मधेपुरा:मां काली की पूजा-अर्चना को उमड़ी भीड़,सरौनी की माँ काली है प्रसिद्ध, भक्तों की मनोकामना करती है पूर्ण - कोशी लाइव

Breaking

CAR KING[MADHEPURA]

CAR KING[MADHEPURA]
बाईपास रोड, पंचमुखी चौक(मधेपुरा)बिहार

तिवारी एजेंसी(सहरसा)

तिवारी एजेंसी(सहरसा)
छड़,सीमेंट,गिट्टी,बालू एवं हार्डवेयर की सामान के लिए संपर्क करें।

THE JABED HABIB

THE JABED HABIB
BEST HAIR AND MAKEUP SLOON

Translate

Monday, 28 October 2019

मधेपुरा:मां काली की पूजा-अर्चना को उमड़ी भीड़,सरौनी की माँ काली है प्रसिद्ध, भक्तों की मनोकामना करती है पूर्ण

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।
अक्की।
Pic:सरौनी।मूर्ति कलाकार:बिजेंद्र मुखिया
 (मधेपुरा): ग्वालपाडा प्रखंड मुख्यालय के अंतर्गत सरौनी कला में माँ काली की सोमवार को मंदिर का पट खुलते ही मां के दर्शन एवं पूजा-पाठ के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। दीपावली के अवसर पर यहां तीन दिनों तक मेले का आयोजन किया जाता है। मनोरंजन के लिए ग्रामीणों के द्वारा भजन कीर्तन एवम संस्कृति प्रोग्राम का आयोजन कमिटी के लोगो के द्वारा किया जाता है।यहाँ सदियों से मां काली की पूजा की जाती रही हैं, बहुत दूर से लोग यहाँ मेले का आनंद लेने पहुंच ते है, मेला में झूला, मौत का कुआं, जादूगर मनोरंजन जैसा चीजें लोगो को आकर्षित करती हैं।
इस बार खास बात ये रही कि मेला में प्रशासन द्वारा सीसीटीव कैमरे लगाए हैं।जिससे असमाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जा रही हैं।प्रशासन के साथ ग्रामीण मिलकर शांति पूर्ण मेला आयोजन की जा रही हैं।
ग्रामीण बताते हैं।कि मां काली की महिमा अपरम्पार है।
जो भी माँ के दरबार में आते हैं खाली हाथ नही लौटते हैं।
मंगलवार की शाम माँ काली की प्रतिमा विसर्जन की जाएगी।


मधेपुरा : काली पूजा को लेकर जिलेभर में काफी उत्साह का माहौल रहा। सभी मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। वहीं इस अवसर पर मेला का भी आयोजन किया गया था। साथ ही कई जगहों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुआ। संवाद सूत्र,आलमनगर के अनुसार : ड्योढी में काली पूजा के दौरान श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। आलमनगर राजघराने द्वारा लगभग 200 वर्ष पूर्व से की जा रही मां काली की पूजा के प्रति लोगों का आस्था इतनी अधिक है कि दूरदराज से लोग मां काली के दर्शन के लिए उमड़ पड़ते हैं। रविवार की रात्रि मां काली की प्रतिमा का स्थापना के उपरांत दर्शन के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। वहीं मां काली को 56 प्रकार के व्यंजन सहित हजारों छाग बली दिया गया। पूजा कर रहे सर्वेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया कि मां काली की पूजा यहां तांत्रिक विधि से की जाती है। प्रखंड क्षेत्र में दीपावली काली पूजा शांतिपूर्ण और सौहार्द भरे माहौल में संपन्न हो इसको लेकर प्रशासन द्वारा सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया गया था। जगह-जगह सीसीटीवी कैमरा एवं पुलिस बल लगाए गए थे।
--------------------------
संवाद सूत्र, मुरलीगंज के अनुसार : प्रखंड के मीरगंज चौक स्थित सार्वजनिक काली मंदिर में धूमधाम से काली पूजा मनाई गई। इस बार काली पूजा को लेकर भक्तों में काफी उत्साह नजर आ रहा है। मीरगंज चौक के काली मंदिर में स्थापित मां काली की प्रतिमा को आकर्षक तरीके से सजाया-संवारा गया है। काली मंदिर मीरगंज के अध्यक्ष मनोज दास, सचिव नजीरुद्दीन तथा जोरगामा पंचायत के मुखिया अभय कुमार गुप्ता उर्फ गुड्डू ने बताया कि पूजा के अवसर पर मां काली मंदिर परिसर में दो दिवसीय मेला का आयोजन किया गया है। इस बार काली पूजा पर मैया जागरण एवं ग्रामीणों द्वारा ड्रामा का आयोजन किया गया है। मंदिर के मुख्य पुजारी ने बताया कि मंदिर में पूजा अर्चना हर्षोल्लास और विधि विधान के साथ किया जा रहा है। मौके पर जोरगामा पंचायत के पूर्व मुखिया मिथिलेश कुमार आर्य, समाजसेवी भारत भूषण सिंह,मेला कमिटी के रविन्द्र साह, बिनोद साह, उपेंद्र नारायण चौपाल, अखिलेश पासवान, लालेश्वर साह आदि कई का सराहनीय योगदान रहा।---------------------------
----------------------------
संवाद सूत्र, कुमारखंड (मधेपुरा): प्रखंड के रामनगर महेश में गृह देवी के पूजा किया गया। साथ ही भजन कीर्तन कर प्राचीन काली मंदिर पहुंचकर लोगों ने मां काली की पूजा की। मंदिर के पुजारी ब्रह्मानंद ठाकुर ने बताया कि रामनगर महेश गांव में करीब एक सौ चौदह वर्ष पहले स्थापित काली मंदिर की महिमा अपरंपार है। काली पूजा के अवसर पर आयोजित मेला में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया है। मेला पूजा आयोजन समिति के अध्यक्ष गिरिजानंद ठाकुर बच्चन, सचिव पंडित जयचंद्र झा, केदार प्रसाद साह, नारायण झा, इन्द्रनाथ झा, सुधीर ठाकुर, कैलाशपति झा,बिन्देश्वरी राय, बिमलचंद्र झा, कामोज मिश्र, देवेश झा, निर्मल कुमार झा उ़र्फ मंटू, मानस झा, मिहिर झा, मनोज झा सहित अन्य ग्रामीण काली पूजा और मेला सुरक्षा एवं सफलता में लगे हुए हैं।
--------------------------
संवाद सूत्र, गम्हरिया के अनुसार : प्रखंड के ईटवा जीवछपुर पंचायत स्थित सिहेश्वर-सुपौल राज पथ के किनारे जीवछपुर गांव स्थित काली मंदिर परिसर में भव्य मेला का आयोजन किया गया। मेला कमिटी के अध्यक्ष प्रभात कुमार प्रभाकर ने बताया कि दीपावली के अवसर पर जीवछपुर में भव्य काली पूजा का आयोजन किया गया है। मौके पर बनारस, भागलपुर और सहरसा के पहलवानों के द्वारा कुश्ती दंगल का आयोजन किया जाता है।
-------------------------
संवाद सूत्र,पुरैनी के अनुसार : प्रकाश पर्व दीपावली के मौके पर प्रखंड अंतर्गत औराय पंचायत के औराय गोठ एवं मरूवाही बस्ती स्थित बम काली मंदिर में रविवार की देर संध्या श्रद्धालुओं ने भक्ति भावना के साथ पूजा-अर्चना एवं उपासना की। सोमवार की संध्या में भव्य शोभायात्रा निकालकर अश्रुपूर्ण नेत्रों से मां काली सहित विभिन्न देवी-देवताओं की प्रतिमा को तालाब के जल में विसर्जित किया गया। मौके पर उक्त दोनों स्थानों पर जहां पूजा कमेटी ने मंदिर परिसर को आकर्षक ढंग से सजाया था। औराय गोठ बस्ती में मेला कमेटी अध्यक्ष दिनेश चौधरी एवं मरूवाही में अध्यक्ष अशोक पोद्दार की अध्यक्षता में मेला एवं नाटक सह सांस्कृतिक कार्यक्रम का उद्घाटन स्थानीय विधायक सह मंत्री नरेन्द्र नारायण यादव ने की। दोनों स्थानों पर मेला एवं नाटक सह सांस्कृतिक कार्यक्रम उद्घाटन के मौके पर प्रखंड जदयू अध्यक्ष शैलेंद्र कुमार, पंसस प्रतिनिधि सिकंदर चौरसिया, जदयू खेल प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव आलोक राज, जिला प्रवक्ता निर्मल ठाकुर, मोहम्मद अबरार उर्फ हीरा, संजय साह,विजय सिंह, सिकंदर शर्मा, पप्पू शर्मा, मानवेश्वर मेहतर, सुबोध उर्फ पप्पू सिंह, सुधीर पोद्दार,छंगुरी ऋषिदेव, मोहन ऋषिदेव, मकुनदेव ऋषिदेव, चुनचुन ऋषिदेव, डॉक्टर निवास, पप्पू पोद्दार सहित दर्जनों अन्य उपस्थित थे।
मधेपुरा।
सहरसा। क्षेत्र के विभिन्न पंचायतों में मां काली की पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही। सहशौल, डुमरा, टेहरा व सिमरिया में तीन दिवसीय मेले का आयोजन किया गया है। सोमवार को लगमा पंचायत के डुमरा स्थित मंदिर में मां काली की पूजा अर्चना के साथ भैंसा व दर्जनों छाग की बलि प्रदान की गई। डुमरा मेला कमेटी के अध्यक्ष अनिल कुमार सिंह ने बताया कि डुमरा में पिछले पचास वर्षों से मां काली की पूजा अर्चना के साथ मेले का आयोजन किया जाता रहा है। इस वर्ष भी अन्य वर्षों की तरह तीन दिवसीय सांस्कृतिक व धार्मिक कार्यक्रम के साथ अगले 29 व 30 अक्टूबर को दंगल प्रतियोगिता का आयोजन किया जाना है। जिसमें राजस्थान, उत्तर प्रदेश के बनारस, नेपाल व स्थानीय पहलवान अपने दांव पेंच से दर्शकों का मनोरंजन करेंगे। डुमरा में आयोजित मेला को सफल बनाने में कमेटी के सचिव ज्योतिष कुमार सिंह, कोषाध्यक्ष जितेंद्र कुमार सिंह समेत शिवकुमार सिंह, रामभज्जु यादव, देवनारायण पंडित, बुचकून साव, जमशेद आलम, सूरज महतो, पृथ्वी महतो, नंदकिशोर सिंह, रामप्रवेश यादव, गजेंद्र यादव, कुंदन यादव, सुरेंद्र नारायण सिंह, मुन्ना सिंह, किशोर पंडित समेत अन्य ग्रामीण जुटे हैं।

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

KOSHILIVE

Only news Complete news. मधेपुरा,सहरसा,सुपौल एवं बिहार की अन्य जिलों की खबरों का संग्रह। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Connect With us

Pages