सहरसा:अब युवाओं को नेता नहीं, सेवक चाहिए : पप्पू यादव - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Wednesday, April 17, 2019

सहरसा:अब युवाओं को नेता नहीं, सेवक चाहिए : पप्पू यादव

कोशी लाइव:विकास तांती

सहरसा। जन अधिकार पार्टी (लो) के उम्मीदवार सह निवर्तमान सांसद पप्पू यादव ने बुधवार को कहा कि मधेपुरा लोकसभा क्षेत्र के युवाओं को नेता नहीं, उनके साथ खड़ा होने वाला सेवक चाहिए। पप्?पू यादव आज अपने जनसंपर्क अभियान के दौरान चौसा प्रखंड स्थित पॉलिटेकनिक मधेपुरा पहुंचे, जहां छात्रों ने उनका जोरदार स्?वागत किया। उन्होंने कहा कि सरकार युवाओं को नौकरी का वादा कर पकौड़े बेचने को कहती है। लेकिन हम हमेशा से युवाओं के लिए लड़ाई लड़ते आए हैं। चाहे वो एसएससी का सवाल हो, सीसैट का सवाल हो, 13 प्वाइंट रोस्टर का सवाल हो, मैट्रिक -इंटर रिजल्ट हो, दारोगा परीक्षा में धांधली का मामला हो या छात्रों से जुड़ा अन्य कोई मुद्दा हो। आज भी युवाओं को रोजगार से जोड़ना मेरी प्राथमिकता है।
महागठबंधन के सवाल पर पप्पू यादव ने कि आज देश बचाने की लड़ाई है, जिसकी लड़ाई महागठबंधन लड़ रही है। लेकिन महागठबंधन के ही कुछ लोग इस लड़ाई को कमजोर कर रहे हैं। सुपौल में महागठबंधन की उम्मीदवार रंजीत रंजन के खिलाफ ही स्वयंभू लोग आग उगलवा रहे हैं। शिवहर में रामा सिंह को टिकट नहीं दिया। बेगूसराय में गिरिराज सिंह को चुनौती देने कन्हैया वाले कन्हैया को कमजोर करने के लिए अपना उम्मीदवार खड़ा कर दिया। बहन के लिए वाम दलों गठबंधन कर लिया और सिवान में हीना शाहाब के लिए गठबंधन नहीं किया। ये सब दर्शाता है कि कौन भाजपा को जिताने में लगा है।
पप्पू यादव ने मधेपुरा की लड़ाई को न्याय और सेवा के लिए बताया। उन्होंने कहा कि किसी गरीब को मदद की जरूरत हो, तो उसकी मदद कौन करेगा? जब किसी के अपनों को अस्पताल में बंधक बना लिया जाय, तो उसके साथ कौन खड़ा होगा? लोगों को न्?याय कौन दिलाएगा? युवाओं और छात्रों की मदद कौन करेगा ? ये मधेपुरा की जनता समझती है। उन्?होंने कहा कि 2014 के मोदी तूफान में भी मधेपुरा लोकसभा की तमाम जनता ने हमें जाति-धर्म से उपर उठकर चुना था, इस बार भी चुनेगी। क्?योंकि हम सबको साथ लेकर चलने में विश्?वास रखते हैं। पप्?पू यादव ने कहा कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मधेपुरा में आकर कह दिया कि पप्?पू यादव ने बहुत काम किया। रेली मंत्री ने भी मेरे कार्यों की सराहना की। हमने यहां 11 महत्?वपूर्ण ट्रेनों का परिचालन शुरू कराया, जिससे दिल्?ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों में जाने के लिए आवगमन की सुविधा आसान हो गई। अब गरीब आदमी महज 300 रूपए में दिल्?ली जा पायेंगे। ये मधेपुरा और सहरसा की जनता समझती है। इसलिए इस बार लोग यहां फिर से नेता नहीं सेवक को चुनेंगे। दूसरी ओर सहरसा के विभिन्न गांवों में जाप के शशि यादव, समीर पाठक, शैलेंद्र शेखर आदि ने जनसंपर्क किया।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews