सहरसा:सरकारी अस्पताल में सुरक्षा गार्ड करते हैं मरीजों का इलाज - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, July 30, 2019

सहरसा:सरकारी अस्पताल में सुरक्षा गार्ड करते हैं मरीजों का इलाज

कोशी लाइव:
मुकेश कुमार सिंह

बिहार के सहरसा जिला अंतर्गत सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल अस्पताल से डॉक्टर द्वारा बरती जा रही लापरवाही की एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जो स्वास्थ्य विभाग के सभी दावे की पोल खोल कर रख दिया।मरीजों की जिंदगी से खिलवाड़ किए जाने की ये तस्वीर पूरा स्वास्थ विभाग को सवालों के कठघड़े में खड़ा कर के रख दिया है।
सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल अस्पताल सहरसा जिले का एक ऐसा अस्पताल जहां मरीजों का इलाज नहीं बल्कि उसकी जिन्दगी से खेलवाड़ किया जाता है। दरअसल मामला 28 जुलाई की रात की है सिमरी बख्तियारपुर अनुमण्डल के विभिन्न क्षेत्रों में सड़क हादसे में कई लोग घायल हो गए थे जिन्हें इलाज के लिए अनुमंडल अस्पताल लाया गया था जहां उनका इलाज अस्पताल के डॉक्टर नहीं बल्कि सुरक्षा गार्ड के द्वारा किया जा रहा था।
सड़क हादसे में शिकार हुए लोग बुरी तरह से जख्मी हैं और उसका इलाज डॉक्टर के बजाए अपस्ताल का सुरक्षा गार्ड कर रहा है। रात्रि ड्यूटी के दरम्यान अस्पताल में मौजूद डॉक्टर हरेन्द्र प्रसाद आर्या बुरी तरह से घायल अवस्था में आए मरीजों का इलाज करने में कोई दिलचस्पी नहीं ले रहे बल्कि घायल मरीज का नाम पता नोट करने में मशहुल हैं और उसका इलाज अस्पताल के सुरक्षा गार्ड के द्वारा करवा रहे हैं।
ड्यूटी के दौरान डॉक्टर लापरवाह बने हुए हैं। लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ करने में लगे हुए हैं उसके बावजूद इस मामले से अनुमंडल अस्पताल के चिकित्सक पदाधिकारी से लेकर सिविल सर्जन तक मामले से अंजान बने हुए हैं। सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल अस्पताल में राम भरोसे चल रही स्वास्थ सेवा की सारी सच्चाई मैग्नीफिसेंट न्यूज के कैमरे में कैद हो गई।

इस तस्वीर को देखकर आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं के किस तरह से इलाज के नाम पर सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल अस्पताल में मरीजों की जिन्दगी से खिलवाड़ किया जाता है। उसके बावजूद स्वास्थ विभाग मामले से अंजान बनी हुई है। ड्यूटी के दौरान डॉक्टर हरेन्द्र प्रसाद के द्वारा बरती जा रही लापरवाही किसी मरीज की जान भी ले सकती है।आखिर कबतक सरकारी अस्पताल में कार्यरत डॉक्टर की ऐसी लापरवाही की तस्वीर सामने आती रहेगी।
फिलहाल मरीजों की जिंदगी से खिलवाड़ करने की ये तस्वीर पूरा स्वास्थ्य विभाग को सवालों के कठघड़े में खड़ा कर के रख दिया है। जब इस मामले में सिविल सर्जन से जानने की कोशिश की तो कैमरा के सामने कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हुए वहीं मौखिक जांच का आश्वासन देकर अपना पलड़ा झाड़ लिया।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews