मधेपुरा:मीटर रहने के बाद भी उपभोक्ताओं पर कराया केस - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Saturday, June 29, 2019

मधेपुरा:मीटर रहने के बाद भी उपभोक्ताओं पर कराया केस

कोशी लाइव:अक्की

प्रखंड क्षेत्र के जिरवा वार्ड दो से मीटर रहने के बाबजूद जेई के द्धारा जबरन केस दर्ज कराने का मामला प्रकाश में आया है।
इस बाबत पीडि़त जिरवा वार्ड दो निवासी अरूण कुमार सिंह ने कहा कि उनका कंज्यूमर नंवर 07058893 है। सरकारी नियमानुसार बिजली जला रहा था और बिजली बिल का भी भुगतान कर रहा था।

थोड़े दिन के लिए बिजली मीटर खराब हुआ था लेकिन ऑनलाईन करने के बाद पुन: बिजली मीटर लगा दिया गया था। कुछ लोगों ने साजिश के तहद् बिजली विभाग को गलत जानकारी देकर बताया कि उनके द्बारा बिजली चोरी किया जाता हैं। संजोग से जिस दिन बिजली कर्मी उनके घर पर आये थे। उस दिन पिताजी की तबियत काफी खराब हो गयी थी।
उनको लेकर हम सभी ईलाज कराने सिंहेश्वर चले गये। मौका का फायदा उठाकर बिजली कर्मी लाईमैैैन अमर कुमार, राहुल कुमार, सिंटू कुमार और प्रकाश पासवान सभी घर पर रात करीब नौ बजे आये और घर की महिलाओं को कहने लगा कि आपलोग चोरी से बिजली जलाते हैं।
उनलोगों घर घुसकर मीटर लगे स्थान से मीटर को काटकर निकाल लिया और फर्जी वीडियो बना लिया और जाने लगा। उससे महिलाओं ने कहा आप जबरदस्ती मेरा मीटर क्यों काटा।
बिजली कर्मी ने कहा कि हम काटेगें तो क्या कर लेगीं। पचास हजार रूपया देगीं तो केस दर्ज नहीं करवाऐगें। नहीं देने पर केस दर्ज कर देगें। महिला उसे रोकते रही और वे लोग निकल गये। उसके बाद घर के सदस्य मिथिलेश कुमार सिंह ने मोवाईल नंवर 7672924309 से बिजली कर्मी राहुल कुमार के नंवर पर फोन किया तो कहा कि जेई को पचास हजार रुपये दो और हमलोग को दस दस हजार रुपये दो तो केस दर्ज नहीं होगा। नहीं देने पर केस दर्ज कर देगें। रुपये नहीं मिलने पर शंकरपुर थाना में केस दर्ज करवा दिया गया।
मामला दर्ज होने के बाद गांव में आक्रोश व्याप्त है। महिला ने विभागीय जेई और कर्मी का विरोध किया। इस बाबत जेई रवि कुमार रौशन ने बताया कि ऐसी कोई बात नहीं है। हमने पीडि़त को कहा कि आपसे जिसने रुपया मांगा उसके विरूद्ध आवेदन लेकर आइए और हम उनके ऊपर कारवाई करेंगे।



खाताधारकों को कैश के लिए परेशानी उठानी पड़ रही

खुरहान के भारतीय स्टेट बैंक शाखा में कैश रिटेंशन लिमिट काफी कम रहने से प्रतिदिन खाताधारकों को कैश के लिए परेशानी उठानी पड़ रही है।
प्रतिदिन 15 से 20 प्रतिशत निकासी के लिए पहुंचे खाताधारकों को निकासी न होने से वापस घर लौटना पड़ रहा है। बसनवाड़ा के धर्मवीर साह, मुरौत के जयकृष्ण कुमार, तेलियारी के ललन सिंह, खंतरबासा के विनोद सादा आदि ने बताया कि अक्सर बैंक में कैश न रहने के कारण वापस होना पड़ता है। जिससे कई आवश्यक कार्य समय पर नहीं होने से कई प्रकार की परेशानी हो रही है।
इनमें कई खाताधारकों के घर शादी व श्राद्ध होने से वे लोग निकासी करने पहुंचे, बावजूद बैंक में रुपये की कमी रहने से वापस होना पड़ा।
इस बाबत शाखा प्रबंधक श्यामसुंदर चौधरी ने बताया कि बैंक में करीब 32 हजार खाताधारक होने के बावजूद कैश रिटेंशन लिमिट केवल दस लाख है। जिससे सभी ग्राहकों को संतुष्ट करना संभव नहीं हो रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि कभी-कभी रुपए की कमी होने पर उदाकिशुनगंज के चेस्ट ब्रांच से भी परेशानी बता कर रुपया नहीं भेजी जाती है। इस कारण भी खाताधारकों को निकासी नहीं हो पाती है। मधेपुरा क्षेत्रीय व्यवसाय कार्यालय के क्षेत्रीय प्रबंधक आनंद कुमार मिश्रा ने बताया कि रिटेंशन लिमिट के संदर्भ में शाखा प्रबंधक से जानकारी लेकर समस्या को दूर की जाएगी।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews