सहरसा:"मुझे अब जीने की नहीं है इच्छा"लिखकर युवक ने की आत्महत्या - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Wednesday, October 23, 2019

सहरसा:"मुझे अब जीने की नहीं है इच्छा"लिखकर युवक ने की आत्महत्या

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।
अक्की।
फ़ाइल फ़ोटो
सहरसा। शहर के शारदा नगर मोहल्ले में मंगलवार की शाम एक युवक ने एक स्टूल पर मुझे अब जीने की नहीं है इच्छा लिखकर खुद को फांसी लगा ली। सूचना पर पहुंचे सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी, सदर थानाध्यक्ष राजमणि ने मामले की छानबीन की।
जानकारी के अनुसार, मूल रूप से धमसैनी गांव निवासी सत्येन्द्र मिश्रा के पुत्र प्रफुल्ल कुमार मिश्रा (30) का शव घर में फंदे से लटका मिला। युवक के पिता ने बताया कि करीब पांच माह पूर्व उसकी शादी हुई थी। वह चार दिनों के बाद अपने ससुराल से लौटा था। उसके आने के बाद घर के अन्य सदस्य दीपावली की तैयारी करने को लेकर अपने गांव धमसैनी चले गये। शाम में जब अपने पुत्र को फोन किये तो उसने रिसीव नहीं किया। जिसके बाद किरायेदार को फोन कर अपने पुत्र के बारे में जानकारी ली तो पता चला कि उसने फांसी लगा ली। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। सूचना पर सदर थानाध्यक्ष पहुंचे और मामले की छानबीन शुरू की तो एक स्टूल पर लिखा हुआ मिला कि मुझे अब जीने की इच्छा नहीं है। जिसके बाद उसके लिखावट का मिलान भी किया गया। बाद में सदर एसडीपीओ भी पहुंचे और मामले की जानकारी ली। थानाध्यक्ष ने बताया कि प्रथम द्रष्टया मामला आत्महत्या का ही प्रतीत हो रहा है। जिसके कारणों की पड़ताल की जा रही है।
Updates
स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के अनुसार
ग्रामीण: इनके पापा रिटायर संगीत प्रोफेसर रह चुके हैं आज से 6 महीना पहले इनकी शादी हुई थी और उनके बड़े भाई जॉब में है वह भी यह से बाहर रहते है मां नहीं है सिर्फ ये और इनके पापा रहते थे पैसे की जरूरत था इनको   मगर पापा मना कर दिए उसके बाद गुस्सा से ससुराल चला गया और कल साम में आया वह ससुराल से सहरसा । उस वक्त इनके पापा मेरे गाव।(धमसैनि) में ही थे। यह कॉल करके बुलाया मार्केट जब तक गया तबतक वह फासी लगा चुका था 
और इनकी पत्नी प्रेग्नेंट है।


SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews