सहरसा : बेमौसम की हल्की बारिश ने खोली नगर परिषद की पोल-पट्टी - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, April 26, 2019

सहरसा : बेमौसम की हल्की बारिश ने खोली नगर परिषद की पोल-पट्टी

कोशी लाइव:विकास तांती

कोशी लाइव : बेमौसम की हुई बारिश ने सहरसा के आम लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। सहरसा जिला मुख्यालय का कोई भी ऐसा मुहल्ला नहीं है, जहाँ बारिश की वजह से जल-जमाव नहीं हो। एक तरह से कहें तो बाढ़ का मंजर है। सहरसा जिला मुख्यालय में 40 वार्ड हैं। लेकिन नगर परिषद की अकर्मण्यता और लापरवाही के साथ-साथ लूट की प्रवृति की वजह से सहरसा के लोग बेवजह की आफत को झेलने के लिए विवश हैं। नगर परिषद, पूरी तरह से नरक परिषद में तब्दील है। नगर परिषद कार्यपालक पदाधिकारी प्रभात रंजन ने कुछ माह पूर्व ही कार्यभार संभाला है। अपने आवास से नगर परिषद आने के अलावे, बेचारे अभी कुछ मुहल्ले ही देख पाए हैं। उनसे त्वरित गति से किसी तरह के समाधान की उम्मीद बेमानी है।नगर परिषद की चैयरमैन रेणु सिन्हा हैं,जो वर्तमान लोकसभा चुनाव में मधेपुरा एनडीए से जदयू के प्रत्यासी दिनेश चंद्र यादव की पत्नी हैं। बीते दो दशक से नगर परिषद पर अप्रत्यक्ष रूप से दिनेश चंद्र यादव का कब्जा है। सहरसा विगत कई वर्षों से जल जमाव की समस्या से त्राहिमाम कर रहा है लेकिन इस समस्या से निजात पाने के लिए कोई भी कदम आजतक नहीं उठाए गए हैं। नगर परिषद में योजना के नाम पर लूट मची हुई है और विकास कहीं गुम हो गया है। 


अभी जिला मुख्यालय के गौतमनगर, कोसी चौक, विद्यापतिनगर, मीर टोला, अली नगर, रिफ्यूजी कॉलोनी, कायस्थ टोला, प्रताप नगर, संत नगर, भवानी नगर, नया बाजार, सराही, बटराहा, गंगजला, कबीर चौक, राधानगर सहित कई मुहल्लों में बारिश का पानी लगा हुआ है।वैसे तो हर उम्र के लोग और महिलाएं परेशान हैं लेकिन सबसे अधिक मुश्किल स्कूल जाने वाले बच्चे और बच्चियों को है। वे पानी के बीच से गुजर कर स्कूल जाने को विवश हैं। सूबे के मुखिया नीतीश कुमार को बिहार में असली विकास देखना हो तो, वे सहरसा जो कि कोसी प्रमंडल का मुख्यालय भी हैं, उसे देखें। उन्हें पता चल जाएगा कि उनके विकास के दावों को उनके ही प्रशासन और सम्बद्ध विभाग के अधिकारी और कर्मी किस तरह से पलीता लगा रहे हैं। बेमौसम की बारिश में जब सहरसा में बाढ़ आ गयी है, तो बरसात में यहाँ का मंजर कैसा होगा, इसका सहज अंदाजा लगाया जा सकता है।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews