सुपौल: बड़े पैमाने पर हो रहे रेलवे के रिजर्वेशन टिकट फर्जीवाड़े का खुलासा, ट्रैवल्स मालिक धराया - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, August 5, 2019

सुपौल: बड़े पैमाने पर हो रहे रेलवे के रिजर्वेशन टिकट फर्जीवाड़े का खुलासा, ट्रैवल्स मालिक धराया

कोशी लाइव:अक्की

सुपौल शहर से बड़े पैमाने पर हो रहे आरक्षित टिकट फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है। आरक्षित टिकट गोरखधंधा में शामिल बीआर टूर एंड ट्रैवल्स के मालिक रोहित कुमार को स्टेशन रोड महावीर चौक स्थित दुकान से रेल सुरक्षा बल सहरसा ने सुपौल पुलिस की मदद से शनिवार की रात गिरफ्तार किया है।
रोहित की ट्रैवल्स दुकान से एक लाख 64 हजार 983 रुपए के 59 आरक्षित टिकट बरामद किए गए हैं। रेल सुरक्षा बल (आरपीएफ) सहरसा ने ट्रैवल्स एजेंसी से एक लैपटॉप और एक डेस्कटॉप भी जब्त किया है जिसे खंगाला जा रहा है। समस्तीपुर मंडल के आरपीएफ कमांडेंट अंशुमान त्रिपाठी ने कहा कि सुपौल के कोसी कॉलोनी निवासी राजीव कुमार गुप्ता ने आरक्षित टिकट बनाने में ट्रैवल्स मालिक रोहित कुमार द्वारा अधिक पैसे लिए जाने की शिकायत की थी। इसके बाद आरपीएफ सहरसा के उप निरीक्षक विजय कुमार मिश्रा, एमएम रहमान, सहायक उप निरीक्षक श्रीनिवास कुमार के नेतृत्व में टीम बनाकर छापेमारी की गई थी। छापेमारी टीम ने जांच में वहां पर्सनल आईडी का दुरुपयोग कर लगभग रोज आरक्षित टिकट बनाने का गोरखधंधा पकड़ा। मौके से ट्रैवल्स मालिक को गिरफ्तार कर लिया गया। 
आरपीएफ के पोस्ट कमांडर सारनाथ ने बताया कि रोहित सुपौल शहर के वार्ड नंबर 10 का निवासी है और अपने मकान में ही बीआर टूर एंड ट्रैवल्स नाम से दुकान संचालित करता था। टिकट गोरखधंधा मामले में उसे खगड़िया जेल भेज दिया गया है। शिकायतकर्ता राजीव ने ट्रैवल्स मालिक पर फर्जी टिकट दिए जाने का भी आरोप लगाया था।
जांच में एक मधेपुरा आरक्षण काउंटर से बनाया टिकट भी मिला
आरपीएफ के उप निरीक्षक विजय कुमार मिश्रा ने जब जांच की तो एक मधेपुरा स्टेशन के आरक्षण काउंटर से बनाया आरक्षित टिकट मिला जो वैशाली एक्सप्रेस का नई दिल्ली से सहरसा तक का बनाया था।
27 एडवांस टिकट और एक ही नाम का आरक्षित टिकट अलग-अलग तिथियों में बना मिला
जांच टीम को 27 एडवांस टिकट भी ट्रैवल्स मालिक के यहां से मिले। इसके अलावा अलग-अलग तिथियों के कई आरक्षित टिकट मिले।
रोहित के पर्सनल आईडी से एक ही नाम का आरक्षित टिकट अलग-अलग तिथियों का बना मिला। उप निरीक्षक विजय कुमार मिश्रा ने कहा कि पर्सनल आईडी का दुरुपयोग कर एक ही नाम का आरक्षित टिकट अलग-अलग ट्रेन का रोहित बनाता था। जो बहुत बड़ा फर्जीवाड़ा है।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews