मधेपुरा: डायरिया का कहर, उल्टी और दस्त के बाद छह लोग अस्पताल में भर्ती - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, June 18, 2019

मधेपुरा: डायरिया का कहर, उल्टी और दस्त के बाद छह लोग अस्पताल में भर्ती

कोशी लाइव: प्रिंस कु राज

मधेपुरा में डायरिया की चपेट में आए लगभग छह मरीज सदर अस्पताल में भर्ती कराए गए हैं। अर्राहा के बीबी मनीषा को उल्टी और दस्त होने पर उसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। परिजनों ने बताया कि उसे रात से ही उल्टी और दस्त हो रहा है।
हालत में सुधार नहीं होने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जीवछपुर निवासी सीता देवी, तुरकाही शिवरानी कुमारी ने पुत्री संगीता कुमारी को उल्टी और दस्त होने पर भर्ती किया गया है। बनचोलहा गांव की मौसम कुमारी, शहर के वार्ड दो के मो चांद, शंकरपुर  लाही की कांगो देवी भी उल्टी और दस्त होने पर अस्पताल में भर्ती हुई। डॉ. यश शर्मा ने बताया कि भीषण गर्मी और खान पान में गड़बड़ी के चलते डायरिया के मरीज बढ़ रहे हैं। इसमें लोगों को धूप से बचकर रहने को कहा साथ पानी ज्यादा पीना चाहिए।

डॉक्टर से दिखाने को मरीज रहे परेशान
सदर अस्पताल मधेपुरा में मंगलवार को इलाज कराने आए मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। रविवार को ओपीडी बंद रहने और सोमवार को पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के साथ मारपीट के मामले को लेकर आईएमए के आह्वान पर डॉक्टरों की हड़ताल के कारण मंगलवार को मरीजों की भारी भीड़ रही।
डॉक्टर से दिखाने के लिए ओपीडी शुरू होने के पहले ही अस्पताल मेंे मरीजों की भीड़ लगने लगी। ओपीडी शुरू होते- होते मरीजों की पर्ची काउंटर और चिकित्सक कक्ष के बाहर लंबी कतार लग गयी। डॉक्टरों से दिखाने के लिए मरीजों को दो- से तीन घंटे तक कतार में खड़े रह कर इंतजार करना पड़ा। डॉक्टर से दिखाने के बाद दवा काउंटर पर भी मरीजों को भीड़ का सामना करना पड़ा। काफी मशक्कत के बाद मरीजों को काउंटर पर दवा मिल सकी।
मरीजों की परेशानी का एक बड़ा कारण यह है कि सदर अस्पताल में डॉक्टरों की भारी कमी है। ओपीडी के जेनरल वार्ड में डॉक्टरों की पर्याप्त संख्या में तैनाती नहीं हो पाती है। सीएस और डीएस का कहना है कि डॉक्टरों की कमी के संबंध में उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया है। डॉक्टरों की नियुक्ति होने के बाद ही इस समस्या का समाधान हो सकता है।  

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews