सहरसा:ट्रेन लूट में शामिल थे सहरसा के बदमाश, हो गई है पहचान - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

कोशी लाइव न्यूज़ Only News Complete News मधेपुरा, सहरसा, सुपौल एवं बिहार की अन्य जिलों का खबरों का संग्रह।

Breaking

तिवारी एजेंसी(सहरसा)

तिवारी एजेंसी(सहरसा)
छड़,सीमेंट,गिट्टी,बालू एवं हार्डवेयर की सामान के लिए संपर्क करें।

THE JABED HABIB

THE JABED HABIB
BEST HAIR AND MAKEUP SLOON

Translate

Tuesday, 6 August 2019

सहरसा:ट्रेन लूट में शामिल थे सहरसा के बदमाश, हो गई है पहचान

कोशी लाइव: विकास तांती

पूर्णिया-सहरसा सवारी गाड़ी में यात्रियों के साथ हुई लूट मामले में सहरसा के ही बदमाश शामिल थे। तकनीकी कारण से सहरसा शहर के झपड़ा टोला ढाला से आगे केबिन के पास रुकी। इसके बाद ट्रेन की एक बोगी में आठ यात्रियों के साथ लूटपाट की गई। घटना को अंजाम देने में शामिल आठ से दस स्थानीय युवकों ने पिस्टल का भय दिखाकर लूटपाट की।
लूट में शामिल बदमाश युवक शीघ्र गिरफ्त में होंगे। यह खुलासा रेल एसपी कटिहार डॉ. दिलीप कुमार मिश्र ने किया है। वे लूट की घटना के बाद तहकीकात करने रविवार की रात कटिहार से सड़क मार्ग से सहरसा पहुंचे थे। घटनास्थल से लौटने के बाद उन्होंने कहा कि तहकीकात में पता चला सवारी गाड़ी 55584 की एक बोगी में बैठी दो महिला और छह पुरुष यात्रियों से साढ़े बारह हजार रुपए, दो मोबाइल और एक चेन स्थानीय युवकों ने शनिवार की देर रात लूट लिया।
लूट में शामिल सभी युवकों की पहचान कर ली गई है। गिरफ्तारी के लिए रेल डीएसपी के नेतृत्व में बनाई गई टीम झपड़ा टोला और कायस्थ टोला में छापेमारी कर रही है। एसपी ने कहा कि सवारी गाड़ी 55584 में बनमनखी जीआरपी की एस्कॉर्ट टीम तैनात रहती है।
सहरसा पहुंचने के बाद यह एस्कॉर्ट टीम पूर्णिया जाने वाली सवारी गाड़ी 55564 में एस्कॉर्ट करते वापस लौट जाती है। शनिवार की रात सवारी गाड़ी 55584 के विलंब होने की वजह से मधेपुरा में पूर्णिया जाने वाली ट्रेन 55564 मिल गई और एस्कॉर्ट टीम उसमें चढ़ गई। टीम ने सोचा सहरसा के नजदीक ट्रेन पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि ट्रेनों में सुरक्षा के इंतजाम को पुख्ता रखते लगातार गश्त लगाने का निर्देश दिया गया है। एसपी सोमवार की दोपहर बाद तक सहरसा में कैम्प कर पदाधिकारियों और जवानों को मुस्तेद रहने का निर्देश देते वापस कटिहार लौट गए।
एसपी ने बनाई एसआईटी टीम : ट्रेन लूट मामले में चिन्हित किए गए बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए रेल एसपी डॉ. मिश्र ने चार सदस्यीय एसआईटी टीम गठित किया है। टीम में रेल डीएसपी बरौनी अंजनी कुमार झा, सर्किल इंस्पेक्टर श्रीराम सोरेन, मानसी रेल थानाध्यक्ष आलोक प्रताप सिंह और रेल थानाध्यक्ष मो. मोजम्मिल को शामिल किया गया है। एसपी ने कहा कि एसआईटी टीम बदमाश युवकों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। डीएसपी ने कहा कि कायस्थ टोला, झपड़ा टोला सहित अन्य जगहों पर रविवार की रात से ही छापेमारी की जा रही है। जल्द बदमाश रेल पुलिस की गिरफ्त में होंगे।
रेल थाना व स्टेशन परिसर का किया निरीक्षण : रेल एसपी ने रेल थाना और सहरसा स्टेशन परिसर का सोमवार को निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान यात्रियों की सुरक्षा के लिए हमेशा गश्त लगाने का निर्देश दिया। सावन के महीने में श्रद्धालु यात्रियों की चौकसी और सुरक्षा के लिए एलर्ट रहने के लिए कहा।
आरपीएफ डिप्टी कमांडेंट ने कहा लूट उदभेदन में जीआरपी को देंगे सहयोग : समस्तीपुर मंडल के डिप्टी कमांडेंट ए. के. साही सोमवार को सहरसा पहुंचे। उन्होंने कहा कि ट्रेन में हुई लूट मामले के उदभेदन और बदमाशों की गिरफ्तारी सुनिश्चित कराने में आरपीएफ जीआरपी को हरसंभव सहयोग देगी।
जीआरपी के साथ मिलकर आरपीएफ लूट के मामले को सुलझाएगी। उन्होंने कहा कि सुपौल में पकड़ाए आरक्षित ई टिकट गोरखधंधा मामले में जांच चल रही है। उनके साथ इंस्पेक्टर सारनाथ, उप निरीक्षक विजय कुमार मिश्र, एम एम रहमान, सहायक उप निरीक्षक श्रीनिवास कुमार सहित अन्य थे।

पूरी प्लनिंग के साथ दी गई घटना को अंजाम

सहरसा  : पूरी प्लानिंग के साथ नकाबपोश बदमाशों ने पूर्णिया-सहरसा 55583 पैसेंजर ट्रेन में लूटपाट की घटना को अंजाम दिया. सूत्रों के अनुसार पहले गुमटी नंबर 106 गेट सिग्नल पर ट्रेन 2 से 3 मिनट तक रोकी गयी. इसमें कुछ नकाबपोश बदमाश भीड़ वाले कोच में घुसे. 
 
यात्रियों ने जब लूटपाट की घटना का विरोध किया तो सभी चलती ट्रेन से कुद कर भागे. कुछ आगे जाकर होम सिग्नल पर जब ट्रेन रेल सिग्नल पर 10 मिनट तक रुकी. पहले से घात लगाये बदमाश उस कोच में घुसे, जिसमें 8-10 की संख्या में यात्री सवार थे. 
 
जैसे ही सिग्नल ग्रीन हुई बदमाश लूटपाट की घटना के बाद चलती ट्रेन से उतरकर झपड़ा टोला की तरफ भागे. रेल एसपी ने पुष्टि करते हुए बताया कि बदमाश कोई गिरोह का सदस्य नहीं लग रहा है. उम्मीद जतायी जा रही है कि सभी झपड़ा टोला या लोकल होंगे. 
 
होम सिग्नल को रेड कर घटना को दिया अंजाम: पूर्णिया-सहरसा पैसेंजर ट्रेन जब सहरसा होम सिग्नल पर पहुंची तो उस रात ड्यूटी पर तैनात डिप्टी एसएस रमेश कुमार ने बताया कि होम सिग्नल पहले से ही ग्रीन किया हुआ था. अचानक कंट्रोल से जानकारी मिली कि सिग्नल रेड है तो फिर से उसे कैसिंग कर सिग्नल ग्रीन किया गया. 
 
वहीं 55583 के चालक उमाकांत ने बताया कि ट्रेन दो जगह रुकी है. जब उनकी ट्रेन पहले गुमटी 106 के पास पहुंची तो सिग्नल रेड था. इसके बाद होम सिग्नल भी रेड था. वहीं गार्ड बीसी मंडल ने बताया कि ट्रेन पहले गेट सिग्नल 106 पर दो मिनट रुकी बाद में होम सिग्नल पर 8 मिनट रोकी गयी. 
 
ट्रैक को मिलाकर शॉट होने के बाद सिग्नल हुआ रेड: रेल कर्मचारियों ने बताया कि बैजनाथपुर से जब ट्रेन सहरसा के लिए खुली तो 106 नंबर व होम सिग्नल पहले से ग्रीन था. अगर कोई ट्रैक को सटा दे तो शॉर्ट लगता है और ग्रीन सिग्नल फिर से रेड हो जाता है. 
 
सूत्रों ने बताया कि बदमाशों को पहले से इस बात का पता था कि ट्रैक मिलाने व सिग्नल के पास एक तार से दूसरे तार को सटाने से शॉर्ट लगता है और सिग्नल ग्रीन से रेड होता है. इसके बाद ही ग्रीन सिग्नल को रेड कर लूटपाट की घटना को अंजाम दिया गया. 
 
रेल कर्मचारी भी जांच के घेरे में: भले ही लूटपाट की घटना में रेल कर्मचारी लीपापोती करें, लेकिन मामले में रेल कर्मचारी भी जांच के घेरे में आ चुके हैं. शनिवार देर रात 55583 पैसेंजर ट्रेन को प्लेटफार्म नंबर चार पर लिया जाना था. जबकि सभी प्लेटफार्म खाली थे. तब होम सिग्नल पर ट्रेन क्यों रोकी गयी. जांच के बाद ही यह स्पष्ट हो पायेगा. वहीं समस्तीपुर डिवीजन के सीनियर डीसी अभिषेक कुमार ने बताया कि मामले की पूरी जानकरी मिली है. जरूरत पर रेल कर्मचारियों से स्पष्टीकरण मांगा जायेगा. 
 
अधिकारी पक्ष 
15 मिनट तक टेक्निकल फॉल्ट बताकर ट्रेन को सिग्नल पर रोक दिया गया. इस वजह से इस तरह की घटना को अपराधी ने अंजाम दिया. जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है. फिलहाल, जांच चल रही है. जल्द ही सभी आरोपित हिरासत में होंगे. 
दिलीप कुमार मिश्रा, रेल एसपी

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

KOSHILIVE

Only news Complete news. मधेपुरा,सहरसा,सुपौल एवं बिहार की अन्य जिलों की खबरों का संग्रह। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Connect With us

Pages