सहरसा:मिसेज इंडिया व‌र्ल्ड वाइड फाइनल में पहुंची महिषी की ज्योत्सना झा - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

नई सोच नई खबर

Breaking

तिवारी एजेंसी(सहरसा)

तिवारी एजेंसी(सहरसा)
छड़,सीमेंट,गिट्टी,बालू एवं हार्डवेयर की सामान के लिए संपर्क करें।

THE JABED HABIB

THE JABED HABIB
BEST HAIR AND MAKEUP SLOON

Translate

Wednesday, 8 May 2019

सहरसा:मिसेज इंडिया व‌र्ल्ड वाइड फाइनल में पहुंची महिषी की ज्योत्सना झा

कोशी लाइव: बंश राज

सहरसा। देश और समाज की सेवा उन्हें अपने पारिवारिक पृष्टभूमि से मिली है। इसलिए उन्होंने भी अपने जीवन का लक्ष्य राष्ट्र सेवा और समाज सेवा बना रखा है। यह कहना है ग्रीस में आयोजित होने वाले मिसेज इंडिया व‌र्ल्ड वाईड प्रतियोगिता के फाइनल में जगह बनाने वाली महिषी की बेटी ज्योत्सना झा का। नारी शक्ति के लिए विश्व स्तर पर प्रेरणा बन चुकी ज्योत्सना के विश्व स्तरीय प्रतियोगिता में चयन से महिषी के ग्रामीणों एवं उनके परिवार में हर्ष का माहौल है।बुधवार को अपने घर पहुंची ज्योत्सना ने बताया कि महिलाओं के जीवन में मायके और ससुराल दो अलग परिवारों के मान मर्यादा और सम्मान की जिम्मेवारी होती है। इसके अतिरिक्त अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा और संस्कार देने जैसे महत्वपूर्ण कार्य की जिम्मेवारी भी महिलाओं के कन्धे पर होती है। परिवार और समाज के लोगों को चाहिए कि वो अपनी बच्चियों को बेहतर शिक्षा दें। महिलाओं की जिन्दगी शादी के बाद खत्म नहीं होती अगर वो पढी-लिखी हैं तो उसे आगे बढने दिया जाए। महिलाओं को संदेश देते हुए कहा कि महिलाएं अपने आत्म विश्वास को बनाए रखें और सकारात्मक भाव से प्रयास करते रहने से एक दिन मंजिल अवश्य मिलेगी।उनके इस सफलता पर उनकी माता श्यामा देवी एवं पिता अभय चन्द्र झा, बड़ी बहन ज्योती झा ने खुशी व्यक्त करते हुए बताया कि अपनी बेटी की इस सफलता को वो महिषी की धरती के एतिहासिक पुरूष पं.मंडन मिश्र और माता उग्रतारा की कृपा मानते हैं। बेटी को अच्छी से अच्छी शिक्षा मिल सके इसके लिए वो सदा प्रयासरत रहे। अपने चाचा पूर्व एडीएम स्व. भागीरथ झा ,भाई मेजर लेफ्टिनेंट सुशील झा सहित नाना बनगांव निवासी स्व.डिप्टी रामनारायण खां और पूर्व मंत्री स्व रमेश झा की भांजी होने के नाते देश सेवा और समाज सेवा की ओर उनका झुकाव बचपन से ही रहा है। मुंबई से बी कम करने के उपरांत चार्टस एकांउट की पढाई करने वाली ज्योत्सना के जीवन में शादी के बाद एक समय ऐसा भी आया जब डाक्टरों के प्रयास से उनका जीवन बचाया तो जा सका परन्तु डाक्टरों ने कह दिया कि वो मां नहीं बन सकती लेकिन अपने आत्मविश्वास के कारण ही आज पांच साल के पुत्र सम्मान कुमार की देखभाल करते हुए इस मुकाम तक पहुंच सकी हैं।

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Connect With us

Pages