बाढ़ का कहर: कोसी और सीमांचल में बाढ़ के पानी में डूबने से छह लोगों की मौत - कोशी लाइव

BREAKING

HAPPY INDIPENDENCE DAY

HAPPY INDIPENDENCE DAY

विज्ञापन

विज्ञापन

Wednesday, July 17, 2019

बाढ़ का कहर: कोसी और सीमांचल में बाढ़ के पानी में डूबने से छह लोगों की मौत

कोशी लाइव:अक्की

कोसी और सीमांचल के जिलों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। बाढ़ के पानी में डूबने से सहरसा में चार जबकि अररिया और किशनगंज में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गयी है। 
अररिया में बाढ़ का पानी धीरे धीरे घटना लगा है, लेकिन स्थिति में बहुत सुधार नहीं है। जोकीहाट में बाढ़ का पानी लगभग सभी पंचायतों में फैला है। जिले की चार दर्जन से अधिक सड़कें टूट चुकी हैं, जिसके कारण आवागमन बाधित है। किशनगंज में जिले  की कनकई नदी को छोड़ बाकी सभी प्रमुख नदियों के जलस्तर में कमी आने से बाढ़ पीड़ितों ने राहत की सांस ली है। वहीं मंगलवार को ठाकुरगंज प्रखंड के खरना भागगांव में मेची नदी में डूबने से एक युवक रेहान की मौत हो गई।
दिघलबैंक प्रखंड में मंगलवार को कनकई नदी में पानी बढ़ने से तटवर्ती इलाकों में पानी फैलने लगा है। वहीं कटिहार में महानंदा नदी में पानी बढ़ने से कदवा, अमदाबाद आदि प्रखंड की कुछ पंचायतों में बाढ़ का पानी फैल गया है।
सुपौल में कोसी का जलस्तर घटने से बाढ़ का संकट समाप्त होने लगा है। मंगलवार को बड़ी संख्या में विस्थापित परिवार अपने-अपने घरों की ओर लौटने लगे। उधर, तिलयुगा और बलान नदी का जलस्तर बढ़ने से मरौना प्रखंड के कई गांवों में अभी भी बाढ़ की स्थिति है। वहां के सैकड़ों परिवार ऊंचे स्थानों पर शरण लिये हुए हैं।
सहरसा में कोसी के जलस्तर में कमी आई है।  हालांकि जिले में बाढ़ के पानी में डूबने से चार लोगों की मौत हो गयी। महिषी  की ऐना पंचायत के करहरा गांव में कोसी नदी में नहाने के दौरान मो. निजामुद्दीन की डूबने से मौत हो गयी। वहीं सोनवर्षाराज के बसनही थाना क्षेत्र की बड़सम पंचायत अन्तर्गत सुरसर नदी के सोनेघाट पर नहाने के दौरान डूबने से 14 वर्षीय लेलहु कुमार की मौत हो गई। सरोजा पंचायत में सिंघाड़ा का खेत देखने पानी में उतरे उपेन्द्र राम(50) की डूबने से मौत हो गई है। वहीं नवहट्टा के केदली में भी डूबने से एक व्यक्ति की मौत हो गयी।
मधेपुरा में कोसी नदी में पानी बढ़ने से आलमनगर और चौसा प्रखंड के निचले इलाके में बाढ़ की स्थिति बनने लगी है। आलमनगर की रतवारा पंचायत स्थित मुरौत के शिव मंदिर टोला में कुछ घरों में बाढ़ का पानी फैल गया। इसके अलावा खापुर, गंगापुर, बड़गांव, इटहरी, बसनवाड़ा आदि पंचायत के करीब डेढ़ दर्जन गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं। खगड़िया जिले होकर बहने वाली नदियों के जलस्तर में वृद्धि जारी है। इससे चौथम के निचले इलाके के दर्जनों घरों में बाढ़ का पानी घुस गया है। 

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews