BIHAR:20 का देवर 42 की भाभी छुप-छुप कर मिलते थे, मारकर पेड़ पर लटका दिया - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, September 13, 2019

BIHAR:20 का देवर 42 की भाभी छुप-छुप कर मिलते थे, मारकर पेड़ पर लटका दिया

कोशी लाइव_नई सोच नई खबर.
Stylin Amar Akky.
बिहार में गया के परैया मरहा गांव में एक चौंका देने वाली वारदात को अंजाम दिया गया। रिश्ते में देवर-भाभी लगने वाले युवक और अधेड़ महिला को मौत के घाट उतार दिया गया। हत्यारों ने दोनों की हत्या कर शव पेड़ पर लटका दिया। पुलिस मामला दर्ज कर आरोपियों को तलाशने में जुट गई है।
मृतक कुंदन और शांति (देवर-भाभी) दोनों पहले से शादीशुदा थे। शांति के पांच बच्चे भी हैं। दोनों के बीच करीब डेढ़ साल से प्रेम चल रहा था। कुंदन के परिजनों को दोगुणी उम्र की औरत के साथ प्रेम की जानकारी होने के बाद कुंदन पर दबाव बनाकर उसे बोधगया काम करने के लिए भेज दिया।
बताया जाता है कि शांति के सिर पर आशिकी का खुमार ऐसा छाया हुआ था कि वह अपने गांव मरहा से अक्सर बोधगया कुंदन के पास मिलने चली जाती थी। शांति के पति बम मांझी के काफी समझाने के बाद भी शांति पर कोई असर नहीं हुआ तो बम पत्नी को अपने साथ राजस्थान के जयपुर शहर लेकर चला गया। करीब दो माह से शांति अपने पति के साथ जयपुर में रह रही थी। पंद्रह दिन पहले शांति ने कुंदन को फोन कर जयपुर बुला ली और कुंदन के साथ फरार हो गई। शांति का कोई पता नहीं चलने पर पति बम मांझी जयपुर से वापस घर लौट गया। खोजबीन के दौरान बम मांझी कुंदन पर अपनी पत्नी शांति को भगाकर ले जाने का आरोप लगाकर कुंदन के परिजनों को धमकी दे रहा था। इसी बीच दोनों की लाश पेड़ से लटकता हुआ बरामद किया गया है।
बरामद मोबाइल से खुल सकता है रहस्य
मृतक कुंदन के पैकेट से पुलिस ने एक मोबाइल बरामद किया है। मोबाइल डिसचार्ज था। कुंदन के परिजनों ने बरामद मोबाइल को कुंदन का ही बताया है। मोबाइल के आउटगोइंग व इनकमिंग नंबर, कॉल डिटेल, मैसेज, फोटोज से कई रहस्य खुल सकते हैं। कॉल डिटेल भी इस केस से पर्दा उठाने में सहायक साबित हो सकता है।
पांच लोगों पर दर्ज करायी प्राथमिकी
हत्या के मामले में कुंदन के पिता मिथिलेश मांझी ने परैया थाने में प्राथमिकी दर्ज करवायी है। प्रेम प्रसंग को हत्या का कारण बताते हुए बम मांझी (मृतिका का पति), ससुर समेत पांच लोगों को नामजद किया है। मिथिलेश ने एफआईआर में कहा है कि पंद्रह दिन से कुंदन पर शांति को भगाकर ले जाने का आरोप लगाते हुए बम मांझी और उसके परिजन कुंदन की हत्या की धमकी दे रहे थे। कई बार धमकी दिये जाने की बात कही गई है। एसडीपीओ नागेंद्र कुमार सिंह ने घटना स्थल का जायजा लिया। परैया थाना के थानाध्यक्ष रंजन चौधरी ने बताया कि हत्या की प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।
हत्या कर लटकाया गया था शव
पुलिस आशंका जता रही है कि दोनों की पहले गला दबाकर हत्या की गई है और हत्या के बाद शवों को पेड़ से लटकाया गया है। एसएचओ ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद कुंदन का शव परिजनों को सौंप दिया गया है। जबकि महिला की लाश अब तक कोई परिजन ने रीसिव नहीं किया है। शांति के नईहर गुरुआ के बरबट्टा गांव में सूचना देकर लाश को ले जाने को कहा गया लेकिन गुरुवार की शाम तक कोई नहीं पहुंचा है। महिला के शव को फिलहाल मगध मेडिकल के शीत गृह में रखवाया गया है। गांव वालों से भी इस बारे में बात की जा रही है।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews