सहरसा: देश के प्रसिद्ध शक्ति स्थल विराटपुर चंडी स्थान में चोरी की घटना को लेकर SIT टीम की गठन - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, March 19, 2019

सहरसा: देश के प्रसिद्ध शक्ति स्थल विराटपुर चंडी स्थान में चोरी की घटना को लेकर SIT टीम की गठन

कोशी लाइव: विकास तांती

सहरसा : आठ मार्च को देश के प्रसिद्ध शक्ति स्थल विराटपुर चंडी स्थान में चोरी की घटना को लेकर आधा दर्जन पुलिस अधिकारियों की एसआईटी गठित की गयी है। यह टीम इस मामले की जांच कर रही है। वहीं मूर्ति चोरी के मामलों की फाइल एसआईटी खंगाल रही है। इलाके में सक्रिय चोरों के गिरोह पर भी एसआईटी पैनी नजर रख रही है।
जानकारी अनुसार सिमरी बख्तियारपुर एसडीपीओ के नेतृत्व में एक इंसपेक्टर व पांच एसआई की टीम गठित की गयी है। इसमें कई थानाध्यक्ष को भी शामिल किया गया है। बताया जा रहा है कि चोरी की इस घटना को लेकर पर्यटन व पुरातत्व विभाग ने डीजीपी को पत्र लिखा है। मूृर्ति बरामदगी को लेकर स्थानीय पुलिस अधिकारी भरसक प्रयास कर रहे हैं।
सिद्धपीठ में शामिल है मां चंडिका स्थान : भारत के प्रसिद्ध 51 सिद्वपीठ में विराटपुर स्थित मां चंडिका स्थान भी शामिल है। इस मंदिर में स्थापित मां छिन्नमस्तिका की प्रतिमा पालकालीन युग की मानी जाती है। जिसका निर्माण राजा विराट द्वारा कराया गया था। विशाल मंदिर की ऊंचाई 52 हाथ है। लगभग 20 हाथ की ऊंचाई पर मंदिर की चारों और आठ स्तुप बने हुए हैं जो नवदुर्गा का प्रतीक है।
तंत्र शास्त्र के अनुसार माता सती की आंखें महिषी की आदि शक्ति के रूप में, हाथ धमारा स्थित मां कात्यायिनी के रूप मे तथा गर्दन से नीचे का भाग विराटपुर की मां चंडी के रूप में विराजमान है। मंदिर स्थित मां चण्डी की प्रतिमा के बगल मे एक छोटा कुंड है जिसमें कितना भी जल चढ़ाया जाय उसका जल स्तर एक समान बना रहता है। जल कुंड के संबंध में कहा जाता है कि यहां मां छिन्नमस्तिका को चढ़ाया गया जल गुप्त मार्ग से महिषी की मां तारा तथा धमारा की मां कत्यायिनी तक पहुंचती है।
पांडवों ने की थी पूजा : कहा जाता है कि अज्ञातवास के दौरान पांडव यहां रूके थे और मां की पूजा-अर्चना की थी। इस स्थान के प्रति कोसी, सीमांचल ही नहीं बंगाल व नेपाल के लोगों में भी आस्था है। लेकिन चोरों द्वारा मंदिर से मूर्ति की चोरी के बाद लोग हतप्रभ हैं। लोग मां की प्रतिमा बरामद कराने की मांग कर रहे हैं।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews