सुपौल: एक और मामला सामने आया है जिसमें कश्मीर से 'गायब' एक युवती की तलाश के लिए J&K पुलिस एक बार फिर सुपौल पहुंची है. - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, September 3, 2019

सुपौल: एक और मामला सामने आया है जिसमें कश्मीर से 'गायब' एक युवती की तलाश के लिए J&K पुलिस एक बार फिर सुपौल पहुंची है.

कोशी लाइव:अक्की

सुपौल. बीते दिनों एक खबर काफी सुर्खियों में रही थी जिसमें  बिहार के सुपौल जिले के रहने वाले दो भाइयों ने कश्मीर (Kashmir) की लड़कियों से शादी (Marriage) रचाई थी. इन दोनों को  दोनों भाइयों को दोनों लड़कियों के अपहरण (Kidnapping) के मामले में कश्मीर पुलिस (Kashmir Police) ट्रांजिट रिमांड  (Tranjit Remand) पर अपने साथ ले गई है. बता दें कि लड़कियों के पिता ने उनके अपहरण की बात कहकर मुकदमा दर्ज करवाया है. यही वजह रही कि मैरेज सर्टिफिकेट (Certificate of marriage) पेश करने के बाद भी इन चारों को कश्मीर ले जाया गया.
हालांकि दोनों बहनों ने सुपौल की राघोपुर पुलिस के सामने यह बयान दिया था कि वह अपने प्यार के लिए कश्मीर छोड़कर सुपौल आई थीं. बहरहाल दोनों बहनों के प्यार (Love) की कहानी कोर्ट-कचहरी के चक्कर में फंस गई है. इस बीच एक और मामला सामने आया है जिसमें कश्मीर से 'गायब' एक युवती की तलाश के लिए J&K पुलिस एक बार फिर सुपौल पहुंची है.
मीडिया से बात करती सुपौल से बरामद हुई कश्मीर की युवती
सुपौल के राघोपुर इलाके में छापेमारी
जम्मू-कश्मीर पुलिस की एक टीम सुपौल के राघोपुर पुलिस की मदद से लड़की की तलाश में लगी हुई है. बताया जा रहा है कि राघोपुर के दीवानगंज इलाके में फिलहाल छापेमारी जारी है. सूत्रों के अनुसार जम्मू-कश्मीर पुलिस का कहना है कि ये लड़की भी भगाई गई है और सुपौल ही लाई गई है.
पुलिस फिलहाल नहीं दे रही जानकारी


हालांकि इस मामले में जब कोशी लाइव ने जानकारी लेनी चाही तो फिलहाल न तो सुपौल पुलिस कुछ बता रही है और न ही जम्मू-कश्मीर पुलिस. बहरहाल दो भाइयों और दो सगी बहनों की शादी वाला मामला भी सुपौल के इसी  इलाके (राघोपुर) से ताल्लुक रखते हैं. यहां की अधिकतर अबादी बाहर मजदूरी के लिए गई है.
शादी की नहीं हो रही थी हिम्मत
बता दें कि तबरेज और परवेज नाम के दोनों भाइयों को कश्मीर में ही प्यार हुआ था. वो कश्मीर में रहकर राज मिस्त्री का काम करते थे. दोनों भाइयों प्यार तो पिछले तीन सालों से चल रहा था, मगर शादी करने की हिम्मत नहीं हो रही थी.
कश्मीर की दोनों बहनों से शादी रचाने वाले भाई वहां राज मिस्त्री का काम करते थे (बिहार के सुपौल थाना में कश्मीर पुलिस के अधिकारी)
धारा 370 हटने से बढ़ा हौसला
युवकों का कहना है कि अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला आ गया तब उन्हें लगा कि जिससे प्यार करते हैं उसे अपने पास बुला लेना चाहिए. सुपौल पुलिस की पूछताछ में लड़कियों ने बताया था कि अनुच्छेद 370 के प्रावधानों के खात्मे के बाद उनमें असुरक्षा का भाव आ गया था.
इनपुट- अमित कुमार झा

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

Total Pageviews