सहरसा: रुक-रुक कर बारिश से सड़कें जलमग्न,जान जोखिम में डाल चलने को मजबूर - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, July 12, 2019

सहरसा: रुक-रुक कर बारिश से सड़कें जलमग्न,जान जोखिम में डाल चलने को मजबूर

कोशी लाइव:@विकास तांती

जिले में पिछले पांच दिनों से मानसूनी बारिश हो रही है। रूक रूक कर हो रही बारिश से जिले के अधिकांश सड़कें जलमग्न हो गयी है। लोगों को आवाजाही में मुश्किल हो रही है। सत्तर कटैया से ए.सं. के अनुसार बारिश के बाद एक ओर जहां जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया वहीं बिहरा-पटोरी एवं सत्तर कटैया बाजारटापूनुमा हो गया है। सहरसा-सुपौल मुख्य मार्ग के बिहरा-पटोरी बाजार में जलजमाव होने से इस होकर यात्रा करनेवाले लोगों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।
सबसे विकट समस्या दो पहिया वाहन चालक एवं पैदल चलने वाले यात्रियों को होती है। जलजमाव से निजात पाने के लिए कई बार धरना प्रदर्शन किया गया लेकिन इसका अबतक कोई स्थाई समाधान नहीं हो सका है। हालांकि वैकल्पिक तौर पर पानी निकासी के लिए व्यवस्था की गई है जिससे लोगों को राहत मिली है। लोगों ने जिले के वरीय अधिकारियों से इस जलजमाव की स्थाई निदान की मांग की है।
सोनवर्षा राज से सं.सू. के अनुसार क्षेत्र मे हो रही रुक-रुक कर बारिश से सोनवर्षा मुख्य बाजार के एनएच 107 सहित विभिन्न सड़कों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र की सभी मुख्य सड़कों की हालत नरकीय बनी हुई है।
बाजार सहित विभिन्न सड़क पर जलजमाव से राहगीरों लोगों को भी आवाजाही करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। एनएच 107 पर जगह-जगह बने गढ्ढे में बारिश का पानी जमा होने के कारण सड़क तालाब में तब्दील हो गया है। जल निकासी की समुचित व्यवस्था नहीं से परेशानी बनी है।
इन जगहों पर है जलजमाव: मुख्य बाजार के एन एच 107 पर, भगत सिंह चौक, जेपी चौक से मध्य विद्यालय हिंदी तक मुख्य सडक पर, काशनगर बाजार, महुआबाजार, शाहपुर पंचायत के हरिपुर गांव की मुख्य सडक़, देहद रोड, गौशाला रोड सहित विभिन्न मुख्य सडक पर जलजमाव से स्थिति नरकीय है।
सिमरी बख्तियारपुर से सं.सू. के अनुसार बारिश के पानी से बनमा ईटहरी प्रखंड की सड़कों पर चलना मुश्किल हो गया है। खासकर ग्रामीण इलाकों में तो पैदल चलना भी कठिन हो गया है। खुराशान, हथमंडल, कासिमपुर, अम्माडीह से तरहा, बादशानगर से सहुरिया, भगवानपुर, बहुअरबा गांव सहित कई गांवों के सड़क का हाल बेहाल है। खासकर तरहा, बहुअरबा गांव के ग्रामीणों को भारी परेशानी है।
जिसे कीचड़मय सड़क रहने के कारण गांव से बाहर निकलने में भी कठिनाई हो रही है। कठिनाई को देखते मुखिया मो मंजूदल हसन ने अम्माडीह से तरहा वाली सड़क को जेसीबी से मिट्टी को समतल भी करवाया लेकिन बारिश ने सारा खेल बिगाड़ दिया। बावजूद लोगों को परेशानी कम नहीं हो पाया है।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

Total Pageviews