सहरसा:बाबा साहब की प्रतिमा तोड़ना दुर्भाग्यपूर्ण - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Saturday, September 7, 2019

सहरसा:बाबा साहब की प्रतिमा तोड़ना दुर्भाग्यपूर्ण

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर
....विकास तांती

संविधान बचाओ संघर्ष समिति के द्वारा शनिवार को आम्बेडकर चौक स्थित बाबा साहब भीम राव आम्बेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त किए जाने और आंदोलनकारियों पर मुकदमा दायर करने के खिलाफ बहुजन रैली का आयोजन किया गया। वक्ताओं द्वारा महापुरुषों की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने को एक सुनियोजित साजिश बताया गया।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से राजद के अलावा लोजद, हम पार्टी के प्रतिनिधि मौजूद थे। महारैली में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष रहे उदय नारायण चौधरी ने कहा कि आज बहुजन समाज को बहुजन से ही खतरा है। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्य की बात है कि जिस आजादी की लड़ाई के लिए, स्वतंत्र भारत के लिए, संप्रभुता के लिए बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर ने संविधान बनाने का काम किया। उसी बाबा साहब की प्रतिमा को स्वतंत्रता दिवस के दिन क्षतिग्रस्त कर दिया गया। जब इस घटना के विरोध में 21 अगस्त को प्रदर्शन किया गया तो तीन नामजद सहित पांच सौ लोगों पर फर्जी मुकदमा दायर कर दिया गया। जिसके खिलाफ एकजुटता के लिए राजद ने सबों को साथ किया। जिसमें अनेक राजनीतिक दलों के लोग शामिल हुए। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर की आदमकद प्रतिमा स्थापित करने की मांग की।
उन्होंने बिना शर्त सभी लोगों के ऊपर दर्ज फर्जी मुकदमा को भी वापस लेने की। इसके अलावा उन्होंने बाबा साहब के नाम पर शोध संस्थान स्थापित करने और उनके नाम पर चल रही संस्था को जमीन आवंटित करने की मांग की। वहीं उन्होंने कहा कि आज दिल्ली की सत्ता में मनुवादी लोगों का आगमन हो गया है। ईवीएम का वैज्ञानिक खेती कर बाबा साहब के सपनों को कुचलने का प्रयास हो रहा है। जिसका विरोध कर हमें एकजुटता प्रदर्शन करना होगा।कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बहुजन मुक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष वी एल मातंग ने कहा कि असंवैधानिक तरीके से संविधान नहीं बचा सकते हैं। कोई भी लड़ाई संविधान के दायरे में होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पूरे देश में सहरसा का मुद्दा शामिल किया जाएगा। झूठे मुकदमे के खिलाफ पार्टी हाइकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट तक लड़ाई लड़ेगी।
केन्द्र सरकार ने कोई वादा पूरा नहीं किया। सरकार की विफलताओं को छुपाने के लिए प्रतिमा तोड़ने जैसे मामलों में उलझाने का काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि ईवीएम के कारण क्षेत्रीय पार्टी समाप्त हो रही है। इसके खिलाफ पूरे देश में आंदोलन चलना चाहिए। ईवीएम के कारण 16 वर्ष से 19 राज्यों में एक भी मुस्लिम सांसद नहीं है। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि ईवीएम हटने पर बीजेपी आरएसएस समाप्त हो जाएगी। उन्होंने मुकदमे के खिलाफ प्रशासन के अधिकारियों को संविधान के दायरे में काम करने की बात कहीी। रैली को पूर्व मंत्री डॉ अब्दुल गफूर, शिव चंद्र राम, विधायक अरुण कुमार, यदुवंश यादव, रेखा पासवान सहित अन्य ने भी संबोधित किया। महारैली में राजद जिलाध्यक्ष जफर आलम, लोजद जिलाध्यक्ष धनिकलाल मुखिया, हम जिलाध्यक्ष रामरतन ऋषिदेव, मो. ताहिर, धीरेन्द्र यादव, रेशमा शर्मा, रंजीत यादव,महेन्द्र शर्मा, बजरंग गुप्ता, विक्की राम, गजेन्द्र यादव, मुकेश साह, दिलखुश पासवान, प्रभुलाल थे।
चप्पे-चप्पे पर पुख्ता थी सुरक्षा व्यवस्था: स्टेडियम में आयोजित महारैली को लेकर शनिवार को जिला प्रशासन हाई अलर्ट पर था।
पिछले 21 अगस्त को बाबा साहब की प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान समाहरणालय में हंगामे के कारण प्रशासन इस बार पहले से ही तैयार था। हंगामा व प्रदर्शन की आशंका को देखते हुए शहर के चप्पे चप्पे पर पुलिस अधिकारियों, मजिस्ट्रेट, पुलिस बलों को तैनात कर दिया गया था। सभी चौक चौराहे पर पुलिस बलों की मौजूदगी थी। लगातार गश्ती की जा रही था। सभी जगहों पर सुबह आठ बजते ही पुलिसकर्मियों की मौजूदगी हो गई थी। सदर एसडीओ शंभूनाथ झा, सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी, सदर थानाध्यक्ष लगातार शहर, समाहरणालय और कार्यक्रम स्थल पर नजर रखे हुए थे। इस बार महारैली से एक दिन पूर्व देर रात ही लोहे के गेट को पूरी तरह मजबूत कर दिया गया था। सुबह गेट को लोहे की मोटी जंजीर से बंद कर दिया गया। सुबह से लेकर शाम पांच बजे कार्यक्रम होने तक प्रशासनिक व्यवस्था पूरी तरह मुस्तैद रही।
मुखिया पति के परिजनों से मिले पूर्व विधानसभा अध्यक्ष: पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी, सहरसा के विधायर अरुण कुमार, पूर्व मंत्री शिनचन्द्र राम, विधायक डा. अब्दुल गफूर ने मोहनिया गांव पहुंच मुखिया पति के परिजनों को सांत्वना दी। नेताओं ने बढ़ते अपराध पर चिंता जताते सरकार की निंदा की।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews