बिहार:संतान प्राप्ति के लिए चाचा ने भतीजे की दे दी बलि - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, October 29, 2019

बिहार:संतान प्राप्ति के लिए चाचा ने भतीजे की दे दी बलि

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।
अक्की।

पीरपैंती (भागलपुर) : पीरपैंती इलाके के विनोवा टोला में संतान प्राप्ति के लिए एक ढोंगी तांत्रिक के झांसे में आकर शिवनंदन दास उर्फ शिवा ने रविवार की रात रिश्ते में भतीजे कन्हैया (10) की बलि चढ़ा दी। कन्हैया सिकंदर रविदास का पुत्र था। घटना के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपित तांत्रिक विलास मंडल उर्फ औघड़ बाबा और आरोपित चाचा शिवनंदन दास को गिरफ्तार कर लिया है। एसएसपी आशीष भारती ने बताया कि वे खुद मामले को देख रहे है। आरोपितों पर समय से चार्जशीट कर स्पीडी ट्रायल चलाकर सजा दिलायी जाएगी।
बलि देने की वारदात मृतक घर से महज पचास फीट की दूरी स्थित बांस बिट्टा हुई। रात को जब कन्हैया घर नहीं लौटा तो उसके परिजन उसे इधर उधर ढूंढने लगे। रात भर ढूंढने के बाद सुबह किशोर का शव बांस बिट्टा में मिला। घटना की जानकारी आग की तरह इलाके में पहुंची। सूचना पाकर पीरपैंती थानेदार राकेश कुमार घटनास्थल पर जांच के लिए पहुंचे। स्थानीय लोगों के मुताबिक शिवनंदन दास ने दो शादियां की है। पहली प}ी से कोई संतान नहीं होने पर उसने दूसरी शादी की। लेकिन उससे भी कोई संतान नहीं हुई। 12 साल से उसे संतान नहीं हो रही थी। तभी वह तांत्रिक विलास मंडल के संपर्क में आया। तांत्रिक ने शिवनंदन से कहा कि यदि कार्तिक अमावस की रात किसी रिश्तेदार के बच्चे की बलि देगा तो उसकी प}ी का गर्भ ठहर जाएगा और उसे संतान सुख प्राप्त होगा। तांत्रिक की बात मानकर शिवनंदन ने कन्हैया को दीपावली की रात पटाखा दिलाने के बहाने घर से बहलाकर बाहर ले गया। जिस समय कन्हैया बाहर निकला उसकी मां वहीं थी। वह तीसरी का छात्र है। रात को घर नहीं लौटने पर जब कन्हैय्या की मां समेत अन्य परिवार वाले शिवनंदन के पास पहुंचे तो उसने कहा कि पटाखा दिलाने के बाद उसे घर भेज दिया था। तब परिवार वाले और चिंतित हो गए।

’>>पीरपैंती की वारदात, आरोपित चाचा और तांत्रिक गिरफ्तार
’>>धारदार हथियार से गला रेतकर एवं पेट फाड़कर की हत्या
रोते-बिलखते परिजन और इनसेट में कन्हैया ’ जागरण
घटना को लेकर मां मीना देवी के बयान पर एससी, एसटी की धाराओं में केस दर्ज कर पूरे मामले की गहन जांच करने का निर्देश दिया गया है। अंधविश्वास में गलत कार्य करने वालों पर पुलिस कठोर कार्रवाई करेगी।
- आशीष भारती, एसएसपी, भागलपुर
कद्दू की बलि के बाद दी गई नर बलि
जिस जगह कन्हैया का शव मिला, पास में ही एक कद्दू कटा हुआ मिला। जिसमें सिंदूर लगा हुआ था। ग्रामीणों मुताबिक कद्दू की बलि के पास कन्हैया की बलि धारदार हथियार से दी गई। उसका गला रेतकर पेट फाड़ दिया गया था। उसके शरीर में और कई जगह जख्म के निशान थे। घटना में प्रयुक्त हथियार बरामद नहीं हो सका है। कन्हैया के पिता सिकंदर दास और बड़ा भाई पंजाब में मजदूरी करते हैं। घर में कन्हैया अपने भाई चंदन के साथ रहता था। कन्हैय्या घर का सबसे छोटा था। सूचना मिलने पर कहलगांव एसडीपीओ रेशु कृष्णा ने भी जांच के लिए मौके पर पहुंची थी।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews