सहरसा: नेटवर्किंग के सहारे करोड़ों का गोलमाल - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, August 18, 2019

सहरसा: नेटवर्किंग के सहारे करोड़ों का गोलमाल

कोशी लाइव:अक्की

जिले में फर्जी नेटवर्किंग कंपनी के सहारे करोड़ों रुपये का गोलमाल किया जा रहा है। सूबे के सहरसा, मधेपुरा, सुपौल के अलावा लगभग सभी जिलों में इसका जाल फैल चुका है। आप और हम नाम से चलायी जा रही कंपनी से बिहार के अलावा दिल्ली, उत्तरप्रदेश, हिमाचलप्रदेश, पंजाब, मध्यप्रदेश सहित कई राज्यों के लोग जुड़ चुके हैं। पांच महीने में कंपनी ने 20 हजार से अधिक सदस्य बना लिये हैं, जबकि चांदनी चौक पर मोबाइल की दुकान चलानेवाले कंपनी के निदेशक सुरेश कुमार सुमन मात्र पांच हजार सदस्यों के अबतक जुड़ने की बात कह रहे हैं।
शहर के एक निजी होटल में पिछले दिनों आयोजित कार्यक्रम में हजारों सदस्यों ने भाग लिया था। जानकारी के मुताबिक इस कार्यक्रम में सदस्यों को अधिक से अधिक लोगों को अपने से जोड़ने का निर्देश दिया गया है। बकौल सुमन पांच महीने पहले शुरू हुई इस कंपनी का उद्देश्य लोगों को रोजगार देना है। निदेशक के मुताबिक कंपनी अगले महीने से कुछ सामान भी नेटवर्किंग के माध्यम से बेचेगी। कंपनी द्वारा पहले नहाने का साबुन लाया जा रहा है। उसके बाद सर्फ, टूथ ब्रश सहित अन्य उत्पाद लाये जाएंगे। आप और हम के निदेशक ने किसी प्रकार के फर्जीवाड़े से इंकार करते हुए कहा कि कंपनी का कॉरपोरेट मिनिस्ट्री से रजिस्ट्रेशन कराया गया है। नेटवर्किंग कंपनी के लिए अलग से रजिस्ट्रेशन के प्रावधान की जानकारी होने से इंकार करते हुए कहा कि अगर ऐसा होगा तो रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा।
रेडिएशन बचाव संबंधी चिप पर उठे सवाल: आप और हम कंपनी द्वारा बेचे जा रहे चिप पर ही अब सवाल उठने लगे हैं। सहरसा स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज के प्राचार्य डा. अनिल कुमार सिंह ने कहा कि इस तरह की चिप की विश्वसनीयता नहीं होती है। लोगों को गुमराह कर सदस्य बनाया जा रहा है।
आप और हम कंपनी द्वारा सदस्य बनाने के 850 रुपये लिये जाते हैं। उसके बदले में कंपनी द्वारा एक चिप दिया जाता है, जिससे मोबाइल से निकलने वाले रेडिएशन से बचाव का दावा किया जाता है। इस कारोबार से जुड़े लोगों के मुताबिक आयात करने पर यह चिप लगभग आठ रुपये में उपलब्ध हो जाता है। इसी चिप पर आप और हम कंपनी द्वारा अपना लोगो लगाकर सदस्यों को दिया जाता है। कंपनी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक पुराने सदस्य द्वारा तीन नये सदस्य बनाए जाने पर उसे 50 रुपये मिलते हैं। बताया जा रहा है कि कंपनी को एक नये सदस्य के जुड़ने पर 800 रुपये से अधिक का फायदा होता है। वर्तमान में कंपनी सदस्यों की संख्या दिन ब दिन बढ़ती जा रही है।
अनुमति के बाद ही नेटवर्किंग कंपनी चलाई जा सकती है। बिना अनुमति कंपनी चलाने पर कार्रवाई होगी। नेटवर्किंग कंपनी के बारे में जानकारी लेकर जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी।
शैलजा शर्मा, डीएम
किसी भी तरह की वित्तीय लेनदेन के लिए आरबीआई की अनुमति आवश्यक है। अगर कोई बिना आरबीआई की अनुमति के वित्तीय कारोबार करता है तो वह अवैध है। उसके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है। जीपी नायक, एलडीएम, सहरसा
नेटवर्किंग कंपनी की शिकायत अभी तक नहीं मिली है। शिकायत मिलने के बाद इसपर कार्रवाई की जाएगी।
राकेश कुमार, एसपी सहरसा

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews