सहरसा: ओवरब्रिज की मांग को लेकर सहरसा बंद - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, June 25, 2019

सहरसा: ओवरब्रिज की मांग को लेकर सहरसा बंद

कोशी लाइव:VIKASH TANTI

शहर में लगातार बढ़ रही जाम की समस्या होने के बावजूद बंगाली बाजार में ओवरब्रिज नहीं बनने के खिलाफ मंगलवार को सहरसा बंद रहा। कोसी युवा संगठन के द्वारा आहूत सहरसा बंद का असर देखने को मिला। भीषण गर्मी व लू के बाद भी संगठन के सदस्य व सैकड़ों की संख्या में युवा सुबह नौ बजे से सड़क पर उतर आए।
कार्यकर्ताओं ने करीब ढाई दशक के लंबे इंतजार के बावजूद लोगों को जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए ओवरब्रिज नहीं बनने पर केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए। स्थानीय जन प्रतिनिधियों के खिलाफ भी ओवरब्रिज बनाने के नाम पर वोट लेकर बाद में समस्या भूल जाने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी की। बंद समर्थकों ने शंकर चौक, रिफ्यूजी कालोनी सहित अन्य चौक चौराहे पर सड़क जाम कर यातायात बाधित कर दिया।
बंद के दौरान महिलाओं, बच्चों, मरीजों, परीक्षार्थियों के आने जाने और आवश्यक सेवाओं को बंद से अलग रखा गया था।बंद समर्थक पैदल व बाइक से घूम घूम कर लोगों, व्यवसायियों व दुकानदारों से बंद को समर्थन देने की अपील कर रहे थे। ओवरब्रिज निर्माण की मांग को लेकर आयोजित बंद का जाम से परेशान लोगों ने भी समर्थन किया।
बंद कराने में अधिकतर युवा थे शामिल : बंद समर्थकों में काफी संख्या में युवा मौजूद थे। शहर से आसपास के गांवों से भी बड़ी संख्या में लोग बंद को सफल बनाने के लिए सक्रिय नजर आए। संगठन के द्वारा बीच-बीच में चौक चौराहे पर रुक-रुक कर जाम की समस्या से निपटने के लिए ओवरब्रिज निर्माण की आवश्यकता पर जोर दिया जा रहा था।
सहरसा बंद का नेतृत्व कर रहे कोसी युवा संगठन के संस्थापक सोहन झा ने कहा कि बिहार सरकार और केंद्र सरकार सहरसा ज़िला के विकास के प्रति भेदभाव कर रही है। पिछले 20 सालों से यहां के जनप्रतिनिधि और सरकार दोनों सहरसा की जनता को ठगने का काम किया है।
ओवरब्रिज निर्माण की मांग को लेकर सहरसा बंद को सफल बनाने में रमेश दास, रोहित, शाहवाज, राजा, मेजर शर्मा, बिट्टू कुमार, शिव शंकर राय, बंधु राय, गगन राय, दर्शन राय, रामानंद कुमार, राकेश कुमार, धीरेन्द्र कुमार, राजन रावत, दिलखुश पासवान, अंशु मिश्र, रंजेश झा, ईश्वर कात्यायन, गौरव मिश्र, बादल, रावत, किशोर शर्मा, चमन झा सहित अन्य मौजूद थे।
दुकानदार की पिटाई : सहरसा बंद के दौरान डीबी रोड स्थित मौजी साह दुकान के संचालक दिनेश साह की बंद समर्थकों ने जमकर पिटाई भी कर दी।
मांग पूरी नहीं होने पर अगली बार होगा अनिश्चितकालीन चक्का जाम :
कोसी युवा संगठन ने कहा कि हर बार चुनाव से पहले वादा किया जाता है और चुनाव के बाद उसे भुला दिया जाता है। लेकिन अब जनता बर्दाश्त नहीं करेगी। सरकार को सहरसा के प्रति अपना सोच बदलना होगा। उन्होंने कहा कि दुख की बात है कि बिहार सरकार पिछले 5 जून 2019 को राज्य में तीन नए रेलवे ओवरब्रिज का राज्यांश उपलब्ध करवाए लेकिन इसमें सहरसा का कोई जिक्र नहीं किया गया। उन्होंने कहा की सरकार के खिलाफ जन आंदोलन छेड़ने के सिवा और कोई विकल्प नहीं बचा है। ओवरब्रिज की समस्या का जल्द समाधान नहीं होने पर अगली बार से अनिश्चितकालीन समय के लिए चक्का जाम कर सरकार को निर्माण के लिए बाध्य किया जाएगा।

Total Pageviews