सुपौल:नशे में मदहोश चालक ने वहान को दुकान के शेड में गुसाया, बाल बाल बचे दुकानदार - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, June 17, 2019

सुपौल:नशे में मदहोश चालक ने वहान को दुकान के शेड में गुसाया, बाल बाल बचे दुकानदार

कोशी लाइव:

छातापुर। सुपौल। संतोष कुमार भगत/ पप्पू कुमार
छातापुर मुख्यालय बाजार के उत्तरी छोड़ स्थित बजरंग चौक के समीप के एक दुकान के शेड में एक वाहन चालक ने अपनी वाहन को दुकान के शेड के निमित दिये गये पिलर को तोड़कर उनके शेड पर चढ़ा दिया। इतना ही नही शेड पर से वापस वाहन मराजद एम टू तीन पलटी भी लगायी। यह नजारा देखकर जहां पीड़ित दुकानदार अचंभित थे। वही आसपास के लोग भी चालक के इस तरह के कार्य से आक्रोशित थे। घटना को लेकर सैकड़ों की संख्या में लोगों की भीड़ घटना स्थल पर जमा हो गयी। जानकारी अनुसार स्टेट हाइबे 91 पर छातापुर बाजार की तरह से जा रही तेज रफ्तार की मराजद एम टू सफेद कलर की जो कि बिना नंबर थी। उक्त वाहन सड़क के पूरब दिशा स्थित राम चन्द्र साह के दुकान में एक एक उनके पिलर को तोड़ते हुए शेड पर चढ़ गयी। यह नहर देखकर पीड़ित दुकानदार संमेत उनके अन्य परिवारिक जन भयाकुल हो गये। पीड़ित के दुकानदार के पीछे ही उनका आवास भी था। लेकिन संयोग बस शेड से वाहन टकरा जाने से सभी बाल बाल बच गये। उधर, घटना के बाद लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस वाहन के पास चौकीदार को नियुक्त कर छानबीन में जुट गयी है। प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो माराजद कार के ड्राइवर स्थानीय एक निजी अस्पताल के डॉक्टर है जो नशे में मदहोश होकर वाहन चला रहे थे। उनके साथ मे एक स्थानीय युवक भी थे जिनका नाम गोपाल कुमार बताया कि रहा है। लोगों ने यहां तक कहा कि घटना के वक्त जख्मी हालत में भी चालक जैसे तैसे घटना स्थल से भागने का फिराक कर भाग निकला । लोगों ने बताया कि चालक के नाधे में होने के कारण ही इतनी बड़ी दुर्घटना हुई है। लोगों ने कहा कि अगर दुकान के आगे पिलर नही होता तो पीड़ित दुकानदार के दुकान में वाहन को चालक घुसा देता जिससे काफी क्षति होती। उधर, जजतना स्थल पर पिलर के टुकड़े देलहकर शहद ही अंदाज लगाया जा सकता था कि कितनी तेज रफ्तार में चालक ने पिलर में टक्कर मारी होगी। लोगों ने इस घटना ले बाबत प्रशासन से कड़ी करवाई करने की मांग की है। लोगों ने बताया कि दुर्घटना को अंजाम देने वाले निजी अस्पताल के डॉक्टर केरल के बतायें जा रहे है। जो ओम प्रकाश यादव के मकान में संचालित है। घटना के बाद क्षतिग्रत वहान ले नक्शा ही बदल गया है। लोगों ने बताया कि देखने से लगता है कि दुर्घटनाग्रस्त वहां चार पांच दिन पहले ही खरीद की गयी थी।

Total Pageviews