सहरसा: बारिश थमने से मिली राहत, जलजमाव से त्रस्त है लोग - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, October 1, 2019

सहरसा: बारिश थमने से मिली राहत, जलजमाव से त्रस्त है लोग

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर:
अक्की:
सहरसा। लगातार पांच दिनों से जारी बारिश थम तो गया है, परंतु पूरा शहर जलजमाव से त्रस्त है। बारिश थमने के बाद भी जिला मुख्यालय का जनजीवन अबतक अस्तव्यस्त बना हुआ है। पूरा शहर जलमग्न है, जिसके लोगों को आवागमन में बेहद परेशानी हो रही है। हर मोहल्ले में पानी जमा रहने के कारण सांध्य आरती में महिलाओं की काफी कम भीड़ जुट रही है।
शहर के हर जर्जर सड़कों व मोहल्लों में पानी जमा हो गया है। हर मोहल्ले में गंदा पानी सड़क पर बह रहा है है। जिससे महिलाओं को नंगे पांच मंदिर पहुंचना कठिन हो गया है। नयाबाजार में डा. आईडी चौक से हरिभवन होते नया बाजार तक मंगलवार को आवागमन चालू तो हुआ,परंतु इस रास्ते पर अब भी पानी लगा हुआ है। महावीर चौक से रिफ्यूजी चौक की ओर जानेवाली सड़क की हालत बेहद खराब है। इसमें साईकिल सवार और दोपहिया वाहन चालक गिरकर चोटिल हो रहे हैं। पैदल पार करना भी कठिन हो रहा है। सहरसा बस्ती, हटियागाछी, बटराहा, मारूफगंज कपड़ा पट्टी, चांदनी चौक, मीर टोला, न्यू कॉलोनी, सहरसा बस्ती,गंगजला गौतम नगर, बम्पर चौक, पालिटेक्निक ढाला जाने वाली सड़कों पर पानी बह रहा है।
यह शहर के किसी एक हिस्से की स्थिति नहीं है। हर मोहल्ले के गलियों व मुख्य सड़कों का भी बुरा हाल है। महावीर चौक से रिफ्यूजी चौक की ओर जानेवाली सड़क पर दर्जनों बड़े- बड़े गड्ढे उभर आए है, जिसमें मामूली बारिश में भी पानी जमा हो जाता है। जर्जर सड़कों पर पानी लग जाने से लोगों को सड़क की वास्तविक स्थिति का पता नहीं चल पाता। फलस्वरूप लोग दुघर्टना के शिकार हो रहे हैं।
----------------
जगह- जगह जाम पड़ा है नाला
-----------
वुडको द्वारा बनाई जा रही नालियों के अलावा शहर में पूर्व में नगर परिषद से बनी छह बड़ी और 21 छोटी नालियां है। हालांकि इन नालियों के पानी के पानी के बहाव का ठोस प्रबंध नहीं है, बावजूद इसके उड़ाही होने से स्थिति बहुत हद तक सामान्य रहती थी। इस वर्ष बरसात के पूर्व नियोजित तरीके से इसकी सफाई नहीं हुई,फलस्वरूप सभी नालियों में उफान आ गया है। जगह- जगह नाला जाम पड़ा हुआ है। शहर के गौतमनगर, विद्यापति नगर, नया, बाजार, गांधी पथ, बटराहा, हटियागाछी, गंगजला, कायस्थ टोला, सहरसा बस्ती समेत लगभग सभी मोहल्ले में नालियों और सड़क के पानी का एक सम्पर्क हो गया है। पूजा के मौके पर लोगों की पवित्रता भंग होने की संभावना बन गई है।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews