बिहार: फर्जी TET पर बहाल हो गए 20 शिक्षक, सबकी चली गई नौकरी; मचा हड़कंप - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Saturday, August 10, 2019

बिहार: फर्जी TET पर बहाल हो गए 20 शिक्षक, सबकी चली गई नौकरी; मचा हड़कंप

कोशी लाइव:

बांका [राहुल कुमार]। बिहार के बांका जिले में शिक्षक बहाली मेंं फर्जीवाड़ा उजागर होने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शिक्षा विभाग ने बांका जिले के रजौन प्रखंड में फर्जी टीईटी प्रमाणपत्र पर बहाल होने वाले 20 शिक्षकों को पकड़ा है। इस संबंध में बीईओ की रिपोर्ट पर डीपीओ स्थापना देवनारायण पंडित ने शनिवार को सभी 20 शिक्षकों की सेवा समाप्ति का आदेश जारी कर दिया है।
सात दिनों में सेवा समाप्ति की प्रक्रिया होगी पूरी
इसमें संबंधित पंचायत नियोजन समिति को सूची देकर शिक्षकों की सेवा समाप्ति की प्रक्रिया सात दिनों में पूरी कर लेने को कहा गया है। ये फर्जी शिक्षक सिंहनान, राजावर, डरपा, ओड़हरा और बामदेव पंचायत नियोजन समिति द्वारा बहाल किए गए थे। इनमें सबसे अधिक नौ शिक्षक राजावर पंचायत से हैं। ये शिक्षक फर्जी टीईटी प्रमाण पत्र पर 2013 और 2014 में बहाल हुए थे। समझा जा रहा है कि इस बहाली में संबंधित पंचायत नियोजन समिति की भी संलिप्तता रही होगी।

बीईओ की जांच से ही मच गई खलबली 
सभी शिक्षकों का शिक्षक पात्रता परीक्षा प्रमाण पत्र टीईटी जांच का विभागीय आदेश पिछले साल जारी हुआ था। रजौन के बीईओ कुमार पंकज ने इसकी गंभीरता से जांच शुरू कराई थी। पहले जांच के लिए सभी शिक्षकों के टीईटी प्रमाण पत्र जमा कराए गए थे। उस दौरान दो दर्जन से अधिक शिक्षकों ने अपने मूल टीईटी प्रमाणपत्र बीआरसी में जमा नहीं किए थे। जांच के डर से फर्जी टीईटी प्रमाणपत्र वाले शिक्षकों का हाल बेहाल होने लगा था। जांच के लिए टीईटी जमा नहीं करने पर बीईओ ने विभागीय आदेश की अवहेलना करने तथा उनके प्रमाणपत्र फर्जी होने के संदेह में उन सभी शिक्षकों के वेतन भुगतान बंद कर दिए थे। उसके बाद सभी प्रभावित शिक्षकों ने अपने प्रमाण पत्र जांच के सौंप दिए। जांच में २० शिक्षकों के  टीईटी प्रमाणपत्र फर्जी निकले। उसी की रिपोर्ट डीपीओ स्थापना को दी गई है, जिसके आधार पर यह कार्रवाई हुई।
कहते हैं अधिकारी
विभागीय आदेश पर पिछले साल बीईओ को सभी शिक्षकों के टीईटी प्रमाणपत्र जांच करने की जिम्मेदारी सौंपी थी। प्राप्त सीडी से मिलान करने पर रजौन के २० शिक्षकों के टीईटी प्रमाणपत्र फर्जी निकले हैं। बीईओ की रिपोर्ट पर सभी शिक्षकों की सेवा समाप्ति का आदेश जारी किया गया है। इसके बाद उन शिक्षकों पर प्राथमिकी और वेतन वसूली की भी कार्रवाई होगी। 
- देवनारायण पंडित, डीपीओ स्थापना, शिक्षा विभाग 
हटाए गए शिक्षकों की सूची
1. रजनीश कुमार- प्र.वि मडऩी 
2. दिलीप कुमार झा- एनपीएस मडऩी
3. ज्योति कुमारी- एनपीएस इस्लामपुर 
4. मनोज कुमार- एनपीएस आजमतुल्ला एससी
5. दिवकार कुमार- प्र.वि धनसार
6. सिंटू कुमार- प्र.वि कठरंग 
7. स्वीटी कुमारी- एनपीएस चकरौशन
8. भारती कुमारी- एनपीएस भाटकोरामा 
9. प्रतिभा कुमारी-एनपीएस भाटकोरामा 
10. मदन कुमार दास- एनपीएस फुदकीपुर 
11. आदित्य प्रिय- एनपीएस वृंदावन 
12. राजीव रंजन- एनपीएस पत्तीचक 
13. अरूण कुमार तांती- एनपीएस पत्तीचक 
14. पुष्पा कुमारी- प्र.वि रूपसा 
15. श्याम सुंदर किस्कू- प्र.वि महेशपुर 
16. प्रभा रानी- प्र.वि महेशपुर
17. सोनी कुमारी- एनपीएस कोढली मोहनपुर
18. निभा कुमारी- प्र.वि रामपुर 
19. रानी कुमारी- एनपीएस भगवानपुर
20. संजीव कुमार- प्र.वि जगदीशपुर 

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews