सहरसा:14 दिन बाद तीन ट्रेन लुटेरे चढ़े पुलिस के हत्थे - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, August 19, 2019

सहरसा:14 दिन बाद तीन ट्रेन लुटेरे चढ़े पुलिस के हत्थे

कोशी लाइव:विकास तांती

सहरसा में पूर्णिया से आ रही सवारी गाड़ी में यात्रियों के साथ हुई लूट मामले का उदभेदन 14 दिन बाद हुआ है। जीआरपी ने सदर पुलिस और आरपीएफ के सहयोग से रविवार की सुबह तीन लुटेरे को धर दबोचा है।
हिरासत में लिए गए तीन में से दो बदमाश शहर के कायस्थ टोला और एक झपड़ा टोला का रहने वाला है। झपड़ा टोला से धर्मवीर और कायस्थ टोला से सचिन और विकास को गिरफ्तार किया गया। तीनों लुटेरे को उनके घर से धर दबोचा गया है। धर्मवीर के पास से लूटी गई एक मोबाइल बरामद की गई है।
जीआरपी थानाध्यक्ष मो. मोजम्मिल, सदर थानाध्यक्ष राजमणि, जीआरपी मानसी थानाध्यक्ष आलोक प्रताप सिंह, आरपीएफ के सहायक उप निरीक्षक श्रीनिवास कुमार और सहरसा पुलिस की क्यूआरटी टीम की संयुक्त छापेमारी में तीनों लुटेरे को दबोचा गया। जीआरपी थानाध्यक्ष सहरसा ने बताया कि लुटेरा धर्मवीर के पास से बरामद मोबाइल लूट के शिकार बने यात्री सोनवर्षा कचहरी के हरिपुर गांव निवासी हिमांशु सिंह की है। उन्होंने कहा कि सबसे पहले लूट की घटना में शामिल सचिन को लूटे गए मोबाइल के इस्तेमाल करने के कारण धर दबोचा गया।
सचिन की निशानदेही पर धर्मवीर और फिर विकास को गिरफ्तार किया गया। लूट के अन्य सामान दो मोबाइल और साढ़े 12 हजार रुपए बरामदगी के लिए छापेमारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि पूछताछ में लुटेरे ने बताया है 3 जुलाई की देर रात झपड़ा टोला आउटर सिग्नल के पास रुकी पूर्णिया-सहरसा सवारी गाड़ी में हथियार का भय दिखाकर यात्रियों से लूटपाट की थी। लूट की घटना को अंजाम देने में दस लोग शामिल थे। देसी कट्टा और चाकू का लूट की घटना में प्रयोग किया गया था। लूट की घटना की रेल थाना में चार यात्रियों ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी। सदर थानाध्यक्ष ने कहा कि लुटेरे जो भी पुलिस की गिरफ्त में होंगे। उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।
फरार अन्य सात लुटेरे की हुई पहचान : ट्रेन में यात्रियों के साथ हुई लूट की घटना में शामिल मुख्य सरगना सहित अन्य सात लुटेरे की पहचान हो गई है। धराए लुटेरे ने सभी के नाम और घर का पता बता दिया है। अब पुलिस उनकी गिरफ्तारी में जुट गई है। रेल थानाध्यक्ष और सदर थानाध्यक्ष ने बताया कि जल्द ही बचे लुटेरे को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
धर्मवीर पहले भी लूटपाट की घटना को दे चुका है अंजाम : पुलिस के हत्थे चढ़ा धर्मवीर पहले भी लूटपाट की घटना को अंजाम दे चुका है। धर्मवीर को सदर थाना ले जाकर भी सदर थानाध्यक्ष ने पूछताछ कर कई साक्ष्य जुटाए। जीआरपी थानाध्यक्ष ने कहा कि धर्मवीर पहले भी चोरी व लूटपाट की कई घटना को सदर थाना क्षेत्र में अंजाम देने में शामिल था।
कम उम्र में ही अपराध करने की लगी लत : पुलिस के हत्थे चढ़े लुटेरे महज 20 से 23 साल के हैं। कम उम्र में ही इन लोगों को अपराध करने की लत लग गई है।
क्या कहते हैं अधिकारी : रेल एसपी कटिहार डॉ. दिलीप कुमार मिश्र ने कहा कि लगातार मॉनिटरिंग करते ट्रेन लूट मामले का खुलासा कर दिया गया है। बचे हुए लुटेरों भी जल्द गिरफ्त में होंगे। रेल डीएसपी बरौनी अंजनी कुमार झा ने कहा कि लगातार की गई छापेमारी
का परिणाम है ट्रेन लुटेरे गिरफ्त में आने लगे हैं। ट्रेनों में कानून व्यवस्था बनाए रखना प्राथमिकता में है।


सहरसा:15किलो गांजा के साथ तस्कर गिरफ्तार

सोनवर्षा कचहरी पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर 15 किलो गांजा के साथ दो कारोबारी को गिरफ्तार कर लिया। इस संबंध में सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी ने बताया कि समकालीन अभियान के तहत गश्ती के दौरान सोनवर्षा कचहरी पुलिस को रविवार की सुबह विशनपुर ढाला के समीप बाइक के साथ दो गांजा कारोबारी होने की सूचना मिली थी।
जिसके बाद ओपी अध्यक्ष मुकेश कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस बल ने रेलवे ढ़ाला समीप छापमारी की। पुलिस को देखते दो व्यक्ति भागने लगे। जिसे खदेड़कर पकड़ा गया। पकड़े गए दोनों कारोबारियों ने अपना नाम बलुआहा निवासी नीतीश कुमार व राजा कुमार बताया।
तलाशी के दौरान बाइक (बीआर 19 बी-6753) पर प्लास्टिक के बोरे में रखा हुआ तीन बंडल गांजा बरामद किया गया। एसडीपीओ ने बताया बाइक जब्त कर उसकी जांच की जा रही है। वहीं एनडीपीएस एक्ट के तहत दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा जा रहा है। मौके पर सदर थानाध्यक्ष राजमणि, सोनवर्षा कचहरी ओपी अध्यक्ष एस आई बिनोद सिंह, रंजन कुमार, श्रीकांत सिन्हा थे।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews