मधेपुरा:मां, मैं बेटी हूं तो मेरा क्या गुनाह.. - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, August 18, 2019

मधेपुरा:मां, मैं बेटी हूं तो मेरा क्या गुनाह..

कोशी लाइव:अक्की

मधेपुरा। अस्पताल में बेटी के जन्म के बाद प्यार पर नफरत भारी पड़ गया। मां की ममता हार गई। आखिर, क्या मजबूरी थी कि अस्पताल में ही नवजात को छोड़कर मां को जाना पड़ा। मामला आलमनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का है। जहां प्रसव कराने आई आलमनगर उत्तरी पंचायत के वार्ड संख्या आठ के बलराम शर्मा की पत्नी गुड़िया देवी प्रसव के लिए आई थी। प्रसव के दौरान उसे बच्ची हुई। उसके बाद स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा जांच एवं दवाई भी दी गई। परंतु गुड़िया देवी अपने नवजात बच्ची को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में छोड़कर ही अचानक से गायब हो गई। स्थानीय स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा इस बाबत बताया गया कि बच्ची सुरक्षित है। बच्ची को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रखा गया है। घटना को लेकर स्थानीय थाना एवं जनप्रतिनिधियों को सूचित किया गया है। चिकित्सा पदाधिकारी ने थाना में आवेदन देकर कहा है कि 15 अगस्त की रात्रि बच्ची का जन्म हुआ था। उसके बाद मां उसे छोड़कर चली गई। जबकि बच्ची बिल्कुल स्वस्थ्य है।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

Total Pageviews