सुपौल:बाइक की टक्कर से घायल वृद्धा की इलाज के दौरान मौत, परिजनों में गुस्सा - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, May 21, 2019

सुपौल:बाइक की टक्कर से घायल वृद्धा की इलाज के दौरान मौत, परिजनों में गुस्सा

कोशी लाइव:

छातापुर।सुपौल।संतोष कुमार भगत
मोहम्मदगंज पंचायत के वार्ड 2 स्थित 68 आरडी  मुरलीगंज वाली नहर की सड़क पर शनिवार की शाम  हुई सड़क दुर्घटना में एक वृद्धा गंभीर रूप से घायल हो गयी। जिसको परिजनों द्वारा इलाज के लिये मधेपुरा ले जाया जा रहा था। लेकिन इस दौरान रास्ते मे ही वृद्धा की मौत हो गयी। घटना को लेकर मृतक के परिजनों ने रविबार को सुबह 9 बजे से घटना स्थल पर जुटकर प्रदर्शन करने लगें। इस दौरान गुस्साएं लोगों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी किया। मृतका घीवहा पंचायत के वार्ड 2 निवासी सजवा देवी(55) थी। जो कि नित्य की तरह अपने खेत मे लगे फसल को देखकर घर लौट रही थी। इसी दौरान नहर के समीप एक बाइक चालक ने उन्हें पीछे से जबरदस्त टक्कर मारकर भाग गया। मृतका के परिजनों ने बताया कि खेत से संबंधित कार्य को सजवा देवी ही देखती थी। इसके साथ ही कुछ बकरी भी वह पाल रखी थी। जिसको लेकर दिनभर खेत के अगल बगल वह नित्य सुबह से शाम तक रहती थी।  इस दौरान उनके घर के अन्य सदस्य भी रहते थे। मृतक के बड़े पुत्र जय कांत मंडल ने बताया कि शनिवार को उनकी माँ खाना खाने के बाद बकरी को लेकर खेत पर चले गयी थी। खेत के काम निपटाकर वह घर जा रही थी इस दौरान चुन्नी मार्ग से आने वाले एक बाइक चालक ने उन्हें जबरदस्त ठोकर मार दिया। जिसके कारण उनकी माँ सड़क से काफी दूर जा गिरी। उनके मां के काफी चिल्लाने पर भी बेदर्द बाइक चालक ने वाहन नही रोका और भागने लगे। लेकिन घटना को करीब से देखने वाले गांव के ही एक 10 साल के बालक ने बाइक चालक को आगे से घेर लिया। उनके आगे आने पर बाइक चालक ने बाइक को रोककर महिला के घायल होने की बात बच्चे से की। बच्चे ने जब उन्हें इलाज करवाने की बात कहकर उनकी चाभी छिनने लगे तो बाइक चालक ने उन्हें भी बाइक से घायल कर देने की धमकी दे डाली। जिसके बाद बालक डर गया उन्होंने बाइक चालक के जाने के बाद शोर शराबा किया। जिसके बाद बड़ी संख्या में पहुंचे लोगों ने महिला को इलाज के लिए पीएचसी में भर्ती कराया। जहां से इलाज के बाद उनकी नाजुक स्थिति को देखकर डॉक्टर ने उन्हें बाहर के लिये रेफर कर दिया।परिजनों द्वारा घायल वृद्धा को इलाज के लिये मधेपुरा ले जाया जा रहा था। लेकिन रास्ते मे ही उनकी मौत हो गयी। परिजनों द्वारा शव लेकर वापस रविबार की अहले सुबह गांव पहुंचने पर गांव के लोग आक्रोशित हो गये। सभी एकजुट होकर घटना के विरोध में सड़क पर उतरकर पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया। घटना की सूचना पर छातापुर थाना पुलिस घटना स्थल पर पहुंचकर लोगों को शांत करवाया। पुलिस ने परिजनों को उचित कार्रवाई का आश्वाशन दिया। जिसके बाद लोग शांत हुये और शव को पोस्टमार्टम के लिये ले जाने दिये। पुलिस द्वारा शव को एक बजे कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये सदर अस्पताल भेजा गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि घटना को लेकर मृतका के पति सामी मंडल के लिखिति आवेदन पर केस दर्ज कर पुलिस छानबीन में जुट गयी है। उधर, घटना के बाद मृतका के घर कोहराम मच गया है। बड़े बेटे जय कांत समेत अन्य परिजनों का रोरोकर बुरा हाल था। छोटे बेटे राजीव कुमार जो कि विकलांग है अपनी माँ की मौत की खबर सुनकर हताश थे। लोगों का कहना था कि मृतका अपने दोनों बेटे समेत सभी परिजनों से बहुत प्यार करती थी। खेती से जुड़े सभी काम मृतका अपने सर पर ही ले रखी थी। सड़क दुर्घटना में हुई उनकी मौत से टोला बीके लोग भी मर्माहत थे। इधर, घटना के प्रत्यक्षदर्शी बालक ने बताया कि उन्होंने दुर्घटना को अंजाम देने वाले बाइक सवार को पकड़ने का बहूत प्रयास किया लेकिन उन्हें भी बाइक से चिप कर घायल कर देने की बात कहकर बाइक चालक उन्हें धक्का देकर निकल गये। बालक ने खोलें कई राज बालक ने बताया कि बाइक चलाक लाल रंग की बाइक पर थे। जिसपे दो युवक सवार थे। उन्होंने बताया कि बाईक चालक का कुछ सामान भी घटना स्थल पर गिर गया था। जिसे उन्होंने ग्रामीणों के हवाले किया है
 उससे भी बाइक चालक का पता लग सकता है। उन्होंने कहा कि अगर बाइक चालक घायल वृद्धा बको घटना के बाद तत्क्षण उठाकर इलाज के लिये ले जाते तो उनकी मौत नही होती लेकिन बाइक चालक उन्हें करहाते छोड़कर भाग गया।

Total Pageviews