holika dahan 2019: इस मुहूर्त में होलिका दहन होगा शुभ, ये हैं होलिका पूजन का तरीका - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, March 19, 2019

holika dahan 2019: इस मुहूर्त में होलिका दहन होगा शुभ, ये हैं होलिका पूजन का तरीका

कोशी लाइव:अक्की

होलिका दहन बुधवार को होगा। इस बार भद्रा खत्म होने के बाद होलिका दहन होगा। रात 9:27 बजे से शुभ मुहूर्त शुरू होगा। वैसे दहन 11:59 बजे तक किया जा सकता है। उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र दूसरे दिन रहेगा। भद्रा समाप्त होने से शुभ योग में होलिका दहन होगा।
पं. ब्रह्मदत्त शुक्ला का कहना है कि भद्रा रात 9:00 बजे के पहले ही समाप्त हो जाएगी। फिर होलिका दहन का शुभ मुहूर्त होगा। ज्योतिषाचार्य दीपक पाण्डेय का कहना है कि पूर्णिमा 10 बजकर 45 मिनट पर खत्म होगी। यह 21 मार्च तक रहेगी। भद्रा 10 बजकर 45 मिनट से शुरू होकर शाम 8 बजकर 59 मिनट पर समाप्त होगी। उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र शाम 4 बजकर 17 मिनट से शुरू होकर 21 मार्च तक रहेगा। होलिका दहन को शुभ मुहूर्त रात 9:27 बजे से रात 10:09 बजे तक रहेगा।  ज्योतिषाचार्य मनोज कुमार अवस्थी का कहना है कि होलिका दहन का समय 20 मार्च को वैसे रात 09 बजकर 01 मिनट के बाद रहेगा। पूर्णिमा तिथि का आरंभ 20 मार्च को सुबह 10 बजकर 45 मिनट पर होगा। पूर्णिमा तिथि अगले दिन गुरुवार को 7 बजकर 13 मिनट तक रहेगी।

ऐसे करें पूजन 
पूजा सामग्री के साथ होलिका के पास गोबर से बनी ढाल भी रखी जाती है। होलिका दहन के शुभ मुहूर्त के बल्ले (गोबर की बनी) की मालाएं अलग से रख ली जाती हैं। एक माला पितरों के नाम की, दूसरी श्री हनुमान जी के लिए, तीसरी शीतला माता, और चौथी घर परिवार के नाम की रखी जाती है। पूरी श्रद्धा से होली के चारों और परिक्रमा करते हुए कच्चे सूत के धागे को लपेटा जाता है। होलिका की परिक्रमा तीन या सात बार की जाती है। शुद्ध जल सहित अन्य पूजा सामग्रियों को एक-एक कर होलिका को अर्पित किया जाता है। 

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews