सहरसा:अंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने के विरोध में महारैली, छावनी में तब्दील कलेक्ट्रेट - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Saturday, September 7, 2019

सहरसा:अंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने के विरोध में महारैली, छावनी में तब्दील कलेक्ट्रेट

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर
......अक्की

सहरसा में बीते दिनों परिसर में तोड़फोड़ और हंगामे से सबक सीखते हुए शनिवार को पूरा कलेक्ट्रेट परिसर छावनी में तब्दील रहा। दरअसल कुछ दिन पहले शरारती तत्वों के द्वारा कचहरी और कमिशनरी ऑफिस के बीच में स्थित बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने के विरोध में सात सितंबर को सहरसा स्टेडियम परिसर में विशाल बहुजन महारैली के आयोजन को देखते हुए यह चौकसी बरती गई।
बीते 21 अगस्त को अंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त किए जाने के बाद विभिन्न संगठनों की ओर से आयोजित धरना प्रदर्शन के दौरान कलेक्ट्रेट परिसर में घुसकर आंदोलनकारियों ने तोड़फोड़ की घटना को अंजाम दिया था। इस बार इससे बचने के लिए कलेक्ट्रेट गेट से लेकर परिसर में चप्पे चप्पे पर पुलिस बलों और दंडाधिकारी की चहलकदमी रही। समाहरणालय के अधिकारी, कर्मी, कार्यालय में काम कराने आने वाले लोगों, अधिवक्ता और पत्रकार को छोड़कर अन्य की कलेक्ट्रेट के अंदर आवाजाही पर रोक रही। कलेक्ट्रेट गेट के बाहर मजमा भी लगाने नहीं दिया जा रहा था। सरकारी कार्यालय के पास तक पुलिस बल मुस्तैद थे। 
सदर एसडीओ शंभूनाथ झा के आदेश पर शुक्रवार की मध्य रात्रि से कलेक्ट्रेट परिसर में धारा 144 लागू कर दिया गया था। बता दें कि दो दिन पूर्व ही सदर एसडीओ शंभूनाथ झा ने पत्र जारी करते जारी आदेश में कहा था कि कलेक्ट्रेट परिसर में छह सितंबर की मध्य रात्रि से ही निषेधाज्ञा लागू हो जाएगी। सदर एसडीओ ने कहा था कि विधि व्यवस्था और शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए कलेक्ट्रेट परिसर में धारा 144 लागू किया गया। 
निषेधाज्ञा के दौरान कलेक्ट्रेट गेट के अंदर परिसर में पदस्थापित पदाधिकारी, कर्मी, पत्रकार, अधिवक्ता और कार्यालय कार्य से आने वाले आम लोगों को छोड़कर अन्य किसी को प्रवेश करने की अनुमति नहीं मिलेगी। कलेक्ट्रेट परिसर के अंदर धरना-प्रदर्शन, समूह के रूप में इकठ्ठा होना, मजमा लगाना, प्रशासनिक माइकिंग को छोड़कर लाउडस्पीकर का उपयोग समेत पुलिस बलों को छोड़कर अस्त्र-शस्त्र, लाठी सहित अन्य हथियार के साथ प्रवेश पर रोक रहेगी। 
सदर एसडीओ ने कहा था कि संविधान बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक महेन्द्र शर्मा और सह संयोजक सिंटू यादव ने आवेदन पत्र देकर सूचित किया था कि बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने के खिलाफ सात सितंबर को विशाल बहुजन महारैली  सहरसा स्टेडियम परिसर में आयोजित की जाएगा। इसी को देखते हुए यह कदम उठाया गया।
जारी पत्र में सदर एसडीओ ने कहा है कि पिछले महीने 21 अगस्त को महेन्द्र शर्मा, बसपा जिलाध्यक्ष संजय पंजियार, अखिल भारतीय रविदासिया संगठन के अध्यक्ष आनंदी राम के नेतृत्व में दिए गए आवेदन पत्र के उलट कलेक्ट्रेट गेट पर प्रदर्शन करते जबरन परिसर के अंदर घुसकर तोड़फोड़ करते सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया था। इन मामले में उनलोगों पर सदर थाना में प्राथमिकी दर्ज है। इससे पूर्व 25 सितंबर 2013 और 9 अगस्त 2018 को भी धरना प्रदर्शन के दौरान जबरन कलेक्ट्रेट परिसर में प्रवेश करते तोड़फोड़ के मामले में लोगों पर रिपोर्ट दर्ज की गई थी। 

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews