सहरसा: मृतक के भाई के बयान पर दर्ज हुई हत्याकांड की प्राथमिकी - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Wednesday, August 7, 2019

सहरसा: मृतक के भाई के बयान पर दर्ज हुई हत्याकांड की प्राथमिकी

कोशी लाइव: बंश राज
वीडियो देखें


सदर थाना क्षेत्र के विद्यापति नगर में बीते पांच अगस्त को हुई हत्याकांड में अभी तक पुलिस किसी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। तीन दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली है। इधर मंगलवार को शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद मृतक मिहिर कुमार उर्फ करण टाइगर के हत्या मामले में उसके भाई शिवम कुमार के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर लिया गया है ।जिसमें उसने बताया कि पांच अगस्त को रात साढ़े दस बजे जब मैं अपने कुत्ते को टहला रहा था तो तीन बाइक पर सात लड़का आया। उसमें से एक लड़का मेरे घर के आगे आकर मोबाइल फोन से बात करने लगा। जब मैंने पूछा कि क्या बात है तो उसने कहा कि करण भैया से काम है। उसी समय मेरा भाई करण घर से निकला तो उसको गली में ले जाकर छोटु मिश्र, रौशन यादव, विशाल सिंह ने अंधाधुंध गोली मारने लगा। शिवम ने बाबुल सिंह पर घर से बुलाने का आरोप लगाया। भाई के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर लिया गया है।
नामजद का है अपराधिक इतिहास:करण हत्याकांड में मृतक के भाई के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर लिया गया है ।भाई ने जिसे नामजद किया है। उन सभी का पूर्व से भी लंबा आपराधिक इतिहास रहा है। जिसमें हत्या जैसे मामले भी दर्ज है।
शव साथ प्रदर्शन :बुधवार को मृतक का अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस दौरान अंतिम संस्कार में ले जाने के दौरान तिवारी चौक टोला पर शव के साथ प्रदर्शन करते हुए हत्याकांड में शामिल बदमाशों के अविलंब गिरफ्तारी करने की मांग की गई। लोगों ने करीब एक घंटे तक शव के साथ सड़क जाम कर प्रदर्शन करते हुए पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की।

पिता हैं वकील
पीड़ित के भाई शिवम ने बताया कि वे लोग सीवान के गोढ़नी पंचायत निवासी हैं। पिछले कई सालों से वे सहरसा में घर बनाकर रह रहे हैं। घर तिवारी टोला और विद्यापति नगर मोहल्ला में भी है, लेकिन करण अधिकतर विद्यापति नगर में रहता था। मिहिर उर्फ करण टाइगर के पिता मिथिलेश कुमार उर्फ मुनटुन त्रिवेदी व्यवहार न्यायालय में वकालत करते हैं।
मिहिर पर दर्ज हैं कई केस
सदर थानाध्यक्ष राजमणि ने बताया कि आपसी रंजिश में युवक की हत्या हुई है। युवक पर पूर्व से ही तीन हत्या सहित अन्य मामले दर्ज थे। जिनमें शहर के चर्चित डब्लू सिंह हत्याकांड, रौशन सिंह हत्याकांड और लल्लू ठाकुर हत्याकांड में आरोपी बनाए गए थे। साथ ही उन पर गोलीबारी सहित मारपीट के कुछ अन्य मामले भी दर्ज हैं। ऐसे में प्रथम दृश्य उनके ही मित्रों द्वारा वर्चस्व को लेकर हत्या का मामला जान पड़ रहा है।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews