मधेपुरा:पुलिस रहती सक्रिय तो बच सकती थी रबिन की जान - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

नई सोच नई खबर

KOSHI%2BLIVE2

Breaking

Translate

Thursday, 6 June 2019

मधेपुरा:पुलिस रहती सक्रिय तो बच सकती थी रबिन की जान

कोशी लाइव:अक्की

मधेपुरा। उदाकिशुनगंज थाना क्षेत्र के खाड़ा गांव में बुधवार को अपहृत नौ वर्षीय रबिन कुमार का शव मिलने की खबर क्षेत्र में आग की तरह फैल गई। खबर मात्र सुनने पर ही लोगों का गुस्सा भड़क उठा। देखते ही देखते लोगो ने खाड़ा चौक को जाम कर दिया। जगह-जगह आगजनी कर लोगों ने आक्रोश व्यक्त किया। पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। बाजार के दुकानदार पीड़ित परिजन के सहानुभूति में खुद अपनी दुकान बंद कर लिए। स्थानीय व्यवसायी भी विरोध प्रदर्शन में कूद पड़े। इस बीच घटना से माहौल गर्म बना रहा। करीब पांच घंटे तक सड़क जाम रहा। देर शाम एसडीपीओ सीपी यादव के आश्वासन पर जाम हटाया गया। लोगों का कहना है कि पुलिस की सक्रियता से बालक रबिन की जान बच सकती थी। लोगों के मुताबिक पुलिस कुछ सफेदपोश के उलझन में फंसी रह गई। लोग पुलिस की निष्क्रियता पर सवाल उठा रहे हैं। लोगों के सवाल भी लाजिमी है। वजह की रविवार को अपहरण की वारदात हुई। यद्यपि सूचना के बाद भी पुलिस ने त्वरित कार्रवाई नहीं की। अब सवाल उठता है कि पंचायत के फैसले ने बालक को मौत के मुंह में धकेल दिया। फिर वजह कुछ और है। फिलहाल रबिन की मां को नामजद आरोपितों पर घटना को अंजाम देना का अंदेशा है। इसके लिए बालक की मां तथ्य भी सामने रख रही है। उनका कहना है कि करीब एक महीने पहले गांव के मुन्ना झा के बहनोई के बाइक से गोतनी को ठोकर लगी थी। इलाज के लिए पंचायत हुआ। पंचायत में 23 हजार का मुन्ना झा का बहनोई देनदार बना। पंचायत के फैसले पर तय राशि देने के वक्त ही परिजन को देख लेने की धमकी दी गई थी। घटना की वजह इसी से जोड़ कर देखा जा रहा है। जबकि बालक की मां का कहना है कि इसके आलावा उसका और किसी अदावत नहीं है। पति भी बाहर रह कर मजदूरी का काम करते हैं।

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Pages