ने से रैंकिंग और अच्छे आएंगे। 

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews