बिहार: शराब मामले में दागी 41 पुलिस अफसरों की सूची जारी, नहीं मिलेगी थानेदार की जिम्मेदारी - कोशी लाइव

Breaking

CAR KING[MADHEPURA]

CAR KING[MADHEPURA]
बाईपास रोड, पंचमुखी चौक(मधेपुरा)बिहार

तिवारी एजेंसी(सहरसा)

तिवारी एजेंसी(सहरसा)
छड़,सीमेंट,गिट्टी,बालू एवं हार्डवेयर की सामान के लिए संपर्क करें।

THE JABED HABIB

THE JABED HABIB
BEST HAIR AND MAKEUP SLOON

Translate

Monday, 8 July 2019

बिहार: शराब मामले में दागी 41 पुलिस अफसरों की सूची जारी, नहीं मिलेगी थानेदार की जिम्मेदारी

कोशी लाइव:अक्की

शराबबंदी कानून को लागू करने में नाकाम रहे 41 इंस्पेक्टर, दारोगा और जमादार की सूची जारी की गई है। दागी करार दिए गए इन पुलिस अधिकारियों को थाना या पुलिस आउट पोस्ट (ओपी) का प्रभारी नहीं बनाया जाएगा। इसको लेकर मद्यनिषेध इकाई ने सभी जिलों के एसएसपी और एसपी को पत्र लिखा है। राज्य सरकार के निर्णय के तहत इन अफसरों को दस वर्षों तक थानेदार के तौर पर तैनात नहीं करना है।
9 इंस्पेक्टर व 27 दारोगा शामिल
शराब को लेकर दागी करार दिए गए इन पुलिस अफसरों में 9 इंस्पेक्टर और 27 दारोगा शामिल हैं। वहीं 7 सहायक अवर निरीक्षक (एएसआई) भी इस सूची में रखे गए हैं। मद्यनिषेध इकाई के एसपी द्वारा जिलों को भेजी गइ सूची में जो नाम दिए गए हैं उसमें इंस्पेक्टर रैंक के अजय कुमार, अकिल अहमद, अरुण कुमार अकेला, सुनील कुमार, विनय कुमार, संजय कुमार सिंह, टुनटुन पासवान, सुनील कुमार पासवान, संजीव शेखर झा के नाम हैं। 
दारोगा रैंक के पुलिस अधिकारियों में राजेश कुमार, बीरबल कुमार राय, सुनील कुमार, मो. जुबैर आलम, महेन्द्र राम, मुकेश कुमार -2, बीरेन्द्र कुमार राय, दुर्गेश कुमार, संजय कुमार रजक, राजेश कुमार, विकाश कुमार, रंजीत कुमार, शैलेन्द्र कुमार विधाकर, शेखर प्रसाद, पंकज कुमार पंत, निरज कुमार, संजीत कुमार, सुरेश प्रसाद यादव, नवीन कुमार, मुकेश कुमार, शाहजहां खां, चंद्रशेखर आजाद, पवन कुमार, प्रदीप कुमार, सुनील कुमार सिंह, असलेम शेर अंसारी और मनोज राम निराल शामिल हैं। एएसआई में राज कुमार सिंह, दिलीप कुमार पासवान, रामअवतार राम, रामबाबू राय और पंकज कुमार झा हैं जिन्हें शराब के मामले में दागी अफसरों की सूची में रखा गया है।
नहीं मिलेगी थानेदार की जिम्मेदारी
शराबबंदी कानून में ऐसा पुलिस अफसर जिनकी शराब की बिक्री, निर्माण या भंडारण में कहीं से भी संलिप्तता पाई जाती हैं उन्हें दागी पुलिस की सूची में रखा जाता है। साथ ही सरकार के आदेश के तहत इन्हें किसी भी सूरत में दस वर्षों तक थानेदार की जिम्मेदारी नहीं मिली हैं। इंस्पेक्टर और दारोगा ही थानेदार या ओपी के प्रभारी होते हैं ऐसे में इन पुलिस अफसरों की सूची जिलों को भेजी गई है। ताकि इन्हें थानेदार या ओपी का प्रभार नहीं दिया जाए।
जल्द और नाम जुड़ेंगे
शराब को लेकर दागी पुलिस अधिकारियों की इस सूची में जल्द कई और नाम जुड़ेंगे। पिछले हफ्ते ही मद्य निषेध इकाई ने पटना के पांच थानेदारों के खिलाफ कार्रवाई के लिए जोनल आईजी को पत्र लिखा है। इनपर भी वहीं आरोप है जो सूची में शामिल पुलिस अफसरों पर है।

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

KOSHILIVE

Only news Complete news. मधेपुरा,सहरसा,सुपौल एवं बिहार की अन्य जिलों की खबरों का संग्रह। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Connect With us

Pages