खगड़िया/बेलदौर: शौचालय निर्माण की गति धीमी,वजह शौचालय बनाने के बाद भी प्रोत्साहन राशि लाभूकों को नही देना, - कोशी लाइव

Breaking

कोशी लाइव एप्प को डाऊनलोड करें।

CAR KING (MADHEPURA)

CAR KING (MADHEPURA)

THE JAWED HABIB

THE JAWED HABIB
SALOON FOR MEN AND WOMEN

तिवारी एजेंसी(सहरसा)

तिवारी एजेंसी(सहरसा)
छड़,सीमेंट,गिट्टी,बालू एवं हार्डवेयर की सामान के लिए संपर्क करें।

Translate

Monday, 2 September 2019

खगड़िया/बेलदौर: शौचालय निर्माण की गति धीमी,वजह शौचालय बनाने के बाद भी प्रोत्साहन राशि लाभूकों को नही देना,

कोशी लाइव: रतूल कु सोनी

बेलदौर प्रखंड में सौचालय निर्माण की गति धीमी,वजह सौचालय बनाने के बाद भी प्रोत्साहन राशि लाभूकों को नही देना,



बेलदौर प्रखंड अंतर्गत सुमलेश कुमार यादव  कैंजरी पंचायत को कागज पर ही  ऑडिफ घोषित कर दिया गया है.आपको विश्वास नही होता होगा लेकिन ये सो प्रतिशत सत्य है.  बड़े बुजुर्गों का माने तो कैंजरी पंचायत के वार्ड नंबर 6 लालघाट मुसहरी में 70 महादलित परिवार रहते हैं जिसमें एक भी सदस्य के पास अपना शौचालय नहीं है .वार्ड नंबर 7 में एक टोला गर्रहा मुसहरी है जहां लगभग 130 महादलित परिवार रहते हैं ,उसके पास तीन से चार सौचालय होगा बांकी सौच के लिए बाहर ही जाते हैं. उसी वाड में महादलित टोला बलुआहा मुसहरी है जहां लगभग 30 महादलित परिवार रहते हैं ,वहां भी विभागीय पदाधिकारी नही जाते हैं जिसके कारण एक भी शौचालय नहीं बन पाया है,सब सौच के लिए बाहर ही जाते हैं. वार्ड नंबर 12 बीड़ाघाट मुसहरी जहां लगभग 140 महादलित परिवार रहते हैं उनके पास भी 5/6 सौचालय है बांकी शौचालय नहीं बना पाया है और सभी सौच करने बाहर ही जाते हैं. वार्ड नंबर 10  में भी लगभग 130 महादलित परिवार रहते हैं उनके पास भी 8/10सौचालय होगा बाकी परिवार बिना शौचालय का  ही है. बांकी सभी बाहर शौच के लिए जाते हैं .कैंजरी पंचायत में अगर कोई पदाधिकारी आकर यह कहते हैं कि यह पंचायत शौच मुक्त हो चुका है,या हो गया है तो वह बेमानी और धोखा जनता के साथ करते हैं,  बेलदौर प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी गांधी जी के सपनों को चकनाचूर करना चाहते हैं. बिहार एवं केंद्र सरकार के द्वारा जो सौच मुक्त भारत बनाने का सपना संयोगे हुए हैं उस पर बेलदौर प्रखंड विकास पदाधिकारी पानी फेरना चाहते हैं. जिसका परिणाम है कि कैंजरी पंचायत में शौचालय नहीं बनवाया जा रहा है. जो बना भी है उसका भुगतान शसमय से नही किया जा रहा है.

बेला नौवाद पंचायत के सरपंच शशी शर्मा ने बताया कि हमें जानकारी मिली है की बेलदौर प्रखंड क्षेत्र में लगभग 300सो लाभूकों को बिना शौचालय निर्माण का ही प्रोत्साहन राशि का भुगतान कर दिया गया है, उन्होने बताया कि हमें जानकारी मिली है कि 1500 सो शौचालय का भुगतान हुआ जो सरकारी मोडल अनुसार नही है सुत्रों का माने तो 2000 उस सौचालय का भुगतान हुआ जो पाँच वर्ष पहले का बना हुआ है ,


अगर आपको ये देखना है कि सौचालय निर्माण की गति क्या  है? और धीमी क्यों है तो आप कैंजरी पंचायत के किसी भी वाड में देखेंगें की लाभूकों का विश्वास विभागीय पदाधिकारी के उपर नही रहा है. अगर आपको देखना है कि प्रोत्साहन राशि भुगतान की गती क्या है? सौचालय निर्माण के बाद, प्रोत्साहन राशि देने के बाद लाभूकों से कमिसन कैसे बसुल किया जाएगा? जियौ टैग में लाभूकों से कैसे रूपया लिया जाएगा?  फौल्स जियो टैग के नाम पर अवैध बसुली कैसे किया किया जाता है? अगर आपको ये सब देखना और सिखना है तो आप कैंजरी पंचायत के किसी भी वाड में  जाकर सिख सकते हैं,और देख भी  सकते हैं, जहाँ ब्लाउककोडिनेटर एवं बिडीयो का दलाल घुम रहा होगा, इस बात को बल तब मिलता है जब छ:महिने, पहले जिसका जियो टैग हो गया था, एडभाईस बन गया था, लेकिन उनको अभी तक प्रोत्साहन राशि नही दिया गया है.ब्लाउक कोडिनेटर बहाना बनाकर टाल मटोल करते रहते हैं की,  जिला और राज्य स्तर पर प्रोत्साहन राशि रूका हुआ है.लाभूकों के साथ प्रखंड विकास पदाधिकारी बहाना बनाते हैं कि सौचालय मोडल अनुसार नही है. लाभूक जब प्रखंड विकास पदाधिकारी को जबाव देते हैं की इससे पहले आप हमारे बगल में जिसको प्रोत्साहन राशि का भुगतान किए हैं  उसका  भी सौचालय मानक अनुसार नही है, उनका बहुत पुरानी है,उसके एवज में तो हमारा बहुत सुंदर है फिर भी बिडीयो प्रोत्साहन राशि का भुगतान नही करते हैं. सुत्रों के अनुसार जो दलाल पंचायत में घूमते हैं उन्हीं के अनुसार प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जाता है चाहे वह बिना शौचालय का ही भूगतान क्यों न करवा दें?एक ही सौचालय पर दो दो तीन तीन बार क्यो न भुगतान  हो जाय. इससे  प्रखंड विकास पदाधिकारी को कुछ फर्क नहीं पड़ता है.बताया जा रहा है जब से बेलदौर प्रखंड में नया कोडिनेटर सलेन्दर कुमार आया है, तब से सौचालय निर्माण, जियो टैग,और  भूगतान के गती में गिरावट आई है, जो की चिंता जनक बातें हैं.इस तरह के लापरवाह और घमंड पदाधिकारी के रहते हुए विहार किया, बेलदौर प्रखंड के एक वाड भी पुर्ण रूप से ओडियफ घोषित नही हो सकता है?  हाँ जनता को धोखे में रखकर, गुमराह कर,और ठगकर तो पुरे भारत को ओडियफ कर सकते हैं. कागजी घोड़ा दोरा सकते हैं लेकिन सही और हकिकत  ओडियफ करना तो असंभव है.सुत्रों के अनुसार रिका देवी पिता सकेन यादव, रंजित कुमार पिता भुटो रजक, उषा देवी पति शालिग्राम यादव, नंन्दनी कुमारी पती रोहित पंडित, सोभा देवी पति गाजो साह, पुजा कुमारी पति बिनोद कुमार, सरस्वती देवी पति हेमचन्दर साह, का सौचालय पूर्ण है लेकिन ब्लाउककोडिनेटर सलेन्दर कुमार एवं बेलदौर प्रखंड विकास पदाधिकारी के लापरवाही के कारण इन सबों लाभूकों को प्रोत्साहन राशि नही दिया जा रहा है  जिससे सभी लाभूकों में विभागीय पदाधिकारी के प्रति भ्रम पैदा हो गया है चारो तरफ  चर्चा हो रही है जब ये सब सौचालय बनाकर छ:महिने से बेलदौर प्रखंड का चक्रर लगा रहे हैं तो अभी तक इनको रूपया नही दिया है हमको भी इसी तरह से ये सब पदाधिकारी ठगेगा, इसलिए ग्रामीण सौचालय बनाना बंद कर दिए हैं, जिसके कारण कैंजरी पंचायत में सौचालय निर्माण बंद हो गया है. सुत्रों के अनुसार एक भी पदाधिकारी कैंजरी पंचायत घुमने नही आता है न ही कभी सौचालय संबंधित मीटिंग करते हैं.लाभूक अमित कुमार पिता सुभाष कुमार,दुरिया देवी पति चलिक्तर राम, मीरा देवी पति मिथलेस राम, रामपरी देवी पति केशो राम, का सौचालय 6 महिना पहले ही रूपया सुद पर लेकर बनाया था, जिसका अभी तक जियो टैग भी नही किया गया है, लेकिन बिना शौचालय का सेकरों जियो टैग हो गया है.


 अपना गर्दन बचाने के लिए प्रखंड विकास पदाधिकारी बेलदौर शशिभूषण कुमार ने प्रोत्साहन राशि में अवैध वसुली का बहाना बनाकर कैंजरी पंचायत के सभी सीएलटीएस को बेलदौर बिडीयो ने चयन मुक्त कर दिये हैं अब सवाल उठता है कि विना सौचालय का जो प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया गया है लाभूकों को उसका दोसी सिर्फ सीएलटीएस ही है. जबकि लाभूकों को प्रोत्साहन राशि का भुगतान बिडीयो लोगीन से किया जाता है, गलत भुगतान करवाने का दौसी बेलदौर  बिडीयी और ब्लाउककोडिनेटर है, लाभूकों ने इसकी जाँच जिला पदाधिकारी से करवाने की मांग की है.

सुत्रों के अनुसार कुछ दिन पहले

बेलदौर प्रखंड अंतर्गत कंजरी पंचायत के वार्ड नंबर 3,4,16,10, 8 और 13 में मास्टर ट्रेनर नवल किशोर यादव ने शौचालय निर्माण की जांच की थी,  अपने जांच में मास्टर ट्रेनर ने पाया की कंजरी पंचायत में शौचालय निर्माण से लेकर भुगतान तक में भारी अनियमितता है कहीं शौचालय बना ही नहीं है और भुगतान कर दिया गया है .कहीं शौचालय है भी तो आधा अधूरा है और प्रोत्साहन राशि लाभुकों को बिचोलिया के माध्यम से दे दिया गया है ,कंजरी पंचायत के वार्ड नंबर 8 में बालों भगत, हरि भगत ,शुरू भगत ,के पास एक ही शौचालय था ,लेकिन इन तीनो भाई को शौचालय की प्रोत्साहन राशि की भुगतान कर दिया गया था. एक ही शौचालय पर तीनों भाई दावेदारी दे रहे हैं. लेकिन अब इन लोगों ने सौचालय बनवा लिया है,  रंजू देवी पति फुल कुमार सिंह को शौचालय नहीं था लेकिन वह बता रहे थे कि हम से 25 सो रुपैया सीएलटीएस गौतम कुमार लिया है और हम को प्रोत्साहन राशि दिलवाया है ,कुछ सैचालय पन्नी का बना हुआ है तो कुछ टीन और चगरा का बना हुआ था ,इस तरह बना हुआ अर्धनिर्मित शौचालय का भुगतान कैसे हो गया यह जांच का विषय है ,बिना शौचालय का जियो टैग कैसे हो गया और जांचकर्ता जांच रिपोर्ट कैसे दे दिए इतना ही नहीं प्रोत्साहन राशि भी दिलवा दिए.

जब लाभुकों से मास्टर ट्रेनर नवल किशोर यादव ने पूछा कि अर्ध निर्मित शौचालय का प्रोत्साहन राशि आपने कैसे लिया तो लाभुकों ने बताया कि अर्ध निर्मित शौचालय का भुगतान हमने ₹2000 घूस देकर पास करवाया था. फिर जांचकर्ता ने पूछा कि ₹2000 आपसे किसने लिया तो लाभुकों ने बताया कि गौतम मुनाजिर ने हमसे ₹2000 लेकर शौचालय का भुगतान किया है गौतम कुमार सीएलटीएस है,चिंता की बात यह है कि बिना शौचालय का जियो टैग कैसे हो जा रहा है, आखिर इसका जिम्मेदार कौन हैं, काफी दवाव के बाद अब ये सब लाभूक अपना सौचालय पुर्ण कर लिया है. बताया जा रहा है कि गरीब लाभूकों  5 रूपया सेकरा पर रुपैया लेकर अपना शौचालय बनवाया है उनका अभी तक विभाग के लापरवाही के कारण भुगतान नहीं हो पा रहा है. वार्ड नंबर 6 के बाल्मीकि पंडित का शौचालय अधूरा है लेकिन उन्हें प्रोत्साहन राशि मिल गया है वाड 06 के राजेन्द्र गुप्ता को सौचालय नही है लेकिन प्रोत्साहन राशि दे दिया गया है .वही बालमिकी पंडित का लड़का कुंदन कुमार जो कि नाबालिग बताया जा रहा है उनके नाम से भी बिना शौचालय का एडवाइज बनकर तैयार है ,इसका जिम्मेदार कौन हैं जयमाला देवी का शौचालय कपड़े का बना हुआ था उन्होंने मास्टर ट्रेनर को बताई थी कि हम को प्रोत्साहन राशि मिल चुका है 2000 रूपया लेकर गौतम कुमार ने हमको रुपैया दिलवाया है ,जो की जांच का विषय है इस भ्रष्टाचारी पदाधिकारी के खिलाफ अवाज उठाने के कारण जाँच कर्ता एवं माष्टर ट्रेनर नवलकिशोर कुमार के साथ साथ सभी सीएलटीएस को भी बेलदौर बिडीयो के द्वारा  हटा दिया गया है,जो सौचालय में गलत भूगतान के खिलाफ अवाज उठाते हैं या शिकायत करते हैं उसे डिडीसी के सहयोग से प्रखंड विकास पदाधिकारी बेलदौर चयन मुक्त ही कर देते हैं.।

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

Total Pageviews

THE JABED HABIB

THE JABED HABIB
BEST HAIR AND MAKEUP SLOON

Follow ME

KOSHILIVE

Only news Complete news. मधेपुरा,सहरसा,सुपौल एवं बिहार की अन्य जिलों की खबरों का संग्रह। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

जूली वस्त्रालय