सहरसा:तीन दिवसीय श्री उग्रतारा सांस्कृतिक महोत्सव का हुआ आगाज - कोशी लाइव

Breaking

CAR KING[MADHEPURA]

CAR KING[MADHEPURA]
बाईपास रोड, पंचमुखी चौक(मधेपुरा)बिहार

तिवारी एजेंसी(सहरसा)

तिवारी एजेंसी(सहरसा)
छड़,सीमेंट,गिट्टी,बालू एवं हार्डवेयर की सामान के लिए संपर्क करें।

THE JABED HABIB

THE JABED HABIB
BEST HAIR AND MAKEUP SLOON

Translate

Monday, 30 September 2019

सहरसा:तीन दिवसीय श्री उग्रतारा सांस्कृतिक महोत्सव का हुआ आगाज

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।
 *तीन दिवसीय उग्रतारा सांस्कृतिक महोत्सव का हुआ आगाज*

_डीआईजी सहित अन्य अधिकारियों ने दीप प्रज्वलित कर किया उद्धघाटन_

सहरसा से रितेश : हन्नी की रिपोर्ट - 

सहरसा - जिले के महिषी के क्रीड़ा मैदान में तीन दिवसीय उग्रतारा सांस्कृतिक महोत्सव का विधिवत उद्धघाटन कोसी प्रक्षेत्र के डीआईजी सुरेश प्रसाद चौधरी, डीएम शैलजा शर्मा, एसपी राकेश कुमार, उग्रतारा न्यास के उपाध्यक्ष प्रमील कुमार मिश्र ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। इस दौरान सबसे पहले महिषी वेद अध्ययन केन्द्र के बच्चों द्वारा वेद पाठ उच्चारण किया। कार्यक्रम मंच संचालन मुक्तेश्वर सिंह मुकेश ने किया। उद्धघाटन के मौके पर स्मारिका का भी विमोचन किया गया। वहीं जिला प्रशासन की ओर से बुके देकर आगत अतिथियों का स्वागत भी किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डीआईजी सुरेश प्रसाद चौधरी ने अपने सम्बोधन में कहा कि महिषी ज्ञान की धरती है। जहाँ एक से बढकर एक विद्वान व विदूषी हुए हैं। यहाँ आकर मैं अपने आप को काफी गौरवान्वित महसुस कर रहा हूँ। उन्होने कहा कि बंगाल स्थित तारापीठ और उग्रतारा स्थान दोनों ही शक्ति पीठ सिद्धस्थल है। पर्यटन विभाग के माध्यम से मिथिला की संस्कृति को अधिक से अधिक लोग जाने इसे उजागर किया जाएगा। वहीं जिलाधिकारी शैलजा शर्मा ने अपने सम्बोधन में कहा कि उग्रतारा सांस्कृतिक महोत्सव का मुख्य उद्देश्य मिथिला की संस्कृति का पुनर्जागरण हो। यह कोसी का इलाका बाढ़ की विभिषिका से त्रसित होने के बावजूद यहाँ के लोगों का मनोबल काफी उँचा है। उन्होने कहा इस धाम को विकसित करने के लिए जिला प्रशासन प्रतिबद्ध है। इस मौके पर एक वेबसाइट भी लाॅच किया गया है। जिसमें एतिहासिक, अध्यात्मिक, धार्मिक, प्रतिवर्ष होने वाले सेमिनार का भाषण, व्याख्यान तथा न्यास की सारी जानकारी उपलब्ध कराया गया है। इस अवसर पर अन्य वक्ताओं ने अपने अपने सम्बोधन में क्षेत्र की संस्कृति की चर्चा करते हुए महिषी के गौरवशाली व धार्मिक महत्व पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम के दुसरे सत्र में स्वरांजलि के बच्चों द्वारा मंडन धाम में आये अतिथियों के लिए स्वागत गान की प्रस्तुति देकर दर्शकों का मन मोह लिया। जिसमें प्रो. अमरेन्द मिश्र आगा, प्रो० गौतम कुमार सिंह, रश्मि कुमारी, श्रेया झा, अदिति किरण, बॉबी, रश्मि ठाकुर, सुमित सुमन, नीतू कुमारी, ब्यूटी श्री, माही कुमारी, सौम्या राय, जैसमिन, खुशी, साक्षी समृद्धि, शिल्पी, सृष्टि, नीतू राय, प्रियांशी पटेल, साक्षी राज ,सुषमा कुमारी, प्रगति प्रिया, संचिता राज सौम्या सिंह, ब्यूटी श्री सहित सभी कलाकारो ने अपनी अमिट छाप छोड़ी। बारिश एवं आचार संहिता ने महोत्सव के उद्धघाटन सत्र को फीका किया। हालांकि अन्य वर्षो में खास तौर पर महोत्सव में इलाके के लोगों की भारी भीड़ उमड़ती रही थी लेकिन इस बार लगातर हो रहे बारिश और सिमरी बख्तियारपुर उपचुनाव को लेकर ज़िले में लगे आचार संहिता के कारण राजनीतिक दलों के नेता के कार्यक्रम में शामिल नहीं होने से भी कार्यक्रम फीका रहा। तीन दिवसीय उग्रतारा सांस्कृतिक महोत्सव में जिला प्रशासन द्वारा सुरक्षा व्यवस्था का भी पुख्ता इंतजाम किया गया है। मौके पर डीडीसी राजेश कुमार सिंह, एडीएम धीरेन्द्र कुमार झा, एसडीओ शम्भुनाथ झा, मुख्यालय डीएसपी रश्मि, एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी, बीडीओ परशुराम सिंह, महिषी थानाध्यक्ष कमलेश कुमार, उग्रतारा माता न्यास समिति के सचिव पीयूष रंजन सहित अन्य मौजूद रहे।

हम तो हैं परदेश में, देश में निकला होगा चांद..


सहरसा: उग्रतारा सांस्कृतिक महोत्सव के उद्घाटन के मौके पर स्वरांजलि के कलाकारों ने एक-से-एक गीत, भजन, भगवती वंदना आदि के माध्यम से समां बांध दिया। श्वेता झा ने हम तो हैं परदेश में देश में निकला होगा चांद, तोहरे अंगनवां ब्रह्माबाबा झूलवा बनैलिए, झूलवे पर होए न सहाय गाकर लोगों का खूब मनोरंजन किया। गाम के अधिकारी गीत पर खूब ताली बटोरी। भगवती नृत्य, जय-जय से महिषासुर मर्दिनी- रम्यक पदिनी शैल सूते पर कलाकार ने दर्शकों में रोमांच भर दिया। कार्यक्रम की शुरूआत स्वागत गीत स्वागतम, शुभ स्वागतम, आनंद मंगल मंगलम से हुई। इस गीत पर स्वरांजलि की बच्चियों ने बेहतरीन नृत्य प्रस्तुत किया। जबकि आकाशवाणी कलाकार मैया तारा से पूजा ले दै छी हकार गाकर लोगों को झूमने के लिए मजबूर कर दिया। उद्घाटन सत्र में इन लोगों ने गीत संगीत का समां बांध दिया, जिसकी लोगों ने खूब प्रशंसा की। प्रशासनिक अधिकारियों ने कहा कि यहां की बच्चियों में कूट- कूटकर प्रतिभा भरा है। अगर इनलोगों को उचित प्रशिक्षण मिले, तो ये लोग भी आसमान की बुलंदी को छू सकते हैं।


 सहरसा,रिपोर्टर

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

KOSHILIVE

Only news Complete news. मधेपुरा,सहरसा,सुपौल एवं बिहार की अन्य जिलों की खबरों का संग्रह। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Connect With us

Pages