सहरसा:सादे लिबास में पहुंची पुलिस को ग्रामीणों ने समझा बच्चा चोर, की हाथापाई, ऐसे बची जान - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, September 24, 2019

सहरसा:सादे लिबास में पहुंची पुलिस को ग्रामीणों ने समझा बच्चा चोर, की हाथापाई, ऐसे बची जान

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर।
अक्की।
सहरसा : बिहार के सहरसा में सौरबाजार थाना क्षेत्र के बैजनाथपुर पुलिस शिविर के जवान सोमवार की अहले सुबह तीरी गांव में छापेमारी करने के क्रम में मॉब लिंचिंग का शिकार होते-होते बच गये. मिली जानकारी के अनुसार, सोमवार की सुबह करीब 4 बजे तीरी गांव में शराब कारोबारी की सूचना पर शिविर प्रभारी संजीव कुमार के नेतृत्व में टीम छापेमारी करने पहुंची. सभी पुलिस कर्मी सादे लिबास में थे. जिस वजह से ग्रामीणों को बच्चा चोर होने की आशंका हुई. जिसको लेकर ग्रामीणों ने पुलिस के साथ हाथापाई कर दी. फलस्वरूप पुलिस को किसी तरह जान बचाकर भागना पड़ा.

बताया जाता है कि पुलिस ने एक दरवाजे पर मचान पर सोये हुए कुछ बच्चों को जगाया. जिससे बच्चे भयभीत होकर चिल्लाने लगे. फलस्वरूप गृहस्वामी व ग्रामीणों ने एकजुट होकर पुलिस को नसीहत दी. इस क्रम में पुलिस के साथ गया एक चौकीदार तीरी गांव में ही छूट गया. जिसने बताया कि बैजनाथपुर पुलिस थी. इधर, घटना से तिलमिलाए शिविर प्रभारी श्री कुमार ने मुख्यालय को सूचना भेजकर पर्याप्त संख्या में पुलिस बलों को बुलाकर तीरी गांव जाकर ग्रामीणों में से एक महिला सहित तीन लोगों को हिरासत में ले लिया. जिसमें एक वार्ड सदस्य मनोज यादव भी शामिल था. जिसे बाद में सहयोग करने की बात बताते छोड़ दिया गया.

इधर, गिरफ्तार विलास यादव व सुनीता देवी के विरुद्ध मामला दर्ज करने की तैयारी की जा रही थी. घटना के संबंध में शिविर प्रभारी ने बताया कि पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर शराब के अवैध कारोबारी के विरुद्ध छापेमारी करने का आदेश दिया गया था. उसी आलोक में हमलोगों तीरी गांव में कार्रवाई करने के उद्देश्य से गये थे. लेकिन ग्रामीणों ने दुर्व्यवहार किया. अब विधिसम्मत कार्रवाई की जा रही है. इधर पुलिस के दमनात्मक रवैया को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है. ग्रामीणों ने एक स्वर से पुलिस कार्रवाई की निंदा करते हुए कहा कि निशानदेही पर छापेमारी करने के बजाय भले लोगों को तंग तबाह कर भयाक्रांत कर रही है.।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews